बॉलीवुड की फ़िल्मों में प्रेम को जिस तरह से दिखाया गया है, न चाहते हुए भी हम असल ज़िन्दगी में वैसी ही उम्मीदें कर लेते हैं. गैंग्स ऑफ़ वासेपुर में रामाधीर सिंह ने एक डायलॉग दिया था, 'हिन्दुस्तान में जब तक सनिमा है लोग चु#@या बनते रहेंगे.'

फ़िल्में देख-देख कर प्रेम के मामले में भी हम बेवकूफ़ ही बन रहे हैं. अभी अगर फ़िल्में देखकर लोग अनजानी लड़की का हाथ पकड़ें तो थप्पड़ ही खाएंगे न?
अरियलिस्टिक एक्सपेक्टेशन्स देने के बावजूद फ़िल्मों ने कुछ ऐसे कतई सही रोमैंटिक सीन दिए हैं, जिन्हें हम बार-बार देखना पसंद करते हैं, ये जानते हुए भी कि हक़ीक़त में ऐसा कम ही होता है. 

बॉलीवुड के कुछ अति रोमैंटिक सीन-

1. श्री 420

Source: Imdb

बारिश, गाने और बेशुमार मोहब्बत. नरगिस और राज कपूर ने प्यार जताने के मायने ही बदल दिए थे. इस फ़िल्म का, इस गाने का असर आज भी वही है जो उस समय था. 

2. दिल चाहता है

दिल चाहता है में जब आकाश, शालिनी को प्रपोज़ करता है. काफ़ी लंबे इस डायलॉग की फ़िल्म में जगह हो सकती है, असल ज़िन्दगी में तो अगर शादी में ऐसा ड्रामा हो तो बातें बाद में होंगी और लात-घूंसे पहले चल जाएंगे. इसके बावजूद इस सीन की दर्शकों के दिल में ख़ास जगह है. 

3. ये जवानी है दिवानी

वैसे तो पूरी फ़िल्म ही ख़याली पुलाव है, इस पर फिर कभी बात करेंगे. फ़िल्म के आख़िर में Bunny नैना को प्रपोज़ करता है और नैना मान जाती है. Bunny अपना सपना छोड़कर नैना के साथ रहना चाहता है, असल ज़िन्दगी में ऐसा होता है तो पर उल्टा, अक्सर लड़कियो ंको अपने सपने छोड़ने पड़ते हैं. तो एक तरह से ये सीन प्रोग्रेसिव भी है. 

4. ज़िन्दगी न मिलेगी दोबारा

जब लैला बाइक लेकर अर्जुन को किस करने पहुंचती है क्योंकि उसे अफ़सोस करना नहीं आता. असल ज़िन्दगी में ऐसा कम ही देखने को मिलता है और बॉलीवुड फ़िल्मों में भी. लड़कियों को शर्मिला और पहल न करने वाला ही दिखाया जाता है. इस सीन को जितनी बार भी देखो ख़ुशी ही मिलती है. 

5. दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे

Source: Cosmopolitan

फ़िल्म में रोमैंटिंग सीन्स की भरमार है. जैसे कि राज और सिमरन दोनों भूखे रहते हैं, सिमरन राज के हाथ से चालाकी से पानी पीती है वगैरह वगैरह. एक सीन जिसका मीमर्स और बॉलीवुड फ़ैन्स के दिल में ख़ास जगह है वो है ट्रेन वाला सीन, जब राज सिमरन को हाथ देखकर ट्रेन में चढ़ाता है. असल ज़िन्दगी में ऐसा शायद ही हो, इतना रिस्क कौन लेगा और अगर लेना ही है तो चेन खींचेगा!

6. Wake Up Sid

फ़िल्म बॉलीवुड की बेहतरीन फ़िल्मों में से एक है. आयशा, Sid से प्यार का इज़हार आर्टिकल के ज़रिये करती है. दोनों एक दूसरे के साथ रहते हुए बहुत कुछ सीखते हैं, Grow करते हैं, किसी भी दोस्ती या रिश्ते में ये बहुत ज़रूरी है. मुंबई की बारिश और मरीन ड्राइव का ये सीन, हर मायने में ख़ूबसूरत है. 

7. कल हो न हो

इस फ़िल्म में भी ऐसे कई सीन हैं जिन्हें देखकर आंखों में आंसू आ जाएं. शाहरुख़ ख़ान की बेहतरीन फ़िल्मों में से एक फ़िल्म जो हर रोमैंटिक मूवी फ़ैन के दिल में बस गई है वो है वो डायरी वाला सीन. नैना बहुत नाराज़ होती है क्योंकि उसे लगता है कि अमन ने रोहित की मदद की, नैना को पाने के लिए. जहां डायरी में कुछ नहीं लिखा होता पर अमन बहुत कुछ कह देता है. रोहित को भी पता चल जाता है कि अमन नैना से टूटकर प्यार करता है. 

8. राम लीला

Source: India Today
Source: Tumblr

दीपिका और रणवीर की अलग केमिस्ट्री दिखी है इस फ़िल्म में. फ़िल्म में लीला और राम के बीच दरार पैदा करने की तमाम कोशिशें होती हैं पर राम लीला से एक पल के लिए भी नफ़रत नहीं करता. फ़िल्म में एक से एक Passionate Scene हैं पर दोनों के बीच का प्यार सबसे ज़्यादा मुश्किल हालात में दिखता है, चाहे वो नगाड़ा संग ढोल गाना हो या सरपंच के सामने दोनों के सुलह की बात.

9. दिल तो पागल है

Source: Masala

90 के दशक में दिल तो पागल है लोग दोबारा देखने अगर गए होंगे तो सिर्फ़ इस सीन के लिए! फ़िल्म में हर रोमैंटिक सीन के साथ ही दर्शकों की भी धड़कनें तेज़ हो जाती थीं कि अब आगे क्या होगा! फ़िल्म का और पास सीन तो आज भी उतना ही रोमैंटिक है जितना पहला था. 

10. जाने तू या जाने ना

फ़िल्म के आख़िर में जब जय ने Meow को एक पुराना हिन्दी गाना, 'तेरा मुझ से है पहले का नाता कोई' गाकर रोका. असल ज़िन्दगी में शायद ही कोई एयरपोर्ट पर ऐसा करने की सोचे!

11. बरफ़ी

फ़िल्म में बरफ़ी झिलमिल के सामने दोस्ती का इम्तहान रखता है. झिलमिल, बरफ़ी पर यक़ीन रखती है और उसका कुर्ता पकड़े रहती है. इस फ़िल्म में प्यार के वो मायने दिखाए जो आमतौर पर हम नज़रअंदाज़ कर देते हैं. 

12. कुछ कुछ होता है

फ़िल्म में राहुल, अंजलि से बिना डायलॉग्स के डांस के लिए पूछता है. फ़िल्म में आपको हज़ार ख़ामियां दिख सकती हैं पर ये सीन, बहुत ज़्यादा रियल है.