कारगिल वॉर के हीरो शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा के जीवन पर बन रही फ़िल्म 'शेरशाह' का फ़र्स्ट लुक जारी कर दिया गया है. फ़िल्म में बॉलीवुड एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा शहीद विक्रम बत्रा का किरदार निभाने जा रहे हैं.

Source: navbharattimes

फ़िल्म मेकर करण जौहर ने ट्विटर पर फ़िल्म का पोस्टर शेयर किया है. करण ने फ़िल्म के दो पोस्टर शेयर किए जिसमें सिद्धार्थ वर्दी में जवानों के बीच नज़र आ रहे हैं.

पोस्टर के साथ ही करण ने लिखा, इस फ़िल्म ज़रिए हम 'कारगिल वॉर' के हीरो विक्रम बत्रा के सम्मान में उन्हें सिर झुकाकर नमन करते हैं. इस फ़िल्म के ज़रिए हम उन्हें श्रद्धांजलि देते हैं.

'शेरशाह' करगिल वॉर के हीरो कैप्टन विक्रम बत्रा की बायोपिक है. फ़िल्म में सिद्धार्थ मल्होत्रा के साथ कियारा आडवाणी भी अहम किरदार निभाने जा रही हैं. इस फ़िल्म का निर्देशन विष्णु वर्धन ने किया है.

धर्मा प्रोडक्शन के बैनर तले बन रही 'शेरशाह' फ़िल्म में दर्शकों को कारगिल वॉर के रियल हीरो कैप्टन विक्रम बत्रा की शौर्य गाथा देखने को मिलेगी. ये फ़िल्म 3 जुलाई को रिलीज़ होने जा रही है.

इस फ़िल्म का टाइटल कैप्टन विक्रम बत्रा के नाम पर रखा गया है. दरअसल, कैप्टन बत्रा की बहादुरी के कारण उनके साथी उन्हें 'शेरशाह' कहकर पुकारते थे.

Source: navbharattimes

जानकारी दे दें कि 'कारगिल वॉर' के दौरान कैप्टन विक्रम बत्रा और उनकी छोटी सी टीम को श्रीनगर-लेह मार्ग के ठीक ऊपर सबसे महत्त्वपूर्ण 5140 चोटी को पाक सेना से मुक्त कराने की ज़िम्मेदारी मिली थी. बेहद दुर्गम क्षेत्र होने के बावजूद कैप्टन बत्रा ने अपने साथियों के साथ 20 जून 1999 को सुबह 3:30 बजे पर इस चोटी को अपने कब्ज़े में ले लिया.

Source: indiatvnews

इस दौरान कैप्टन विक्रम बत्रा ने जब इस चोटी से रेडियो के ज़रिए अपना विजय उद्घोष 'ये दिल मांगे मोर' कहा तो सिर्फ़ भारतीय सेना ही नहीं बल्कि पूरे देश में कैप्टन विक्रम बत्रा के साहस की चर्चा होने लगी. इस दौरान विक्रम के कोड नाम 'शेरशाह' के साथ ही उन्हें 'कारगिल का शेर' उपनाम भी दिया गया.

Source: amarujala

कैप्टन विक्रम बत्रा को मरणोपरांत भारत के सर्वोच्च वीरता सम्मान 'परमवीर चक्र' से सम्मानित किया गया था.