इरफ़ान ख़ान के बेटे बाबिल ख़ान ने कुछ दिनों पहले फ़िल्म निर्माता अनुराग कश्यप के सपोर्ट में पोस्ट डाला था. अनुराग कश्यप पर अभिनेत्री पायल घोष ने सेक्शुअल हैरेसमेंट का केस किया है.

बाबिल ने लिखा था कि लोग उन्हें इसके लिए खरी-खरी सुनाएंगे लेकिन अनुराग पर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं.

ये बहुत शर्म की बात है कि #Metoo जैसे आंदोलन का ग़लत इस्तेमाल किया जा रहा है वो भी एक ऐसे इंसान के ख़िलाफ़ जिसने पितृसत्तामक इंडस्ट्री में समानता की बात की. हम अजीब से वक़्त में जी रहे हैं जहां सच बनाना, सच को बाहर लाने से ज़्यादा आसान है. मैं दुआ करता हूं कि हम विकसित हों. मुझे चिंता है कि ग़लत आरोपों की वजह से महिलाओं पर विश्वास करना कठिन हो रहा है और जिन्हें सही में समर्थन चाहिए वो अंधेरे में ही हैं, ये काफ़ी तकलीफ़देह है.  

बाबिल के इस पोस्ट पर सुतापा सिकदर ने भी अपनी राय रखी और कहा था कि तुम्हें जो सही लगता है तुम उसके लिए खड़े हो ये ठीक है पर मैं उस महिला का साथ दूंगी, तब तक जब तक वो ग़लत साबित नहीं होती. महिलाओं को खुलकर बोलने में ज़माने लग गए हैं.

ये बात-चीत अपने-आप में इतनी ख़ूबसूरत है कि चाहे आप किसी का समर्थन करें या नहीं आपको पढ़नी चाहिए.

जैसा कि बाबिल ने अपनी पोस्ट के कैप्शन में लिखा था लोगों ने उनके खिलाफ़ काफ़ी ओछी बातें लिखीं.

इसके जवाब में बाबिल ने इरफ़ान की तस्वीर के साथ एक और पोस्ट डाला.

पता है क्या मुझे तुम्हारी नफ़रत से आज़ाद होने का एहसास हो रहा है. तुम्हारे पास दूसरों से नफ़रत करने और बिना सोचे-समझे राय बनाने के अलावा कोई काम नहीं है. जो लोग कहते हैं कि वो मेरे पिता को जानते थे मैं अब उन लोगों का सम्मान नहीं कर पाता. मतलब मेरे पिता को मुझ से ज़्यादा जानते हो! मैं और बाबा बेस्ट फ़्रेंड थे, मुझे ये मत सिखाओ कि मेरे पिता क्या करते, उनके विचारों के बारे में जाने बिना कुछ भी बोलना बंद करो. अगर तुम इरफ़ान ख़ान के फ़ैन हो आओ सामने साबित करो, इरफ़ान के Tarkovsky and Bergmann के प्रति लगाव की बात करो. वो तुम सबसे कहीं आगे थे मेरे दोस्त! 
View this post on Instagram

U know what, I have felt a sense of liberation from your hate because I realised, you really don’t have anything to do but hate and form a quick judgemental opinion about an actual human being . So really man, I have truly lost respect for people that claim they know my father, or hahahaha know my father better than me like “oh your father would be so ashamed of you” , Boi or girl shut you mouth, me and baba were the bestest friends don’t try to teach me what my father would have done, don’t jump on a band wagon just cause you can without knowing his true beliefs. If you’re an Irrfan Khan fan, come prove it me, show me his fascinations with Tarkovsky and Bergmann and then we shall probably start a conversation of how much you think you know my father. He was beyond you my friend.

A post shared by Babil (@babil.i.k) on

बाबिल ने पहले भी अपनी राय रखी है और उसे ट्रोलर्स का सामना करना पड़ा है.

Source: NDTV

बाबिल ख़ान, सुतापा सिकदर और इरफ़ान के बड़े बेटे हैं और अक्सर इंस्टाग्राम पर अपनी राय रखते हैं.