देशभर में 'नागरिकता संशोधन कानून' (सीएए) को लेकर प्रदर्शन जारी हैं. बीते सोमवार को दिल्ली के 'जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय' में हुए हिंसक प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा छात्रों पर जमकर लाठीचार्ज किया गया.

Source: indianexpress

जामिया के छात्रों पर पुलिस की बर्बरता के ख़िलाफ़ अब बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ ने भी मोर्चा खोल दिया है. स्वरा भास्कर, अनुराग कश्यप, मनोज बाजपेयी, अली फ़ज़ल, जीशान अयूब ख़ान, तापसी पन्नू और कोंकणा सेनशर्मा जैसे कई बॉलीवुड स्टार इस पर नाराज़गी दिखा रहे हैं.

कुछ समय पहले ट्विटर छोड़ चुके अनुराग कश्यप ने फिर से वापस आते ही कहा-

'अब बात दूर तक जाएगी, आख़िर कब तक चुप रह सकते हैं. ये फ़ासीवादी सरकार है. कुछ ऐसी आवाज़ें, जो हमें दबाने की कोशिशें कर रही हैं, मुझे अब उन पर गुस्सा आ रहा है'.

वहीं मनोज बाजपेयी ने कहा कि-

'ऐसे समय हो सकता है कि हम अन्याय को रोकने के लिए शक्तिहीन हो जाएं, लेकिन ऐसा कभी नहीं होना चाहिए कि हम ग़लत का विरोध ही न कर पाएं. विरोध करना छात्रों का लोकतांत्रिक अधिकार है. मैं प्रदर्शनकारी छात्रों के ख़िलाफ़ हिंसा की निंदा करता हूं'

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से सिर्फ़ दिल्ली में ही नहीं देशभर में 'नागरिकता संशोधन कानून' का विरोध हो रहा है. बीते रविवार को दिल्ली के 'जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय' में हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद देशभर में विरोध प्रदर्शन जारी हैं. इस हिंसक प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने कई छात्रों पर जमकर लाठी-डंडे बरसाए.

Source: livehindustan

बीते सोमवार 'जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय' में हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद मंगलवार को पुलिस ने उपद्रव फ़ैलाने के आरोप में 10 लोगों को गिरफ़्तार किया है.

Source: dailyworld

इस दौरान पुलिस का कहना है कि गिरफ़्तार किये गए सभी लोग आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं. गिरफ़्तार किए गए लोगों में तीन घोषित बदमाश हैं. ये सभी जामिया व ओखला इलाके के रहने वाले हैं. पुलिस ने साथ ही कहा कि इनमें से किसी भी छात्र को गिरफ़्तार नहीं किया गया है. इसका मतलब ये नहीं है कि छात्रों को क्लीन चिट दे दी गई है.

इन तमाम बॉलीवुड स्टार्स ने भी प्रदर्शनकारी छात्रों के ख़िलाफ़ हिंसात्मक कार्रवाई की निंदा की है-