हिंदी सिनेमा में 70-80 के दशक में हिरोइन के अलावा वैंप का एक रोल फ़िल्मों में ज़रूर रखा जाता था. ये वो दौर था, जिसमें एक एक्ट्रेस ने खलनायिका के तौर बहुत नाम कमाया. ये एक्ट्रेस हैं हम सबकी चहेती मोना डार्लिंग उर्फ़ बिंदु. एक ज़माना था बिंदु लोगों के बीच इतनी मशहूर हो गई थीं, कि वो कहने लगे थे कि वो आईं हैं तो कुछ न कुछ गड़बड़ ज़रूर होगी.

Bindu
Source: pinterest

बिंदु ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत 1962 में आई फ़िल्म 'अनपढ़' से की थी. उस वक़्त वो 11 साल की थीं. लेकिन शादी के बाद उन्होंने फ़िल्म इंडस्ट्री में बहुत नाम और दौलत कमाई. आइटम नंबर हो या फिर वैंप का किरदार, बिंदु हर रोल को बड़ी ही सहजता से करती थीं. 1970 में आई फ़िल्म 'कटी पतंग' के गाने 'मेरा नाम है शबनम' से बिंदु रातों रात आइटम क्वीन बन गईं.

अमेरिकन एक्ट्रेस से होने लगी थी तुलना

Bindu
Source: pinterest

यह वो दौर था, जब हेलेन और अरुणा ईरानी जैसी एक्ट्रेस खलनायिका के तौर पर स्थापित हो चुकीं थीं. लेकिन बिंदु ने अपने दमदार अभिनय के दम पर खलनायिका के तौर अपने आप को स्थापित करने में सफ़ल हुई थीं. उस ज़माने में बिंदु की तुलना अमेरिकन एक्ट्रेस Raquel Welch से की जाने लगी थी. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, लोगों में उनकी पहचान एक सेक्स सिंबल के तौर पर थी. 

रियल लाइफ़ में भी वैंप समझने लगे थे लोग

Bindu
Source: cineplot

वैंप के किरदार वो इस तरह से निभाती थीं कि, उन्हें रियल लाइफ़ में भी लोग वैंप समझने लगे थे. फ़िल्म फ़ेयर मैग्ज़ीन को दिए अपने इंटरव्यू में बिंदु ने बताया कि एक बार जब वो अपनी बहन के बच्चों के साथ मूवी देखने गई थीं, तब फ़िल्म देखने के बाद उनके बच्चे कहने लगे- "बिंदु आंटी आप तो हमारे साथ ऐसा नहीं करती, पर फ़िल्म में ऐसा क्यों करती हो?" 

Bindu
Source: idiva

ऐसे ही दूसरे क़िस्से को याद करते हुए उन्होंने बताया कि जब लोगों को पता चलता कि वो सिनेमा हॉल में आईं हैं, तो ये तक कहने लगते थे कि वो आईं हैं तो कुछ न कुछ गड़बड़ ज़रूर होगी. जितनी शिद्दत से बिंदु ने अपने नेगेटिव किरदार निभाए हैं उतनी गालियां बिंदु को लोगों से खानी पड़ती थीं. 

गालियों को मानती थीं अवॉर्ड

Bindu
Source: pinterest

इसी इंटरव्यू में बिंदु ने कहा था कि वो गालियों को ख़ुद के लिए अवॉर्ड की तरह समझती हैं. बिंदु के लिए इसका मतलब था कि वो अपना काम ठीक से कर रही हैं. उन्होंने ये भी बताया कि जब स्क्रिप्ट राइटर उनका किरदार लिखते थे तो उसमें उसके नाम की जगह बिंदु लिखा करते थे. उनके लिए इससे बड़ा कॉम्पलिमेंट कुछ नहीं. 

Bindu
Source: starsunfolded

भले ही बिंदु को उनके नेगेटिव रोल के लिए जाना जाता हो, लेकिन उन्होंने कई फ़िल्मों में अच्छे रोल भी किए हैं. शोला और शबनम, मैं हूं ना, ओम शांति ओम में हमने इनकी कमाल की कॉमेडी भी देखने को मिली थी. आजकल बिंदु ने फ़िल्मी दुनिया से ब्रेक ले रखा है और अपने पति के साथ अपनी लाइफ़ इंजॉय कर रही हैं. 

बिंदु की लाइफ़ से जु़ड़ा ये क़िस्सा जानते थे आप? 

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.