मार्वल सीरीज़ के आयरन मैन, स्पाइडर मैन और फ़लाने-ढीमकाने सुपरहीरोज़ चाहें कितने भी हिट हो जाएं, लेकिन 90s के बच्चों के दिल के एक कोने में शक्तिमान (Shaktimaan) की जगह हमेशा स्पेशल रहेगी. उस ज़माने में इस हिंदुस्तानी सुपरहीरो का रौला ही अलग था. स्कूल का होमवर्क तो क्या दुनिया का ज़रूरी से ज़रूरी काम भी आ जाए, तो भी किसी की मजाल न थी कि रविवार को दोपहर 12 बजे अपुन को टीवी स्क्रीन के सामने से कोई हटा पाए. इस टाइमिंग पर शक्तिमान जो आता था. कोई छोटी-मोटी बात थोड़ी है.

शक्तिमान (Shaktimaan) की टीआरपी छप्परफाड़ थी. उतनी टीआरपी बटोरना आज कल के टीवी शोज़ के बस की बात नहीं होगी. कहने का मतलब है उनसे चाह कर भी न हो पाएगा. इस सीरियल में शक्तिमान के कई विलेन थे, लेकिन उसका एक परमानेंट विलेन था. जिसे हम 'डॉक्टर जैकाल' के नाम से जानते हैं. जी हां, वहीं 'डॉक्टर जैकाल' जिसने 'पॉवर' बोलकर शक्तिमान की नाक में दम कर रखा था.

shaktimaan
Source: indiatvnews

अपने क़रीब 520 एपिसोड पूरे करके ये शो तो बंद हो गया. उसके साथ ही डॉक्टर जैकाल का किरदार निभाने वाले ललित परिमू भी टीवी की दुनिया में गुमनाम हो गए. उन्हें हाल ही में पॉपुलर वेब सीरीज़ 'स्कैम 1992' में देखा गया था. आइए जानते हैं आजकल कहां हैं डॉक्टर जैकाल.

ये भी पढ़ें: देखना चाहते हो कि 'शक्तिमान' सीरियल में यादगार किरदार निभा चुके ये 6 स्टार्स अब कैसे दिखते हैं?

'शक्तिमान' सीरियल ने दिलाई पहचान

डॉक्टर जैकाल से घर-घर में अपनी पहचान बनाने वाले ललित परिमू ने रोल्स तो बहुत किए. लेकिन जो पॉपुलैरिटी उन्हें 'शक्तिमान' सीरियल से मिली, वो लोकप्रियता उन्हें और कोई शो नहीं दिला सका. 'पॉवर’ शब्द को बेहद पॉवर से बोलने वाले ललित परिमू का शक्तिमान में रोल एक ग्रेट शैतान साइंटिस्ट का था. ये साइंटिस्ट शक्तिमान के सबसे बड़े दुश्मन और शैतानों के सरदार तमराज किलविश के लिए काम करता है. डॉक्टर जैकाल ने अपने शैतानी दिमाग़ से और कई सारे विलेन को धरती पर जन्म दिया था. 

कई फ़िल्मों के मिले ऑफर

शक्तिमान के ऑफ़ एयर होने के बाद ललित की तो जैसे लॉटरी लग गई थी. इसके बाद उन्हें कई फ़िल्मों के ऑफ़र आए, जिसे एक्टर ने खुली बाहों से एक्सेप्ट किया. इसमें 'हज़ार चौरासी की मां', 'हम तुम पर मरते हैं', 'एजेंट विनोद' और 'हैदर' जैसी फ़िल्में शामिल हैं. इन मूवीज़ में अपनी एक्टिंग से ललित ने लोगों की ख़ूब वाहवाही बटोरी थी. आख़िरी बार वो पॉपुलर वेब सीरीज़ 'स्कैम 1992' में नज़र आए थे.

dr jackal
Source: twitter

लेखन में भी आज़माया हाथ

ललित परिमू को लेख़न का भी शौक है. उन्होंने 'मैं मनुष्य हूं' नामक एक क़िताब लिखी है. 

ये भी पढ़ें: सॉरी शक्तिमान, लेकिन तुमने इन 10 मौकों पर Logic की बेरहमी से हत्या कर हमें अच्छा बेवक़ूफ़ बनाया

चलाते हैं एक्टिंग एकेडमी

ललित ने क़रीब 100 से ज़्यादा टीवी सीरियल्स में काम किया है. उनके अभिनय की जितनी भी तारीफ़ें की जाएं, वो कम हैं. फ़िल्मों और सीरियल्स में निभाए जाने वाले कैरेक्टर में ललित पूरी जान झोंक देते हैं. मौजूदा समय में वो एक एक्टिंग एकेडमी चलाते हैं. एक्टिंग क्षेत्र में अपना करियर बनाने की इच्छा रखने वाले बड़े और बच्चे दोनों ही इस एकेडमी का रुख़ करते हैं. 

lalit parimoo
Source: timesofindia

ललित चाहें कोई भी कैरेक्टर में नज़र आए, लेकिन 'डॉक्टर जैकाल' की जगह कोई नहीं ले पाएगा.