बॉलीवुड स्टार्स को फ़ैंस बेहद पसंद करते हैं. भारत में इन स्टार्स की लोकप्रियता इस कदर है कि फ़ैंस इनके लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं. बॉलीवुड स्टार्स की कही हर एक बात सीधे फ़ैंस के दिल पर जाकर लगती है. देश की बड़ी-बड़ी कंपनियां इसी बात का फ़ायदा उठाकर अपने विज्ञापनों में इन स्टार्स को लेते हैं. आपने सलमान ख़ान से लेकर ऐश्वर्या राय समेत कई बॉलीवुड स्टार्स को विज्ञापनों में देखा होगा.  

ये भी पढ़ें- 'गब्बर की असली पसंद' 45 साल पुराना बिस्किट का ये विज्ञापन, सोशल मीडिया में तहलका मचा रहा है

बॉलीवुड स्टार्स विज्ञापन आज से नहीं, बल्कि आज़ादी से पहले से ही करते आ रहे हैं. आज के दौर में आप जिस 'LUX' साबुन के विज्ञापन में ऐश्वर्या राय या फिर करीना कपूर को देखते हैं. जानते हो उस 'लक्स' साबुन के विज्ञापन में सबसे पहले कौन सी बॉलीवुड अभिनेत्री नज़र आयी थीं?

हम बात कर रहे हैं 50, 60 और 70 के दशक की मशहूर अदाकारा लीला चिटनिस की. लीला ने ही सबसे पहले सन 1941 मे 'LUX' साबुन के विज्ञापन में काम किया था. ये एक प्रिंट विज्ञापन था. इस विज्ञापन की वजह से ही 'लक्स साबुन' भारत में काफ़ी मशहूर हुआ था.

कौन थीं लीला चिटनिस? 

लीला चिटनिस आज की मशहूर अभिनेत्री काजोल की परनानी हैं. उन्हें महाराष्ट्र की पहली ग्रेजुएट सोसायटी लेडी भी कहा जाता था. फ़िल्मों में क़दम रखने से पहले 15 साल की उम्र में उन्होंने डॉक्टर यशवंत चिटनिस से शादी कर ली, लेकिन 4 बच्चे होने के बाद वो अपने पति से अलग हो गयीं. इस दौरान उन्होंने एक स्कूल में टीचर की नौकरी करके अकेले ही अपने चारों बच्चों को बड़ा किया. टीचर के साथ-साथ वो नाटकों में भी काम करने लगीं. इन नाटकों की वजह से उन्हें हिंदी फ़िल्मों में एक्स्ट्रा के तौर पर काम मिलने लगा.  

Source: cinestaan

कैसा रहा फ़िल्मी करियर? 

लीला चिटनिस ने 1930 के दशक में बॉलीवुड फ़िल्मों में अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी. सन 1935 में उन्हें फ़िल्म 'श्री सत्यनारायण' में छोटा सा रोल निभाने को मिला. इसके बाद सन 1936 में उन्हें 'छाया' फ़िल्म से थोड़ा बहुत पहचान मिली. सन 1937 में उन्होंने 'जेंटलमैन डाकू' फ़िल्म में बूट पॉलिश वाले का किरदार निभाकर सुर्ख़ियां बटोरी. इसके बाद 1939 में उन्हें अशोक कुमार के साथ 'कंगन' फ़िल्म में लीड रोल निभाने का मौक़ा मिला.

'कंगन' हिंदी सिनेमा की पहली ब्लॉकबस्टर फ़िल्म साबित हुई. इस फ़िल्म के बाद लीला चिटनिस रातों-रात बड़ी स्टार बन गयीं. अशोक कुमार और लीला चिटनिस की जोड़ी भी काफ़ी हिट हो गई. इसके बाद लीला और अशोक कुमार ने कई फ़िल्मों में साथ काम किया. इस दौरान लीला चिटनिस ने फ़िल्मों में बतौर एक्ट्रेस ही नहीं, बल्कि सन 1955 में 'आज की बात' फ़िल्म का निर्देशन और निर्माण भी किया.

फ़िल्मों में मुख्य अभिनेत्री के रोल मिलने बंद हुए तो लीला ने आगे चलकर फ़िल्मों में मां के कई दमदार किरदार भी निभाए. 'शहीद' फ़िल्म में वो पहली बार दिलीप कुमार की मां के किरदार में नज़र आई थीं. वो आख़िरी बार सन 1987 में 'दिल तुझको दिया' में नज़र आई थीं. इसके बाद उन्होंने फ़िल्मी दुनिया को अलविदा कह दिया और बेटे के साथ अमेरिका जाकर रहने लगीं.

14 जुलाई 2003 को 93 वर्ष की उम्र में लीला चिटनिस हमेशा के लिए इस दुनिया से दूर चली गईं.