जसपाल भट्टी वो कॉमेडियन थे जो हंसाते-हंसाते समाज और राजनीति पर कटाक्ष कर जाते थे. शायद इसीलिए उन्हें ‘किंग ऑफ़ कॉमेडी’ और ‘किंग ऑफ़ सटायर’ कहा जाता था. 90 के दशक में आया उनका शो ‘फ़्लॉप शो’ ज़बरदस्त हिट रहा था. इस सीरियल को देख कर आजकल के कॉमेडियन उनसे कॉमेडी के गुर सीखने की कोशिश करते हैं.  

scroll

जसपाल भट्टी साहब ने ‘फुल टेंशन’, ‘उल्टा-पुल्टा’, ‘हाय ज़िंदगी बाय ज़िंदगी’ और ‘थैंक्यू जीजाजी’ जैसे टीवी सीरियल्स में काम किया. उन्हें 80-90 के दशक में कॉमेडी का बादशाह कहा जाता था. 

amarujala

जसपाल भट्टी साहब ज़बरदस्त कॉमेडियन तो थे ही साथ में उनके अंदर एक और टैलेंट था. वो किसी उभरते हुए कलाकार के टैलेंट को पहचान कर उसे आगे बढ़ने का मौक़ा देते थे. ऐसे ही एक कलाकार सुनील ग्रोवर उर्फ़ डॉक्टर मशहूर गुलाटी उर्फ़ गुत्थी भी हैं. 

सुनील ग्रोवर के अंदर छिपे टैलेंट को पहली बार उन्होंने ही पचाना था. हुआ यूं के एक दिन जसपाल भट्टी साहब चंडीगढ़ में उनके कॉलेज में नए कलाकारों का ऑडिशन लेने पहुंचे थे. यहां सुनील ग्रोवर ने भी मज़े-मजे़ में ऑडिशन दे दिया. सुनील को इस बात का एहसास तक नहीं था कि वो सेलेक्ट हो जाएंगे. 

indiatvnews

उनके पास उस वक़्त कोई मोबाईल फ़ोन नहीं था. इसलिए जसपाल जी ने अपना एक असिसटेंट भेज उन्हें बताया था कि वो सेलेक्ट कर लिए गए हैं. इसके बाद सुनील ग्रोवर ने उनके साथ कई स्टेज शो में काम किया. ‘फुल टेंशन’ शो में सुनील ग्रोवर ने जसपाल भट्टी के नौकर का रोल निभाया था.

tellychakkar

इसके बाद सुनील नेआरजे सुड के नाम से रेडियो मिर्ची पर शो भी किया था. धीरे-धीरे सुनील ग्रोवर के काम को नोटिस किया जाने लगा और उन्हें काम मिलने लगा. आज उनकी गिनती इंडस्ट्री के बेस्ट कॉमेडियन्स में होती है.

सुनील ग्रोवर को आगे बढ़ाने में जसपाल भट्टी का बहुत बड़ा हाथ. सुनील ग्रोवर ने ख़ुद इस बात का ज़िक्र अपने एक इंटरव्यू में किया था.