कोरोना के ख़िलाफ़ अगर कोई असल जंग लड़ रहा है तो वो हैं बॉलीवुड के माचो विलेन सोनू सूद. बड़े परदे के विलेन सोनू सूद असल ज़िंदगी में प्रवासी मज़दूरों के लिए हीरो साबित हो रहे हैं. ऐसे में सोनू सूद को सूद समेत दुवाएं देना तो बनता है बॉस.  

Source: twitter

लॉकडाउन के चलते महानगरों में फंसे मज़दूरों को उनके घरों तक पहुंचने में जहां केंद्र व राज्य सरकारें ना नुकुर करती रहीं वहीं सोनू सूद ने अकेले दम पर वो कर दिखाया है जो सरकारी मशीनरी होने के बावजूद सरकारें नहीं कर पाई. यही फ़र्क होता है बोलने और कुछ करके दिखाने में.  

कोरोना संकट के बीच सोनू सूद ने सुपर हीरो की तरह प्रवासी मज़दूरों को उनके घरों तक पहुंचाने का ज़िम्मा उठाया है. वो अपनी इस ज़िम्मेदारी को बखूबी से निभा भी रहे हैं. सोनू अब तक कर्नाटक, बिहार, झारखंड और यूपी जैसे राज्यों के हज़ारों प्रवासी मज़दूरों को उनके घरों तक पहुंचा चुके हैं.    

Source: wionews

इस बीच सोनू सूद ने प्रवासी मज़दूरों की मदद के लिए एक क़दम आगे बढ़कर टोल फ़्री नंबर 18001213711 लॉन्च किया है. ताकि प्रत्येक प्रवासी मज़दूर को हरसंभव मदद मिल सके. इस टोल फ़्री नंबर के माध्यम से ज़रूरतमंद मदद के लिए उनकी टीम तक पहुंच सकता है. 

Source: bbc

PTI से बातचीत में सोनू सूद कि 'मुझे हर दिन हज़ारों कॉल आ रहे थे. ऐसे में एक समय में इतने सारे कॉल का जवाब दे पाना मुश्किल हो रहा था. इसलिए मेरे परिवार और दोस्तों ने डेटा एकत्र करना शुरू किया. इसके बाद ही हमने हर शख़्स तक पहुंचने के लिए कॉल सेंटर खोलने का फैसला किया.  

Source: timesnownews
कोशिश यही है कि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की मदद करके उन्हें घर पहुंचाया जाए. हमारे पास इस पर काम के लिए एक समर्पित टीम है, जो प्रत्येक व्यक्ति से संपर्क करने की कोशिश कर रही है. हमें नहीं पता कि हम कितने लोगों की मदद कर पाएंगे, लेकिन हम कोशिश करेंगे. 
Source: outlookindia

अभिनेता सूद ट्विटर पर मदद मांगने वाले लोगों को भी जवाब दे रहे हैं, जो लोग मज़े लेने के लिए ट्वीट कर रहे हैं सोनू उन्हें भी मज़ेदार जवाब दे रहे हैं.