Darwaza Tod Do Daya: भारतीय टेलीविजन पर सबसे लंबे समय तक चलने वाले धारावाहिकों में शुमार सीआईडी (CID) शो का पहले एपिसोड 21 जनवरी, 1998 को प्रसारित हुआ था, जबकि 27 अक्टूबर 2018 को इसका आख़िरी एपिसोड प्रसारित हुआ था. 20 साल तक चले ‘सीआईडी’ ने अपने नाम सबसे लंबे समय तक चलने वाले धारावाहिक का रिकॉर्ड स्थापित किया है. ये शो ही नहीं इसके किरदार भी दर्शकों के बीच काफ़ी मशहूर हुये थे. सीआईडी (CID) में ‘एसीपी प्रद्युम्न’, ‘दया’, ‘अभिजीत’ और ‘डॉ. सालुंखे’ हर किरदार आज भी दर्शकों के दिलों में ज़िंदा हैं.

ये भी पढ़ें: ऐश्वर्या राय को उनके पहले फ़ोटोशूट के लिए मिले थे सिर्फ़ 1500 रुपये, 30 साल पुराना ‘बिल’ हुआ वायरल

indiatimes

इस शो में जब भी ‘इंस्पेक्टर दया’ की एंट्री होती है. दर्शकों को दरवाज़े टूटने की आवाज़ें सुनाई देने लगती थीं. ऊपर से ‘एसीपी प्रद्युम्न’ का ‘दरवाज़ा तोड़ दो, दया’ कहना तो सोने पे सुहागा था. इस किरदार को अभिनेता दयानंद शेट्टी (Dayanand Shetty) ने निभाया था. दया असल ज़िंदगी में भी किसी CID ऑफ़िसर से कम नहीं लगते. आज सीआईडी (CID) शो ये डायलॉग अभिनेता दयानंद शेट्टी की पहचान बन चुका है.

Darwaza Tod Do Daya

indiatimes

असल ज़िंदगी में कौन हैं दया

दयानंद शेट्टी (Dayanand Shetty) का जन्म 11 दिसंबर 1969 को कर्नाटक के उडुपी में हुआ था. दया एक्टर नहीं बनना चाहता थे. कॉलेज की पढ़ाई के उन्हें मज़ाक मज़ाक में थिएटर जॉइन कर लिया था. इस दौरान कई बेहतरीन नाटकों में काम किया. इसके बाद 90 के दशक में मुंबई आ गए. दयानंद शेट्टी ने साल 1996 में दिलजले (Diljale) फ़िल्म से बॉलीवुड में डेब्यू किया. इस फ़िल्म में उन्हें ‘गनमैन’ का छोटा सा किरदार निभाया था. इसके 2 साल बाद दया को सीआईडी (CID) के लिए बुलावा आया तो वो हैरान रह गए.

Darwaza Tod Do Daya

timesofindia

दयानंद शेट्टी ने CID के लिए आये कॉल को लेकर एक क़िस्सा साझा करते हुये कहा- 

जब मुझे CID के लिए कॉल आया तो मैंने उन्हें कह दिया कि मैं तो केवल शौकिया एक्टर हूं. दरअसल, ऑडीशन धारावाहिक के निर्माता बी. पी. सिंह ख़ुद ले रहे थे. ऐसे मुझे लगा कि ‘दया’ का रोल मुझे नहीं मिलेगा. क्योंकि उन दिनों मेरे पिताजी की तबियत भी ख़राब चल रही थी. ऑडीशन देने का बिलकुल भी मन नहीं था, लेकिन वहां मेरा नाम मेरे एक दोस्त ने ले दिया था और मैं सिर्फ़ उसकी दोस्ती की ख़ातिर ऑडिशन में चला गया और उस ऑडीशन ने मुझे आज यहां तक पहुंचा दिया. 
indiatimes

कैसे मशहूर हुआ ‘दरवाज़ा तोड़ दो, दया’ 

मुझे CID में काम शुरू करने से पहले इस शो के 40 एपिसोड हो चुके थे. दरवाज़ा पहले भी तोडा जा चुका था, लेकिन उसका उतना असर नहीं हुआ. जब मैंने CID में काम शुरू किया और दरवाज़ा तोड़ना शुरू किया तो फरमान आया कि आगे से जब भी दरवाज़ा तोड़ना हो तो ‘दया’ ही तोड़ेगा. इसके बाद तो मैं कहीं भी किसी भी लोकेशन पर रहूं, दरवाज़ा तोड़ने मुझे ही आना पड़ता था और ये लोगों को पसंद भी आने लगा.
timesofindia

Darwaza Tod Do Daya

दयानंद शेट्टी इसके बाद तो मानो ‘दरवाज़ा तोड़ने’ का पर्याय बन गए. वो जब तक शो में ‘दरवाज़ा’ नहीं तोड़ते थे फ़ैंस को सब मिसिंग-मिसिंग सा लगता था. इस शो के अलावा भी लोग ‘दया’ को दरवाज़ा तोड़ने के लिए बुलाने लगे. उन्हें कई रियलिटी शो में भी दरवाज़ा तुड़वाने के लिए बुलाया जा चुका है. कुछ समय पहले दयानंद शेट्टी ने जूतों का एक विज्ञापन किया था, उसमें भी दरवाज़ा तोड़ने वाला सीक्वेंस डाला गया था. यहां तक कि निर्देशक रोहित शेट्टी ने भी ‘सिंघम रिटर्न’ फ़िल्म में ‘दया’ की इस पहचान को कैश कराने का मौका नहीं छोड़ा.

एक शख़्स ने जब कॉल करके दरवाज़ा तोड़ने बुलाया

एक दिन रात के 11 बजे मुझे एक शख़्स का कॉल आया और कहने लगा सर मेरी अब्सेंस में मेरे लैंडलॉर्ड ने मेरा रूम लॉक कर दिया है. मैं काफ़ी देर से रूम के बाहर खड़ा हूं. अब मैं क्या करूं? क्या आप मेरे रूम का दरवाज़ा तोड़ने आ सकते हैं? ये सुनकर मैं हैरान रह गया था. 
indiatimes
दया का किरदार करने के दौरान अक्सर पुलिस वालों से मिलना होता था. इस दौरान कुछ तारीफ़ करते तो कुछ लोग बोलते कि तुम लोग इतनी जल्दी मामले की गुत्थी सुलझते हुये दिखा देते हो तो हमें दिक्कत हो जाती है. लोग हमसे पूछते हैं कि CID वाले तो बड़ी जल्दी केस सॉल्व कर देते हैं. आप लोग इतना टाइम क्यों लगाते हो? कुछ पुलिसवालों ने बताया कि उनके बच्चे भी तंज कसते हैं कि आप लोग ऐसे ही सिर्फ़ गन लेकर घूमते हो. देखो दया कैसे फ़ायर करता है. 
financialexpress

इन फ़िल्मों में आएंगे नज़र  

दयानंद शेट्टी जल्द ही फिल्म ‘द क्रिएटर’ नाम की फ़िल्म में नज़र आने वाले हैं. इस फ़िल्म में वो पहली बार अपनी इमेज से अलग हटकर नासा साइंटिस्ट की भूमिका में नज़र आएंगे. निर्माता करण जौहर की फ़िल्म ‘गोविंदा नाम मेरा’ में वो विक्की कौशल के साथ भी दिखाई देंगे. इसके अलावा दया मराठी फ़िल्म ‘गरम केतली’ में भी नज़र आएंगे. 

Darwaza Tod Do Daya……