दुनिया में कुछ लोगों की पर्सनालिटी ऐसी होती है, जिसे देखकर ही लगता है कि इनकी लाइफ़ पर तो फ़िल्म बननी ही चाहिए. बाला साहेब ठाकरे भी एक ऐसी ही शख़्सियत थे. अपनी रसूख़दार, विवादास्पद और जननेता की छवि के चलते वो एक बायोपिक तो डिज़र्व करते ही हैं और नवाजुद्दीन सिद्दीकी आखिरकार ठाकरे को पर्दे पर लेकर आ गए हैं.

महान लेखक मंटो की बायोपिक के बाद नवाज़ अब बाल ठाकरे की बायोपिक में नज़र आने वाले है और वाकई उनके लुक को देखकर कहा जा सकता है कि बाला साहेब ठाकरे के चरित्र को पर्दे पर जीवंत करने के लिए वो एकदम फ़िट नज़र आ रहे हैं.

फ़िल्म के टीज़र की शुरुआत ही दंगे के सीन के साथ होती है, जिसमें एक रोता हुआ बच्चा दिखाया गया है, जिसके पास एक पेट्रोल बम आकर फटता है और उसके बाद दंगों का सीन आ जाता है. इसमें नवाज़ एकदम बाला साहेब के अंदाज़ में ही जनसमूह का अभिवादन करते दिख रहे हैं.

Financial Express

नवाज़ इस फ़िल्म के लिए मराठी भाषा की ट्रेनिंग भी ले रहे हैं. नवाज़ को मराठी में डायलॉग बोलने में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में फ़िल्ममेकर्स ने ये फ़ैसला किया कि फ़िल्म के कुछ डायलॉग मराठी में होंगे और बाकी के डायलॉग हिंदी में होंगे.

मिड-डे की ख़बर के मुताबिक, शिवसेना के प्रवक्ता और फ़िल्म के प्रोड्यूसर संजय राउत ने कुछ महीने पहले फ़िल्म के लिए नवाज़ुद्दीन से संपर्क किया था. नवाज़ इस फिल्म के लिए इतने खुश थे कि उन्होंने फ़ीस की डिमांड भी नहीं की और फ़िल्म के लिए हां कर दी.

https://www.youtube.com/watch?v=WnNbu_0ph5w

संजय राउत ने कहा, ‘बाला साहब पर फ़िल्म मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट है. इसे अभिजीत पानसे डायरेक्ट करेंगे. बाकी कलाकारों के नाम अभी फ़ाइनल नहीं किए गए हैं.’ ये फ़िल्म 23 जनवरी को बाला साहेब के जन्मदिन के मौके पर रिलीज़ होगी.