Father Son Duo : आपने ऐसा कई बार देखा होगा कि किसी बॉलीवुड (Bollywood) मूवी के हिट होने के बाद, कई बार फ़िल्ममेकर्स उसके फिर से हिट होने की आस में उसी नाम से एक नई स्टोरीलाइन के साथ एक नई मूवी बनाते हैं. कभी-कभी ये अंधविश्वास सही साबित हो जाता है, तो कभी ये ग़लत भी हो जाता है. लेकिन फिर भी ये ट्रेंड सालों से चल रहा है.

ऐसी कई बॉलीवुड मूवीज़ हैं, जिसमें पिता-बेटे की जोड़ी ने सेम टाइटल की अलग-अलग मूवीज़ में काम किया है. आइए आपको उन्हीं मूवीज़ के बारे में बता देते हैं. 

1. सुनील दत्त और संजय दत्त (गुमराह, नहले पे दहला)

एक्टर सुनील दत्त ने अपना करियर रेडियो जॉकी के रूप में शुरू किया था. इसके बाद उन्होंने 1955 में फ़िल्म ‘रेलवे प्लेटफॉर्म’ से अपने करियर की शुरुआत की थी. इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. उनके बेटे संजय दत्त ने भी बॉलीवुड में अपनी एक अलग पहचान बनाई है. सुनील दत्त और संजय दत्त एक नहीं बल्कि, एक नाम की तीन अलग मूवीज़ में नज़र आ आए हैं. 1963 में सुनील दत्त ने फ़िल्म ‘गुमराह‘ की थी. इसके तीस साल बाद संजय इसी नाम की मूवी में श्रीदेवी के साथ नज़र आए थे. इसके अलावा ‘नहले पे दहला’, ‘ज़मीन आसमां’ भी इसी लिस्ट में शामिल हैं. 

Father Son Duo
reddit

ये भी पढ़ें: इन 14 हॉलीवुड और बॉलीवुड स्टार्स की शक्ल देखकर, कोई भी कहेगा ‘आईला जुड़वा!’

2. राज कपूर और ऋषि कपूर (सरगम)

बॉलीवुड की सबसे फ़ेमस पिता-बेटे की जोड़ी में राज कपूर र ऋषि कपूर का नाम भी शामिल है. ऋषि कपूर ने राज कपूर की फ़िल्म ‘मेरा नाम जोकर’ से अपना करियर शुरू किया था, जिसमें उन्होंने यंग राज कपूर का क़िरदार निभाया था. 1950 में राज कपूर ने रेहाना के साथ रोमांटिक फ़िल्म ‘सरगम’ की थी. इसके कुछ सालों बाद 1979 में उनके बेटे ने भी इसी टाइटल से जया प्रदा के साथ मूवी की.

twitter

3. जीतेंद्र और तुषार कपूर (इंसान)

रवि कपूर के नाम से जन्मे जीतेंद्र अपने यूनिक डांसिंग और एक्टिंग स्किल्स के नाम से जाने जाते हैं. वो 1960s, 70s, और 80s में अपने करियर के पीक पर थे. उनके बेटे तुषार कपूर ने गोलमाल सीरीज़ में अपने रोल ‘लकी’ के कैरेक्टर में पॉपुलैरिटी हासिल की थी. 1982 में जीतेंद्र को नरेंद्र बेदी की एक्शन फ़िल्म ‘इंसान’ में काम करने का मौका मिला था. वहीं, तुषार कपूर भी 2005 में के सुभाष की मल्टी-स्टारर मसाला फ़िल्म ‘इंसान’ में नज़र आए थे.

elcinema

4. विनोद खन्ना और अक्षय खन्ना (हंगामा, आप की ख़ातिर, क़ुदरत, हलचल)

एक्टर से राजनेता बने विनोद खन्ना बॉलीवुड फ़िल्मों में अपने बेहतरीन काम के लिए जाने जाते हैं.  उनके बेटे अक्षय खन्ना ने भी फ़िल्मी जगत में अपनी ख़ुद की एक पहचान बनाई है. विनोद खन्ना 1971 में कॉमेडी फ़िल्म ‘हंगामा‘ में नज़र आए थे. वहीं, अक्षय की इसी नाम से फ़िल्म साल 2003 में आई थी. इसके अलावा 1977 में रेखा के साथ विनोद रोमांटिक फ़िल्म ‘आप की खातिर’ में नज़र आए थे. वहीं, अक्षय ने प्रियंका चोपड़ा के साथ साल 2006 में इसी नाम से फ़िल्म की थी. इसके अलावा क़ुदरत, हलचल भी इस लिस्ट में शामिल हैं.  

newslati

5. धर्मेन्द्र और सनी देओल (दिल्लगी, डकैत)

बॉलीवुड के ‘ही-मैन’ धर्मेन्द्र ने अपने करियर में तकरीबन 300 फ़िल्मों में काम किया है. अपने पिता की तरह धर्मेन्द्र के बेटे बॉबी और सनी देओल भी बॉलीवुड इंडस्ट्री में सक्रिय हैं. धर्मेन्द्र 1978 में हेमा मालिनी के साथ कॉमेडी ड्रामा ‘दिल्लगी’ में नज़र आए थे. वहीं, उनके बेटे 1999 में इसी नाम की मूवी में दिखाई दिए थे. इसके अलावा 2000 में धर्मेद्र की मूवी ‘डकैत’ रिलीज़ हुई थी. वहीं, 1987 में सनी देओल मीनाक्षी शेषाद्री के साथ इसी नाम की मूवी में फ़ीचर हुए थे. 

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड की मां-बेटे की जोड़ी वाला ये क्विज़ खेलो और बता दो कि सबसे बड़ा फ़िल्मी कीड़ा तुम ही हो

6. अमिताभ बच्चन और अभिषेक बच्चन (दोस्ताना)

बॉलीवुड के सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों में से एक, अमिताभ बच्चन 1970 और 1980 के दशक के दौरान सबसे प्रभावशाली अभिनेता थे, जो आज भी अपने काम से दर्शकों को प्रभावित करते हैं. उन्हें अक्सर बॉलीवुड के ‘एंग्री यंग मैन’ के रूप में जाना जाता है. इस सुपरस्टार के घर जन्मे, अभिनेता अभिषेक बच्चन ने अपने करियर की शुरुआत जे.पी. दत्ता की रिफ्यूजी (2000) से की.

अमिताभ बच्चन ने राज खोसला की 1980 की एक्शन ड्रामा ‘दोस्ताना’ में ‘विजय’ की भूमिका निभाई, जिसमें शत्रुघ्न सिन्हा और ज़ीनत अमान ने अभिनय किया था. दूसरी ओर, अभिषेक बच्चन ने तरुण मनसुखानी की रोमांटिक कॉमेडी ‘दोस्ताना’ में एक्टिंग की, जिसमें जॉन अब्राहम और प्रियंका चोपड़ा उनके को-स्टार थे.

आपकी इनमें से कौन सी मूवी फ़ेवरेट है?