कविता कृष्णमूर्ति पिछले कई दशकों से हिंदी सिनेमा में सक्रीय हैं. उनकी गिनती इंडस्ट्री के बेस्ट सिंगर्स में की जाती है. हालांकि, उन्होंने बहुत कम ही गाने गाए हैं, लेकिन जितने भी गाने गाए हैं, उन्हें हमेशा-हमेशा के लिए यादगार बना दिया. यक़ीन न आए तो एक बार गूगल पर उनके गाने सर्च कर लेना सभी अपने ज़माने के सुपरहिट गाने होंगे. जैसे आज मैं ऊपर आसमान नीचे, प्यार हुआ चुपके से, तुम हो पास मेरे…

ख़ैर आज बात करेंगे उस दिलचस्प क़िस्से की जब कविता कृष्णमूर्ती को उनका पहला ब्रेक मिला था.

kavita krishnamurthy
Source: tickettailor

8 साल की उम्र में कविता कृष्णमूर्ती ने एक म्यूज़िक कॉम्पिटिशन में हिस्सा लिया था. इसमें उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था और तभी से ही वो सिंगिंग में करियर बनाने के बारे में सोचने लगीं. कविता को बचपन से ही लता मंगेशकर और मन्ना डे के गाने सुनने और उन्हें गुनगुनाने का शौक़ था. ग्रेजुएशन करने के बाद वो मुंबई में सिंगिंग के क्षेत्र में काम तलाशने लगीं.

kavita krishnamurthy
Source: radioandmusic

इसी दौरान उनकी मुलाक़ात मशहूर सिंगर हेमंत कुमार की बेटी रानू मुखर्जी से हुई. इस तरह संगीत की दुनिया में एक आशा की किरण नज़र आई. इन्हीं दिनों में उन्होंने रेडियो पर कई जिंगल्स भी गाए, लेकिन अभी भी उन्हें बॉलीवुड में पहले ब्रेक की दरकार थी. ये मौक़ा उन्हें मिला लता मंगेशकर की वजह से.

kavita krishnamurthy
Source: amarujala

दरअसल, 'प्यार झुकता नहीं' के एक गाने की रिकॉर्डिंग हो रही थी. तब लता जी के न आने पर रवींद्र जी ने कविता कृष्णमूर्ति से उनके गाने कुछ मुखड़े दोहराने को कहा. ये वो दौर था जब कविता लता जी के डेमो गाया करती थीं. कविता ने गाना गाया और लता जी को उनका ये गाना बहुत पसंद आया और उन्होंने रवींद्र जी से कहा इसी बच्ची से आप मेन गाना रिकॉर्ड करवा लीजिए. इस तरह कविता को प्यार झुकता नहीं के गाने 'तुमसे मिलकर ना जाने क्यों...' के रूप में पहला ब्रेक मिला.

kavita krishnamurthy

ये गाना लता और शब्बीर जी ने डूइट में गाया था, जो काफ़ी हिट हुआ था. मगर इसी फ़िल्म में एक बच्चा अपनी मां के लिए ये गाना गाता है, उसे कविता कृष्णमूर्ती ने अपनी आवाज़ दी थी. ये गाना आप यहां सुन सकते हैं.

इस गाने ने बॉलीवुड में कविता को नई पहचान दिलाई और उसके बाद कविता ने एक से बढ़कर एक गीत गाए. उन्हें चार बार फ़िल्म फ़ेयर के बेस्ट प्लेबैक सिंगर अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है. साल 2005 में उन्हें पद्मश्री अवॉर्ड भी दिया गया था.

kavita krishnamurthy
Source: imdb

लता और कविता कृष्णमूर्ति से जुड़ा ये पूरा क़िस्सा आप यहां सुन सकते हैं.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.