3 Idiots में वायरस बन सबके दिलों में वायरस की तरह घुस जाने वाले बोमन ईरानी का जन्म 2 दिसंबर 1959 को हुआ था. 58 साल के हो चुके बोमन ईरानी ने अपने अभिनय से कभी हमें हंसाया, कभी रुलाया है तो कभी गुस्सा भी दिलाया है.

dnaindia

बोमन ईरानी ने मीठीबाई कॉलेज से पढ़ाई करने के बाद पॉलिटेक्निक में डिप्लोमा किया. इसके बाद ताजमहल एंड टावर में बतौर वेटर और रुम सर्विस काम किया. उन्होंने अपनी मां के साथ उनकी बेकरी शॉप में भी हाथ बंटाया. 1986 में अंकल चिप्स की फ़्रेंचाइज़ी ली. 1987 में फ़ोटोग्राफ़र बनने की ठानी. मगर उनको इसमें बहुत संघर्ष करना पड़ा. उसी दौरान उन्हें बॉक्सिंग वर्ल्ड कप के लिए एक पत्रिका के लिए फ़ोटो खींचने का अवसर मिला. मगर हमेशा की तरह यहां भी कुछ बात नहीं बनी और बोमन ने थियेटर का रुख़ किया. जहां उन्होंने क़रीब 15 नाटकों में अभिनय किया.

daily

उन्होंने कई विज्ञापनों में भी काम किया है. इसमें सबसे प्रसिद्ध विज्ञापन क्रैकजेक बिस्किट का रहा. बोमन उन अभिनेताओं में से हैं जिन्होंने बहुत लेट फ़िल्मी दुनिया में क़दम रखा है. उन्होंने सबसे पहले फ़िल्म जोश में काम किया, लेकिन कोई बात नहीं बनी. बोमन को पहचान उनके मुन्नाभाई एमएमबीबीएस के रोल से मिली. इस भूमिका के लिए उन्हें Screen Weekly Award में बेस्ट कॉमेडियन के ख़िताब से नवाज़ा गया था. इसके अलावा IIFA और Starscreen अवॉर्ड भी मिल चुके हैं. उनकी फ़िल्मों की गाड़ी ऐसी पटरी पर आई कि वो सिलसिला आजतक जारी है. उन्होंने हिंदी ही नहीं, बल्कि मराठी और तेलुगु सिनेमा में भी अद्भुत अभिनय किया है.

 उनके इसी फ़िल्मी सफ़र की कुछ झलकियां पेश हैं तस्वीरों के रूप में.

1. मुन्नाभाई एमबीबीएस (2003)

इस फ़िल्म में बोमन ईरानी ने एक Strict डॉ. अस्थाना का किरदार निभाया था.

2. मैं हूं न (2004)

मज़ाकिया प्रिंसिपल का किरदार निभाकर दर्शकों को ख़ूब गुदगुदाया था.

3. लक्ष्य (2004)

इसमें रितिक रोशन के पिता का किरदार निभाया है.

4. पेज 3 (2005)

इस फ़िल्म में बोमन ईरानी एक न्यूज़पेपर के संपादक बने हैं. उन्होंने अपने अभिनय ने इस रोल में चार चांद लगा दिए थे.

5. माई वाइफ़्स मर्डर (2005)

ये एक थ्रिलर फ़िल्म थी. इसमें बोमन ईरानी ने इंस्पेक्टर तेजपाल रंधावा का किरदार निभाया था.

6. मैंने गांधी को नहीं मारा (2005)

इस फ़िल्म में बोमन ईरानी ने सरकारी वकील की भूमिका निभाई थी. ये फ़िल्म उस सान की मनोस्थिति पर बनी थी, जिसे वहम हो जाता है कि उसने गांधी को मारा है.

7. बींग साइरस (2005)

इस फ़िल्म में नसीरूद्दीन शाह के भाई का रोल किया है, जिसका नाम है फ़ारुख़ दिनशॉ.

8. लगे रहो मुन्नाभाई (2006)

इस फ़िल्म में अपनी लकी सिंह की नकारात्मक भूमिका के लिए Fimlfare Award में बेस्ट विलेन के लिए नॉमिनेट हुए थे.

9. खोखला का घोसला (2006)

इसमें इनका किरदार एक भ्रष्ट शख़्स किशन खुराना का है.

10. हनीमून ट्रेवल्स प्रा. लि. (2007)

इसमें शबाना आज़मी के पति ऑस्कर फ़र्नांडिस का किरदार निभाया है.

11. 3 इडियट्स (2009)

वायरस के नाम से प्रसिद्ध हुआ उनके इस रोल ने Filmfare, Starscreen और IIFA Award दिलाए. इस किरदार का पूरा नाम वीरू सहस्त्रबुद्धे था.

12. वेल डन अब्बा (2010)

अरमान अली ड्राइवर का रोल अदा किया है. ये फ़िल्म ग्रामीण जावन और उसकी समस्याओं पर बनी थी.

13. फ़रारी की सवारी (2012)

देबू नाम के एक मिडिल क्लास पिता का रोल निभाया है, जो दुनियावी चीज़ों के सुख से दूर है. इस फ़िल्म में परेश रावल और बोमन ईरानी का सीन अभिनय की बारीकियों को दर्शाता है.

14. हाउसफ़ुल 2 (2012)

हाउसफ़ुल 2 में बोमन ईरानी के कई दृश्य ऐसे हैं जो हमें बहुत गुदगुदाते हैं. इसमें उन्होंने बटुक पटेल का किरदार निभाया था.

15. जॉली एलएलबी (2013)

इस फ़िल्म में बहुत ही जाने-माने वकील राजपाल का नेगेटिव किरदार निभाया था.

16. पी के (2014)

2014 की सुपरहिट फ़िल्म में शामिल पीके ने सफलता के सारे आयाम तोड़े थे. इसमें बोमन ईरानी ने चेरी बाजवा का रोल निभाया था, जो एक पत्रकार थे.

17. बंगाल टाइगर (2015)

ये एक तेलुगु फ़िल्म में थी, जिसमें इन्होंने अशोक गजपति का रोल अदा किया था.

18. परमाणु (2018)

मई 1988 में भारत के राजस्थान में हुए पोखरण परमाणु परीक्षण पर बनी इस फ़िल्म में पीएमओ के एक बहुत बड़े ऑफ़िसर हिमांशु शुक्ला का किरदार निभाया था.

19. संजू (2018)

संजू में सोनम कपूर के पारसी पिता का रोल निभाया है. उनका ये कैरेक्टर हंसाता भी है और गुस्से वाला भी है. 

ये कहना ग़लत नहीं होगा कि, बोमन ईरानी ने हमेशा ही अपने अभिनय से हमारे दिल में अमिट छाप छोड़ी है. 

Feature Image source: tribune