ये सिनेमा की ताक़त है कि किसी व्यक्ति को वहां पहुंचा देती है, जहां सपने में पहुंचने के बारे में उसने न सोचा होगा. ये कहानी है 65 वर्षीय ड्राइवर नामदेव गौरव की.

Source: Times Now News

फ़िल्म निर्माता Dheer Momaya ने सोचा कि वो अपनी फ़िल्म के मुख्य करिदार के लिए अपने ड्राइवर नामदेव गौरव को कास्ट करें. निर्देशक Dar Gai ने, नामदेव से रिहर्सल कराई और 90 मिनट की फ़िल्म 'Namdev Bhau In Search Of Silence' के लिए फ़ाइनल कर लिया.

Source: Times Now News

इस फ़िल्म के लिए Indian Film Festival Of Melbourne(IIFM) में नामदेव गौरव को बेस्ट एक्टर के श्रेणी अवॉर्ड के लिए नॉमिनेट किया गया है, इस श्रेणी में अमिताभ बच्चन, मनोज वाजपाई और आयुष्मान खुराना भी नॉमिनेट हुए हैं.

ये उस जीवन को जीने जैसा है, जिसके बारे में मैंने सपने में भी नहीं सोचा था. हम हमेशा दूसरे एक्टर्स की बात करते थे. ये लोग जहां आज हैं, वहां पहुंचने के लिए बहुत कम उम्र से कड़ी मेहनत करते आ रहे हैं और अमिताभ जी और मनोज जी के साथ नॉमिनेट होना मुझे अवास्तिवक लग रहा है.

- नामदेव गौरव

Source: Times Now News

'Namdev Bhau In Search Of Silence' की कहानी उस बुजुर्ग की है, जो मुंबई के शोर से परेशान होकर शांति की तलाश में कहीं निकल पड़ता है. मेलबर्न के अलावा कई अन्य अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल में भी इसका चयन हो चुका है.

निर्माता Dheer Momaya के अनुसार इस फ़िल्म की वजह से नामदेव गौरव को कई और फ़िल्मों के ऑफ़र मिल रहे हैं.