पहलाज निहलानी भले ही अब 'सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ फ़िल्म सर्टिफ़िकेशन' के चेयरपर्सन न हों, लेकिन आज भी सीबीएफ़सी के अजीबो-ग़रीब फ़ैसलों से फ़िल्म मेकर्स के पसीने छूट रहे हैं. 

Source: monsieurvintage

दरअसल, सीबीएफ़सी चेयरपर्सन रहते पहलाज निहलानी अपने पीछे एक ऐसी लेगेसी छोड़ गए हैं, जिसकी अब भी किरकिरी हो रही है. इस पद पर रहते निहलानी ने कई ऐसी फ़ैसले लिए जिनका फ़िल्म मेकर्स ने काफ़ी विरोध किया. यही कारण था कि उन्हें मज़बूरन चेयरपर्सन पद से हटाना पड़ा था. 

Source: premiumbeat

Christian Bale-Matt Damon स्टारर अपकमिंग हॉलीवुड फ़िल्म 'Ford v Ferrari' पर भी सेंसर बोर्ड की कैंची चल गयी है. सेंसर बोर्ड ने फ़िल्म के मेकर्स को फ़िल्म के दृश्यों में दिखाई गई शराब की बोतलों और ग्लास को धुंधला करने के लिए कहा है. 

Source: monsieurvintage

हफ़पोस्ट इंडिया ने फ़िल्म के कुछ ऐसे दृश्यों जिनमें शराब की बोतलों और गिलास का इस्तेमाल हुआ है उन्हें धुंधला करके दिखाया है. रिज़ल्ट आपके सामने है. 

Source: huffingtonpost

फ़िल्म में सिर्फ़ शराब के दृश्य ही नहीं, बल्कि कई अन्य दृश्यों पर भी सेंसर बोर्ड की कैंची चली है. फ़िल्म के 'Son of a Bitch' जैसे कई अन्य डायलॉग को भी म्यूट कर दिया गया है. इस कारण कई बार फ़िल्म की कॉन्टीन्युटी भी ब्रेक हो रही है. 

Source: huffingtonpost

डायरेक्टर जेम्स मैनगोल्ड की ये फ़िल्म इस शुक्रवार को भारत में रिलीज़ होने जा रही है. Matt Damon की शानदार अदाकारी के कारण ये फ़िल्म पहले से ही फ़ैंस का अटेंशन पा चुकी है. फ़ैंस बेसब्री से इस फ़िल्म का इंतज़ार कर रहे हैं. 

Source: latimes

फ़िल्म 'Ford v Ferrari' में Matt Damon और Christian Bale ने मशहूर रेसर Carroll Shelby और Ken Miles का किरदार निभाया है. ये दोनों फ़ोर्ड के साथ मिलकर एक ऐसी स्पोर्ट्स कार बनाते हैं जो फ़रारी को फ्रांस की प्रसिद्ध 'ले मैन्स रेस' में हरा देते हैं.