हाल ही में अभिनेत्री कंगना रनौत ने फ़िल्म 'धाकड़' की टीम के साथ शानदार पार्टी करी. तस्वीर सोशल मीडिया पर भी शेयर की गई है. सोशल मीडिया देखते हुए मेरी नज़र भी इस कंगना की पार्टी वाली फ़ोटो पर पड़ी. वो फ़ोटो जिसमें कंगना और उनकी टीम हंस-खिलखिला रही है. चलिये ख़ुशी का मौक़ा है. सबको हंसते हुए देख हमें भी अच्छा लगा. ख़ुशी के इस पल में अगर कोई बात अखरी है, तो वो हैं अर्जुन रामपाल. दिक्कत हमें अर्जुन रामपाल से नहीं हुई, दिक्कत हुई कंगना के बयान से. 

Kangna
Source: indulgexpress

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद जिस तरह कंगना हाथ-पैर धो कर बॉलीवुड के पीछे पड़ी थीं. वो सबने देखा है. बॉलीवुड एक्टर्स को गंजेड़ी-नशेड़ी पता नहीं, क्या-क्या बोला. सारे आम बॉलीवुड पर इतने सवाल दागने के बाद कंगना ने एक बार भी अर्जुन रामपाल के साथ पार्टी करने से पहले सोचा नहीं. अर्जुन पर भी गांजा इस्तेमाल करने का आरोप लगा है. अगर ये सच है, तो कंगना एक गंजेड़ी एक्टर के साथ फ़िल्म या पार्टी कैसे कर सकती हैं? बस यही चीज़ उनकी दोहरी पर्सनैल्टी को दर्शाती है. ख़ैर, ऐसा पहली दफ़ा नहीं. इससे पहले भी कई ऐसे मौक़े हैं, जिन्होंने कंगना की हिपोक्रैसी को दर्शाया है.

1. महेश भट्ट का आभार

हम सब जानते हैं कि कंगना को उनके फ़िल्मी करियर का पहला ब्रेक महेश भट्ट ने दिया था. बॉलीवुड में एंट्री लेने के बाद कंगना ने महेश भट्ट और अनुराग बासु का शुक्रिया भी किया. अजीब बात ये है कि जिन महेश भट्ट ने कंगना को पहला ब्रेक दिया. आज वही अभिनेत्री उन्हें भला-बुरा कहती हैं. सिर्फ़ महेश भट्ट ही नहीं, कंगना तो उनकी बेटी आलिया के पीछे भी पड़ी रहती हैं. अब आप ही बताइये इसे क्या समझा जाये?

2. मुंबई लगी सुरक्षित

कंगना रनौत एक ऐसी अभिनेत्री हैं, जो कब क्या बोल जायें किसी को कुछ पता नहीं होता. कुछ समय पहले उन्होंने उर्मिला मातोंडकर के साथ हुई ज़ुबानी जंग में मुंबई की तुलना 'पाकिस्तान' से की थी. इसके बाद वो हाल ही में मुंबई गई. इसके साथ ही 'सिद्धि विनायक' और 'मुंबा देवी' के दर्शन भी किये. यही नहीं, उन्होंने मुंबई को प्यारा और सुरक्षित शहर भी बताया. मललब कल तक जो मुंबई कंगना को पाकिस्तान लगती थी. वही शहर कुछ ही दिनों में प्यारा हो गया. कंगना के इसी दोगलेपन के लिये लोगों ने उनकी ख़ूब आलोचना भी की थी.

3. नेपोटिज़्म को कोसना

कंगना हमेशा से कहती आ रही हैं कि बॉलीवुड में स्टार किड्स को बढ़ावा दिया जाता है. वो करन जौहर पर नेपोटिज़्म को बढ़ावा देने का आरोप लगा चुकी हैं. वो बात और है कि कुछ साल पहले ख़ुद कंगना ने नेपोटिज़्म को सही ठहराया था. जिन लोगों को यकीन न हो वो वीडियो देख लें.

4. संजय दत्त के लिये मीठे बोल

कंगना कहती हैं बॉलीवुड में उनके साथ भेदभाव किया गया है और वो ड्रग माफ़िया का अड्डा है. ड्रग, नेपोटिज़्म और ख़ुद के साथ हुए अत्याचार पर बात करने वाली कंगना ने एक दिन संजू बाबा के साथ तस्वीर पोस्ट की. तस्वीर में वो संजय दत्त के साथ बेहद ख़ुश दिखाई दे रही हैं. यही नहीं, उन्होंने संजय दत्त की अच्छी हेल्थ की कामना भी की. एक तरफ़ वो बॉलीवुड पर तमाम आरोप लगाती हैं और दूसरी तरफ़ कंगना नेपोटिज़्म से निकले स्टार संजय दत्त के साथ फ़ोटो पोस्ट करती हैं. आखिर अभिनेत्री की दिक्कत है क्या?

ये वो चंद मौक़े थे, जब कंगना सरेआम अपने बयानों से पलटी और वो किया, जो वो करना चाहती थीं. कंगना जो करना चाहती हैं करें, पर दोगली बातें क्योंं. अगर आप ख़ुद को झांसी की रानी कहती हैं, तो अकेले लड़ना काफ़ी नहीं है. अपनी बातों और वचन पर भी खरा उतरना पड़ता है. लड़ाई शुरू की है, तो उसे ख़त्म भी ख़ुद करिये. फ़ैंस को कंफ्यूज़ न करें प्लीज़. ऐसी बातों से सिर्फ़ आपकी हिपोक्रेसी झलकती है.