वेब सीरीज़ हो या फ़िल्म दोनों में ही बायोपिक की लहर आई हुई है. इन कैरेक्टर्स को फ़िल्मों और वेब सीरीज़ में देखकर हम सोच में पड़ जाते हैं कि इनके पीछे का असली चेहरा कैसा होगा. हाल ही में आई हंसल मेहता की वेब सीरीज़ ‘Scam 1992’ काफ़ी चर्चा का विषय बनी हुई है, जो शेयर बाज़ार के घोटाले पर आधारित है. इसे पत्रकार सुचेता दलाल और देबाशीष बसु की बुक ‘The Scam: Who Won, who Lost, who Got Away, Scam 1992’ से लिया गया है और इसे इस साल की बेस्ट वेब सीरीज़ में से एक माना जा रहा है. 

asiamediajournal

आइए आपको मिलवाते हैं, इस वेब सीरीज़ के हर किरदार के पीछे छुपे असली चेहरे से:

इस वेब सीरीज़ में मुख्य भूमिका निभाने वाले प्रतीक गांधी ने अपने शानदार प्रदर्शन से आलोचकों और जनता का दिल जीता है. हर्षद मेहता के व्यक्तित्व से लेकर उनकी रणनीति और तौर-तरीक़ों को प्रतीक ने बहुत ही अच्छे तरीक़े से ख़ुद में ढाला है.

2. अश्विन मेहता

हेमंत खेर ने हर्षद मेहता के भाई अश्विन मेहता की भूमिका निभाई है, जो हर्षद मेहता की फ़र्म में स्टॉकब्रोकर भी थे. इन्होने इन 50 सालों के बीच में वक़ील की डिग्री हासिल की और 2018 में उन्हें हर्षद मेहता से जुड़े हर केस से बरी कर दिया गया.

3. ज्योति मेहता

अंजलि बारोट ने ज्योति मेहता यानि हर्षद मेहता की पत्नी की भूमिका निभाई है. 2014 में ज्योति मेहता ने मुंबई के एक ब्रोकर के ख़िलाफ़ हर्षद मेहता से धोखे से 6 करोड़ लेने का मुक़दमा दायर किया था, उन्होंने ये केस 2019 में जीत लिया था.

4. प्रणव सेठ का किरदार केतन पारेख पर आधारित है

जय उपाध्याय ने सीरीज़ में प्रणव सेठ की भूमिका निभाई है, जो कि पूर्व स्टॉकब्रोकर केतन पारेख से प्रेरित है. चार्टर्ड अकाउंटेंट पारेख भी हर्षद मेहता की फ़र्म GrowMore इन्वेस्टमेंट का एक हिस्सा थे, लेकिन 1992 Scam के दोषी नहीं थे. हालांकि, उन्हें भारतीय शेयर बाज़ार में 2001 के स्टॉक हेरफे़र में शामिल होने के चलते 2017 तक बैन कर दिया गया था.

5. सुचेता दलाल

श्रेया धनवंतरी ने हाई-प्रोफ़ाइल हर्षद मेहता स्कैम की जांच के दौरान TOI के साथ काम कर रही पत्रकार और लेखक सुचेता दलाल की भूमिका निभाई है. उन्होंने एनरॉन घोटाले सहित कई उच्च प्रोफ़ाइल धोखाधड़ी मामलों की जांच और रिपोर्ट की. इनमें भारतीय औद्योगिक विकास बैंक घोटाला और 2001 केतन पारेख घोटाला शामिल है. साथ ही पद्म श्री सम्मानित सुचेता दलाल बुक ‘द स्कैम’ की सह लेखक भी हैं. 

6. देबाशीष बसु

फ़ैसल राशिद ने सुचेता दलाल के पति, पुस्तक के सह-लेखक देबाशीस बासु की भूमिका निभाई है. वो 1992 में हर्षद मेहता घोटाले की जांच करने वाले पत्रकारों में से एक थे. वो वर्तमान में निवेश के साथ मैगज़ीन मनीलाइफ़ चलाते हैं.

7. मनु मुंद्रा का किरदार मनु मानेक पर आधारित है

imdb

सतीश कौशिक द्वारा अभिनीत चरित्र मनु मुंद्रा स्पष्ट रूप से 80 के दशक में शेयर बाज़ार के किंगपिन के जीवन पर आधारित है, जिसे कुख्यात रूप से ‘ब्लैक कोबरा’ के रूप में जानते हैं. ये अफ़वाह है कि उन्होंने उस समय के दौरान सबसे बड़े कार्टल्स में से एक, मारवाड़ी बियर कार्टेल का नेतृत्व किया था. मनु मानेक को किसी भी शेयर बाज़ार घोटाले में कभी भी बुक नहीं किया गया था.

8. माहेश्वरी का किरदार राधाकिशन दमानी पर आधारित है

परेश गणात्रा ने माहेश्वरी का किरदार निभाया है, जो डीमार्ट के संस्थापक, व्यवसायी और निवेशक राधाकिशन दमानी पर आधारित है. हालांकि, उन पर किसी भी घोटाले का आरोप नहीं था, लेकिन वो स्टॉक हेरफे़र के लिए बदनाम मनु मानेक और हर्षद मेहता दोनों से जुड़े थे. उन्होंने 2000 के दशक में शेयर बाज़ार छोड़ दिया. आज, दमानी 17.8 बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ भारत के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति हैं.

9. राकेश का किरदार राकेश झुनझुनवाला पर आधारित है

कविन दवे ने राकेश की भूमिका निभाई है, जो व्यवसायी राकेश झुनझुनवाला से प्रेरित है, जिन्हें वर्तमान समय में ‘स्टॉकहोम का राजा’ कहा जाता है. ज़ाहिर तौर पर, हर्षद मेहता की गिरफ़्तारी और स्टॉक मार्केट में आई गिरावट को झुंझुनूंवाला ने अपने नियंत्रण में ले लिया. राकेश ने शेयर बाज़ार से जुड़ी बातों की बारीकि़यों को जानने का श्रेय राधाकिशन दमानी को दिया और वो दमानी को अपना गुरु मानते हैं.

10. राम जेठमलानी

मिथिलेश चतुर्वेदी ने स्वर्गीय राम जेठमलानी, वक़ील और पूर्व राज्यसभा सदस्य की भूमिका निभाई है. इन्होंने हर्षद मेहता की रक्षा करने वाली क़ानूनी टीम का नेतृत्व किया था.