स्टार प्लस.
नाम ही काफ़ी है, नहीं? एक ऐसा चैनल, जिसके सीरियल्स ने न सिर्फ़ कई अभिनेताओं को पहचान दिलाई बल्कि अपनी कहानियों से भारतीय घरों में जगह बना ली.

ऐसी कहानियां जो आज भले ही मीमर्स के फ़ेवरेट हों पर एक समय था जब इन कहानियों से लोग ख़ुद को जुड़ा महसूस करते थे.

'कुमकुम' की कहानी हो

'कहानी घर घर की हो'

या फिर 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी'

या 'कसौटी ज़िन्दगी की'

हर उम्र के लोगों ने इन कहानियों को पसंद किया.

इसके साथ ही स्टार प्लस पर एक और शो आता था, साल में एक बार, स्टार परिवार अवॉर्ड्स.

आप सीरियल के फ़ैन रहे हों या न हों पर इस अवॉर्ड शो का वीडियो और गाने की धुन आपके यादों के बक्से में कहीं क़ैद ज़रूर होगी.

इस गाने को अभिजीत और अल्का याग्निक ने अपनी आवाज़ से सजाया था. गाने के वीडियो में सभी सीरियल के किरदार और सीरियल के कुछ सीन थे.

ये गाना इतना बेहतरीन था कि सालों बाद आज भी अगर कोई सुने तो उसे वही वाली फ़ील आएगी. आमतौर पर अवॉर्ड शोज़ की धुन शायद ही किसी को याद रहे. 90s नॉस्टैलजिया से भरपूर इस गाने के कई वर्ज़न आएं. वीडियो के किरदार भी.

जो हमारी नज़रों में बसा है वो तो वही पुराना गाना है. आज कितने भी शोज़ और म्यूज़िक वीडियोज़ आ जाएं, इस गाने का कोई मैच नहीं है.

स्टार परिवार अवॉर्ड्स के कुछ और वीडियोज़-

इन सीरियल्स की आज कितनी भी आलोचना हो लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि ये काफ़ी सिंपल थे.