Bollywood Special: कहा जाता है कि अपेक्षाओं का बोझ अक्सर इंसान संभाल नहीं पाता, लेकिन जब बोझ एक बड़े स्टार के बेटे के ऊपर हो तो ये बोझ और भी ज़्यादा बढ़ जाता है. बॉलीवुड (Bollywood) में 'जुबली कुमार' के नाम से मशहूर राजेंद्र कुमार (Rajendra Kumar) के बेटे कुमार गौरव (Kumar Gaurav) भी शायद इन्हीं आशाओं और अपेक्षाओं के बोझ तले दब गए थे.  

ये भी पढ़ें- 'कलियों का चमन' गाने के रीमिक्स से रातों-रात स्टार बनने वाली मेघना नायडू आजकल क्या कर रही हैं?

Source: freepressjournal

कुमार गौरव (Kumar Gaurav) ने सन 1981 में 'लव स्टोरी' (Love Sotry) फ़िल्म के ज़रिए बॉलीवुड में धमाकेदार डेब्यू किया था. ये फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर सुपरहिट साबित हुई थी. इस फ़िल्म की वजह कुमार गौरव रातों-रात स्टार बन गए थे. इस फ़िल्म का निर्माण उनके पिता स्व. राजेंद्र कुमार ने ही किया था. इस फिल्म ने कुमार गौरव को बॉलीवुड में 'लवर बॉय' की छवि दी थी. 

Source: youtube

कौन हैं कुमार गौरव? 

कुमार गौरव (Kumar Gaurav) का असली नाम मनोज तुली है. वो बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार राजेंद्र कुमार के बेटे हैं. कुमार गौरव बॉलीवुड स्टार संजय दत्त के जीजा भी हैं. सन 1984 में कुमार ने संजय की बहन नम्रता दत्त से शादी की थी. कुमार और नम्रता की 2 बेटियां हैं.  

Source: filmibeat

इसके बाद सन 1982 में रिलीज़ हुई उनकी फ़िल्म 'तेरी कसम' (Teri Kasam) भी हिट रही थी. इसके बाद तो चॉकलेटी हीरो के तौर पर वो बॉलीवुड निर्माता-निर्देशकों के चहेते बन गए. इस दौरान उन्होंने धड़ाधड़ कई फ़िल्में साईन कर डाली थी, लेकिन 'तीसरी कसम' के बाद उनकी 'स्टार', 'रोमांस', 'लवर्स', 'हम हैं लाज़वाब' और 'ऑल राउंडर' समेत अधिकतर फ़िल्में फ़्लॉप साबित हुई.

Source: vinayakmusic

कुमार गौरव का करियर 'लव स्टोरी' और 'तेरी कसम' फ़िल्म के ज़रिए जितनी तेज़ी से ऊपर गया था, उनकी बाद की फिल्मों ने उन्हें सीधे ज़मीन पर ला दिया था. बॉलीवुड के मशहूर एक्टर राजेन्द्र कुमार का बेटा और सुनील दत्त का दामाद होने के बाद भी कुमार फ़िल्म इंडस्ट्री में वो मुक़ाम हासिल नहीं कर सके, जिसकी उनसे उम्मीद थी.

Source: twitter

सन 1982 से लेकर 1985 तक उनकी कई फ़िल्में फ्लॉप रही. इस दौरान वो अपनी एक्टिंग से दर्शकों का दिल जीतने में कामयाब नहीं हो सके. सन 1985 में महेश भट्ट (Mahesh Bhatt) की फ़िल्म 'जनम' और 1986 में आई फ़िल्म 'नाम' हिट रही थीं. इन दोनों फ़िल्मों में कुमार गौरव ने शानदार एक्टिंग की थी, लेकिन इसके बाद उनकी सभी फ़िल्में फ़्लॉप साबित हुई.  

Source: filmibeat

इसके बाद सन 1993 में उनके पिता राजेंद्र कुमार ने अपने बेटे के करियर के ख़ातिर माधुरी दीक्षित के साथ फ़िल्म 'फूल' बनाई, लेकिन दुर्भाग्यवश ये फ़िल्म भी फ़्लॉप साबित हुई. इस फ़िल्म की विफ़लता के बाद कुमार गौरव ने अभिनय से ब्रेक ले लिया.

7 साल बाद 'गैंग' फ़िल्म के ज़रिए बॉलीवुड में की थी वापसी 

7 साल बाद 'गैंग' फ़िल्म के ज़रिए बॉलीवुड में की थी वापसी 

कुमार गौरव ने सन 1999 में कुछ टेलीविजन शो में भी काम किया था. इसके बाद साल 2000 में उन्होंने 'गैंग' फ़िल्म के ज़रिए बॉलीवुड में वापसी की थी. साल 2002 में वो 'कांटे' फ़िल्म में भी नज़र आये थे. इसके बाद साल 2004 में उन्होंने हॉलीवुड फ़िल्म 'Guiana 1838' में भी अभिनय किया था.

Source: bollywoodhungama

अब क्या कर रहे हैं कुमार गौरव?  

61 साल के कुमार गौरव पिछले 12 सालों से बॉलीवुड से दूर हैं. वो आज एक सक्सेसफुल बिज़नेसमैन बन चुके हैं. इन दिनों वो अपनी एक 'कंस्ट्रक्शन कंपनी' चला रहे हैं. जो देशभर में कई बड़े प्रोजेट्स पर काम कर रही है. अब वो बॉलीवुड में वापसी करना नहीं चाहते हैं.

Source: republicworld

कुमार गौरव ने साल 2009 में आख़िरी बार कॉमेडी फ़िल्म 'My Daddy Strongest' में काम किया था. इसके बाद उन्हें कोई दूसरी फ़िल्म ऑफ़र ही नहीं हुई.