फ़िल्म मेकर अनुराग कश्यप यौन शोषण के मामले में अपना बयान दर्ज कराने के लिए गुरुवार को मुंबई के वर्सोवा पुलिस स्टेशन पहुंचे हैं. 30 वर्षीय अभिनेत्री पायल घोष ने उनके ख़िलाफ़ 22 सितंबर को दुष्कर्म के आरोप में आपराधिक मामला दर्ज कराया था. 

पायल मंगलवार को आरपीआई नेता और केंद्रीय मंत्री, रामदास आठवले के साथ महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से भी मिली थीं. एक्ट्रेस ने राज्यपाल से न्याय की गुहार लगाई थी. 

गौरतलब है कि अपनी पुलिस शिकायत में पायल ने आरोप लगाया है कि कश्यप ने 2013 में उसके साथ बलात्कार किया था. हालांकि, कश्यप ने आरोपों को खारिज करते हुए इन्हें 'आधारहीन' करार दिया था.

Source: thequint

बता दें, 20 सितंबर को एक्ट्रेस ने कश्यप पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था. पुलिस को दी अपनी शिकायत में पायल ने कहा कि अगस्त 2013 में अनुराग ने मुंबई के यारी रोड इलाके में स्थित अपने फ़्लैट में काम के सिलसिले में बातचीत करने के लिए बुलाया और उनके साथ दुष्कर्म किया. पायल ने आरोप लगाया कि कश्यप ने कथित तौर पर उसे एक सोफ़े में धकेल दिया और उसके मुंह पर अपना हाथ रख दिया ताकि वो मदद के लिए चिल्ला न सके और उसका यौन शोषण किया.

पुलिस ने एफ़आईआर में कश्यप के ख़िलाफ़ दुष्कर्म, गलत बर्ताव, ग़लत इरादे से रोकना और महिला का अपमान करने पर आईपीसी की धारा 376 (1), 354, 341, 342 सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. बता दें, एफ़आईआर दर्ज होने के बावजूद कार्रवाई में देरी होने पर पायल घोष ने धरने पर बैठने की धमकी भी दी थी.