आज कल दूरदर्शन पर बहुत से म्यूज़िकल प्रोग्राम आते हैं, पर वो भी एक दौर था जब उस पर चित्रहार जैसा म्यूज़िक शो आता था. इसे हर शुक्रवार प्राइम टाइम पर प्रसारित किया जाता था. आधे घंटे के इस प्रोग्राम में आने वाले नये-ताज़े गाने सुन कर दिल को जो सुकून मिलता था, उसे शायद शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. सीधे शब्दों में कहें, तो चित्रहार वो म्यूज़िक शो था, जो आज भी हमारे ज़हन में बसा हुआ है.

इस शो की होस्ट तराना राजा थीं और वो आधे घंटे तक नये-नये गाने सुना कर हमारा मनोरंजन करती थीं. एक ओर जहां नये-नये गाने सुनकर दिल को राहत मिलती थी, वहीं तराना राजा को सुनना भी काफ़ी अच्छा लगता था.

Chitrahaar
Source: deepawali

शो के दौरान वो ये भी बताती थीं कि कौन सा गाना इस हफ़्ते टॉप पर रहा. टीवी में तेज़ आवाज़ में अपने पसंदीदा गाने सुनने का अलग ही मज़ा था. चित्रहार के प्रति ये दीवानगी सिर्फ़ इंडिया में ही नहीं थी, बल्कि ये कार्यक्रम विदेशों में भी काफ़ी प्रचलित था. इसके अलावा तराना राजा की एकरिंग को भी ख़ूब सराहा जाता था. उनके घुंघराले बाल और बोलने का स्टाइल लोगों को शो से जोड़े रखता था.

Tarana
Source: tellychakkar

हर हफ़्ते बस यही इंतज़ार रहता था इस बार चित्रहार में कौन सा नया गाना सुनाया जायेगा और कौन सा गाना पहले नबंर पर होगा.

इस शो के पहले एपिसोड का प्रसारण 1982 में किया गया था, जो कि आज तक उस दशक के बच्चों के दिलो में है. गानों की वो लिस्ट कब हमारी यादों की लिस्ट बन गई पता ही नहीं चला.

चित्रहार को लेकर अपनी यादें कमेंट बॉक्स में लिखना मत भूलना.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.