Gracy Singh: बॉलीवुड (Bollywood) एक ऐसी जगह है जहां जाना तो आसान है, लेकिन उस जगह पर टिके रहना और लाइमलाइट में बने रहना बहुत मुश्क़िल है. रोज़ लाखों लोग हीरो या हिरोइन बनने के सपने के साथ यहां आते हैं और अपनी क़िस्मत आज़माते हैं. कुछ तो सफ़लता के स्वाद चखते हैं और कुछ असफल होकर वापस चले जाते हैं. मगर इनमें से कुछ ऐसे होते हैं, जो सक्सेज़ का स्वाद चखने के बाद कहीं ग़ायब हो जाते हैं. ऐसे ही कितने एक्टर और एक्ट्रेस हैं, जो नाम और फ़ेम कमाने के बाद पता नहीं कहां चले गए. उनके ग़यब होने की वजह उन्हें काम न मिलना थी, इसी लिस्ट में एक हैं एक्ट्रेस ग्रेसी सिंह (Gracy Singh), जिन्होंने अपना डेब्यू आमिर ख़ान की फ़िल्म सुपरहिट 'लगान' (Lagaan) से किया था. फ़िल्म में ग्रेसी सिंह के किरदार को भी ख़ूब सराहना मिली थी. फ़िल्म का गाना 'राधा कैसे न जले' भी फ़ेमस हुआ और ग्रेसी सिंह का डांस भी.

(Gracy Singh)

ये भी पढ़ें: छोटी सी उम्र में 'गंगूबाई' बन लोगों को हंसाने वाली सलोनी दैनी अब कहां है और क्या कर रही हैं?

लगान के बाद ग्रेसी संजय दत्त की फ़िल्म मुन्ना भाई एमबीबीएस और गंगाजल में नज़र आईं, लेकिन इसके बाद ग्रेसी सिंह (Gracy Singh) धीरे-धीरे फ़िल्मों से ग़ायब हो गईं. हालांकि, ग्रेसी ने कई फ़िल्मों में काम किया, लेकिन बात नहीं जमीं. फिर ग्रेसी ने टीवी का रुख़ किया और संतोषी मां सीरियल में माता संतोषी के रोल में नज़र आईं. टीवी पर ग्रेसी साल 2020 में नज़र आई थीं, तब से लेकर अब तक वो फ़िल्मों और टीवी से पूरी तरह से दूर हो चुकी हैं. टीवी और फ़िल्मों से दूर रह रहीं ग्रेसी अब क्या कर रही हैं फटाफट जान लो?

Gracy Singh
Source: customercarelife

डॉक्टर या इंजीनियर नहीं एक्ट्रेस बनने की ठानी

ग्रेसी का जन्म 20 जुलाई 1980 को दिल्ली में हुआ था. ग्रेसी के परिवरावाले चाहते थे कि वो डॉक्टर या इंजीनियर बनें, लेकिन उनकी क़िस्मत और उनको कुछ और मंज़ूर था. इसलिए पढ़ाई पूरी करने के बाद ग्रेसी ने मॉडल बनने की ठानी और 1997 में टीवी सीरियल अमानत से छोटे पर दस्तक दी. इसमें ग्रेसी के किरदार और अभिनय दोनों को ख़ूब पसंद किया गया. सीरियल करते हुए ग्रेसी ने कई छोटी-बड़ी फ़िल्मों में काम करना शुरू कर दिया. फिर 2001 में ग्रेसी को लगान मिली और वो रातों-रात स्टार बन गईं. इसके बाद 2003 में अजय देवगन की फ़िल्म गंगाजल में अजय की पत्नी के किरदार में नज़र आईं. ग्रेसी ने मुन्ना भाई एम एम बी बी एस में भी संजय दत्त के अपोज़िट काम किया. बस इसके बाद इन्हें बड़ी फ़िल्में मिलना होती चली गईं. 

Gracy Singh
Source: twimg

'काम कर सकती हूं चापलूसी नहीं'

इसके पीछे की वजह कहीं न कहीं वो दौर था, जब ग्रेसी के साथ-साथ और भी कई एक्ट्रेस बॉलीवुड में क़दम रख चुकी थीं, जिनमें रानी मुखर्जी, प्रीटि ज़िंटा और ऐश्वर्या राय शामिल हैं. इन एक्ट्रेसेस की डिमांड धीरे-धीरे बढ़ने लगी और ग्रेसी की डिमांड कम हो गई. तब काम न मिलने की वजह से ग्रेसी ने हर काम को हां बोला, यहां तक उन्होंने कमाल आर ख़ान (KKR) की फ़िल्म ‘द्रेशद्रोही’ में भी काम करने से इंकान नहीं किया.

ग्रेसी ने अपने काम न मिलने की वजह अपने एक इंटरव्यू के दौरान बताई थी, उन्होंने कहा था,

मैं मेहनत करना जानती हूं, लेकिन लोगों को चापलूसी करना मेरे बस की बात नहीं है. फ़िल्म इंडस्ट्री में होने वाली खेमबाजी मुझे समझ नहीं आती है. मैं रोल पाने के लिए प्रोड्यूसर की पार्टी में जाना और उनके पास जाना ये सब नहीं कर सकती. इस वजह से मुझे कभी पता ही नहीं चला कि मुझे कब काम मिलना बंद हो गया.

                    - ग्रेसी सिंह

ये भी पढ़ें: दिनेश हिंगू: वो कॉमेडियन जिसकी हंसी देखकर फ़ैन्स हो जाते थे लोट-पोट, जानिए कहां हैं वो आजकल? 

अध्यात्म से रहीं जुड़ीं

बचपन से ग्रेसी अध्यात्म से जुड़ी रही हैं. बॉलीवुड में अपने करियर को ख़त्म होता देख वो ब्रह्माकुमारी की शरण में तली गईं. एक बेहतरीन भरतनाट्यम डांसर होने के चलते वो अक्सर ब्रह्माकुमारी से जुड़े कार्यक्रमों में परफ़ॉर्म भी करती हैं. और हर साल यहां जाती हैं.

अध्यात्म से जुड़ने के बाद, ग्रेसी ने शादी न करने का फ़ैसला लिया और वो अभी भी सिंगल रहती हैं. अब ग्रेसी 40 साल की हो चुकी हैं और अपनी कंपनी ख़ूब इंजॉय करती हैं.

 ग्रेसी अपने फ़ैंस के लिए सोशल मीडिया पर एक्टिव रहती हैं. इन्होंने अपना आख़िरी पोस्ट 2 जनवरी को किया था.