अब्बास-मस्तान की फ़िल्म बाज़ीगर हिंदी सिनेमा की सुपरहिट थ्रिलर फ़िल्मों में से एक है. इसे 25 साल पहले आज के ही दिन रिलीज़ किया गया था. शाहरुख खान के नेगेटिव रोल, शिल्पा शेट्टी के डेब्यू और काजोल की पहली हिट के तौर पर याद किया जाता है इसे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस फ़िल्म के दो क्लाइमैक्स सीन फ़िल्माए गए थे.

thequint

दरअसल, बाज़ीगर को फ़िल्माने में काफ़ी दिक्कतें आई थीं. पहले तो शाहरुख वाले रोल को कोई भी एक्टर करने को तैयार नहीं था. दूसरा उस समय देश में बाबरी मस्जिद के दंगे हो गए थे, जिसके कारण इसकी शूटिंग कई दिनों के लिए टालनी पड़ी थी.

Film Companion

ऐसी ही तमाम बातों को फ़िल्म के डायरेक्टर अब्बास-मस्तान ने द क्विंट को दिए अपने एक इंटरव्यू में शेयर किया है. उन्होंने बताया कि इस फ़िल्म का अंत वेटरन एक्ट्रेस राखी जी को कुछ ठीक नहीं लग रहा था. वो इसमें हीरो को मरता हुआ नहीं, बल्कि उसे पुलिस के हाथों गिरफ़्तार होते दिखाना चाहती थीं. 

कई डिस्ट्रीब्यूटर्स भी ऐसा ही अंत चाहते थे, ताकी लोगों के इमोशन्स को ठेस न पहुंचे. इसलिए इसे दो एंडिंग के साथ शूट किया गया था लेकिन पहले वाला सीन सभी को पसंद आया. इसलिए इसे मौजूदा क्लाइमैक्स के साथ ही रिलीज़ किया गया था. यही इसकी यूएसपी बना. फ़िल्म तो सुपरहिट हुई ही, तीनों स्टार्स का सितारा भी चमक उठा.

NDTV

इस फ़िल्म का सीक्वल बनने की ख़बरें आती रहती हैं. इस बारे में अब्बास-मस्तान ने कहा कि अगर उन्हें कोई अच्छी स्क्रिप्ट मिली, तो वो ज़रूर इसका सीक्वल बनाएंगे.