'तेरी तो गिली हो गई, मेरी तो लाल पीली हो गई'

'ज़रा ज़ोर से बोलेगा? ऐसा लग रहा जैसे तू चॉकोबार चूस रहा है'

'इतने बड़े आदमी पर छोटा पोपट पहली बार देखा है'

डायलॉग हैं हॉलीवुड फ़िल्म 'डेडपूल 2' के. हिंदी में ये फ़िल्म तो देखी ही होगी. अगर नहीं देखी है, तो देख लीजिये मज़ा आ जायेगा. वैसे अपने एक चीज़ पर ध्यान दिया है कि जब-जब हॉलीवुड फ़िल्म की हिंदी डबिंग की गई है, तब-तब उसके टाइटल से लेकर फ़िल्म तक की धज्जियां उड़ गई हैं. यानि बॉलीवुड वालों ने अच्छी फ़िल्मों का सत्यानाश कर डाला है.

जैसे इन फ़िल्मों के नाम पर ग़ौर फ़रमाइएगा:

1. नाम में क्या रखा है साहब?

2. काफ़ी क्रिएटिव लोग हैं इंड्रस्टी में.

3. फ़िल्म देखने से पहले लोगों की नाम पर ही हाय निकली होगी.

4. शायद नाम पर कुछ ज़्यादा ही फ़ोकस कर दिया.

5. इससे फ़नी भी कुछ हो सकता है क्या?

6. अंग्रज़ी से नहीं, इतनी ख़तरनाक हिंदी से डर लगता है.

7. दिल पर पत्थर रख कर भी तारीफ़ नहीं निकल पा रही.

8. नकल में थोड़ी अक्ल लगा देते.

9. शायद इन्होंने टाइटल पर दिमाग़ लगाना उचित नहीं समझा.

10. सोचने पर मजबूर कर दिया.

11. नाम पर मत जाना जनाब.

12. वैसे, मूवी कैसी थी?

13. क्या-क्या बना डालते हैं बॉलीवुड वाले.

14. मूवी से नहीं, उसके टाइटल से डर लगता है जनाब.

15. तौबा-तौबा, हद है.

16. बस ऐसा ही कुछ देखना बाकी रह गया था.

17. नाम को अप्रूव करने वाले की हिम्मत को सलाम.

18. बेचारों ने बहुत मेहनत की.

नामों पर अपनी राय देने के लिये कमेंट कर सकते हैं.