नकली चीज़ों को असली में बदलने की कला में महारथ हासिल करनी हो, तो आपको इसकी कोचिंग क्लासेज़ बॉलीवुड इंडस्ट्री से बेहतर और कोई नहीं दे सकता. नकली लहज़े से लेकर नकली आंसू, नकली बाल और कभी-कभी तो नकली चेहरों तक, ज़्यादातर जो भी चीज़ें हम बॉलीवुड फ़िल्मों (Bollywood Films) में देखते हैं, वो सच्चाई से मीलों दूर होती हैं. ऐसी कई मूवीज़ भी बनी हैं, जहां की लोकेशन नकली दिखाकर फ़िल्ममेकर्स ने ऑडियंस को ख़ूब उल्लू बनाया है. 

nationalheraldindia

यहां हम आपको उन 7 Bollywood मूवीज़ की लिस्ट बताने जा रहे हैं, जिनकी फ़िल्म में बताई गई लोकेशन बिल्कुल ग़लत थी.  

1. मैरी कॉम

Bollywood एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा स्टारर इस बायोपिक में बॉक्सर मैरी के होमटाउन मणिपुर को शोकेस करने वाले सीन्स वास्तव में हिमाचल प्रदेश में शूट किए गए थे. मैरी कॉम नॉर्थ ईस्ट इंडिया से हैं. फ़िल्म को लीड रोल प्ले करने के लिए किसी नॉर्थ ईस्ट एक्ट्रेस के बजाय प्रियंका चोपड़ा को कास्ट करने के लिए काफ़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. हालांकि, फ़िल्म ने बॉक्स ऑफिस पर बढ़िया प्रदर्शन किया था. 

blogtobollywood

2. ये जवानी है दीवानी

अगर आप फ़िल्म में उन पहाड़ियों को देखकर मंत्रमुग्ध हो गए थे, जिन पर ‘नैना‘ और ‘बनी‘ ने ट्रैकिंग की थी और उन्हें देखकर मनाली की टिकट बुक करना चाहते हैं, तो तुरंत रूक जाइए. उन पहाड़ों की वास्तव में लोकेशन मनाली नहीं, बल्कि गुलमर्ग थी. अगर रणबीर कपूर का “मैं उड़ना चाहता हूं, गिरना चाहता हूं…” वाला आइकॉनिक सीन रिक्रिएट करना है, तो आपको गुलमर्ग जाना होगा. 

indianexpress

3. कुछ कुछ होता है 

डायरेक्टर करण जौहर की इस क्लासिक Bollywood फ़िल्म ने एक बार नहीं, बल्कि दो-दो बार हमें बेवकूफ़ बनाया है. जी हां, फ़िल्म में दिखाई गई दो लोकेशन बिल्कुल नकली थीं. मूवी में राहुल, अंजलि और टीना के कॉलेज का नाम सेंट ज़ेवियर स्कूल बताया गया है, जबकि वास्तव में इसकी शूटिंग University of Mauritius में हुई है. फ़िल्म के एक अन्य सीन में राहुल अपनी बेटी अंजलि को ढूंढने शिमला में लगे एक कैंप में जाता है. असल में उस सीन की शूटिंग तमिलनाडु के हिल स्टेशन ऊटी में हुई थी.  

orissapost

4. चेन्नई एक्सप्रेस

इस बात में कोई शक नहीं है कि चेन्नई एक बेइंतेहा ख़ूबसूरत शहर है. लेकिन फ़िर भी फ़िल्म ‘चेन्नई एक्सप्रेस‘ के कुछ सीन्स वास्तव में महाराष्ट्र में शूट किए गए हैं. ये सीन्स पुणे के पास सतारा जिले के वई में शूट हुए हैं. कई फ़िल्ममेकर्स इस लोकेशन पर शूट करना पसंद करते हैं, क्योंकि ये जगह काफ़ी शांतिपूर्ण है.

variety

5. कभी ख़ुशी कभी गम

इस फ़िल्म के मेकर्स को लगा कि वो हमें आसानी से बुद्धू बना सकते हैं. वास्तव में बचपन में हमें उन्होंने बना भी दिया. इस फिल्म ने वास्तव में हमें विश्वास दिलाया था कि ‘रायचंद‘ को चांदनी चौक के पास अपनी विशाल हवेली के लिए काफी बड़ी जमीन मिल सकती है. क्या आपको दिल्ली के रियल एस्टेट की कीमतों का अंदाज़ा है? फ़िल्म में जिस हवेली में रायचंद रहते थे, उसे वास्तव में ‘Waddesdon Manor‘ कहा जाता है और ये लंदन में स्थित है. फिल्म का जो हिस्सा चांदनी चौक माना जाता था, वह वास्तव में हैदराबाद के रामोजी फिल्म सिटी में बनाया गया एक सेट था. 

jgnt

ये भी पढ़ें: 3 Idiots से लेकर Delhi Belly तक, इन 10 सुपरहिट बॉलीवुड फ़िल्मों की साउथ रीमेक भी रही हैं सुपरहिट

6. बजरंगी भाईजान 

इस फ़िल्म में ‘मुन्नी‘ का कैरेक्टर पाकिस्तान के सुल्तानपुर से भारत लाया हुआ दर्शाया गया है. ये बात सभी जानते हैं कि मेकर्स पड़ोसी मुल्क में शूट नहीं कर सकते हैं. इस वजह से फ़िल्म को कश्मीर वैली में शूट किया गया था.  

pinkvilla

7. फ़ना

इस मूवी में कश्मीर की बर्फ़ीली वादियों में होने का दावा किया गया है, जबकि सच्चाई इससे बिल्कुल परे है. ये सारे सीन पोलैंड में शूट किए गए थे. यूरोपीय देश पोलैंड ने ‘ज़ूनी‘ और ‘रेहान’ की जटिल प्रेम कहानी को उजागर करने में एक आकर्षक पृष्ठभूमि के रूप में काम किया था. 

cine-tales

भाई, नकली को असली दिखाने की कला हर किसी के बस की बात नहीं है.