अमेजन प्राइम की वेब सीरीज़ 'मिर्ज़ापुर-2' एक बार फिर से विवाद में घिर गई है. इस बीच हिंदी के मशहूर उपन्यासकार सुरेंद्र मोहन पाठक ने सीरीज़ के कंटेंट पर सवाल उठाया है. सुरेंद्र मोहन का आरोप है कि सीरीज़ ने उनकी छवि ख़राब करने की कोशिश की है.

Source: hindustantimes

दरअसल, सुरेंद्र मोहन पाठक का आरोप है कि 'मिर्ज़ापुर-2' के एक सीन में उनके लिखे उपन्यास 'धब्बा' के कंटेंट को ग़लत तरीक़े से पेश किया गया है. पाठक द्वारा भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि, 'मिर्ज़ापुर-2' के एक सीन में सत्यानंद त्रिपाठी नाम का किरदार 'धब्बा' नाम के जिस Erotic Novel को पढ़ते नज़र आ रहे हैं. वो उनका हिंदी उपन्यास 'धब्बा' है, जो 2010 में प्रकाशित हुआ था.

Source: indiatoday

उपन्यासकार सुरेंद्र मोहन पाठक ने लिखा, 'मिर्ज़ापुर-2' में सत्यानंद त्रिपाठी उपन्यास पढ़ने के दौरान बलदेव राज नाम के किसी शख़्स का जिक्र कर रहे हैं, लेकिन मेरे इस उपन्यास में इस नाम का ऐसा कोई पात्र नहीं है. कई रीडर जिन्होंने ये नॉवेल नहीं पढ़ा उन पर ग़लत इम्प्रेशन पड़ सकता है. लोग सोचेंगे कि मैंने पब्लिसिटी पाने के लिए पॉर्नोग्राफ़ी लिख डाली. मैं इसे अपने ख़िलाफ़ साजिश मानता हूं. 

मैं बस इतना चाहता हूं कि इस सीन को तत्काल वेब सीरीज़ से हटाया जाए. अगर ऐसा नहीं किया गया तो उन्हें मजबूरन सीरीज़ के लेखकों, निर्माताओं और अभिनेता के ख़िलाफ़ कानूनी कार्यवाही शुरू करनी पड़ेगी. 

Source: aajtak

बता दें कि इससे पहले भी यूपी के मिर्ज़ापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल ने भी इस वेब सीरीज़ के मेकर्स पर उनके ज़िले को बदनाम करने और उसकी छवि ख़राब करने का आरोप लगाया था. इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इसकी शिकायत की थी. 

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने भी इस वेब सीरीज़ को अश्लील और मिर्ज़ापुर की छवि ख़राब करने वाला बताया था.