Panchayat 2 Web Series: अमेज़ॉन प्राइम वीडियोज़ की बहुचर्चित वेब सीरीज़ पंचायत 2 इन दिनों धमाल मचा रही है. बिना बड़े स्टार कास्ट वाली ये वेब सीरीज़ दर्शकों को बेहद पसंद आ रही है. इसके पहले सीज़न को भी दर्शकों का बेशुमार प्यार मिला था. पहले सीज़न की तरह ही दूसरे सीज़न के 'डायलॉग' से लेकर 'किरदार' तक दर्शकों को काफ़ी पसंद आ रहे हैं. किसी को 'विनोद' अच्छे लग रहे हैं तो किसी को 'प्रह्लाद पांडे' की मासूमियत भा रही है. बाकी 'सचिव जी', 'विकास', 'प्रधानजी' और 'मैडम' के किरदार तो हैं ही दर्शकों के पसंदीदा. लेकिन 'पंचायत 2' में इस बार 'भूषण' उर्फ़ 'बनराकस' महफ़िल लूट ले गये. वो पूरी सीरीज़ में अंत तक 'सचिव जी', 'विकास', 'प्रह्लाद पांडे', 'प्रधानजी' और 'मैडम' के सामने डटे रहे और उन्हें हर मौके पर कड़ी चुनौती देते रहे.

'पंचायत 2' में 'भूषण' उर्फ़ 'बनराकस' का किरदार निभाने वाले कलाकार का नाम दुर्गेश कुमार (Durgesh Kumar) है. दुर्गेश ने इस सीरीज़ में अपनी दमदार एक्टिंग से समा बांध दिया है. मतलब भूषण (दुर्गेश) ने इस सीरीज़ में दूसरे कलाकारों की 'नाक में दम' से लेकर 'मटिया पलीत' कर दी है. 'सचिव जी', 'विकास', 'प्रह्लाद पांडे' और 'प्रधानजी' ने तो डर के मारे 'भूषण' को 'बनराकस' का ख़िताब तक दे डाला है. अब आप सोच रहे होंगे कि आख़िर ये 'बनराकस' होता क्या है? तो जनाब तसल्ली रखिये, बताते हैं...बताते हैं...काहे इतना टेंसन लेते हो! 

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Banrakas 

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Vanrakas
Source: timesnowhindi

ये भी पढ़ें: चंदन रॉय: जानिए कैसे मुंबई की गलियों के चक्कर काटते-काटते मिला 'पंचायत' में विकास का किरदार

दरअसल, पंचायत 2 की कहानी जैसे-जैसे आगे बढ़ती है. 'भूषण' उर्फ़ 'बनराकस' का किरदार भी धीरे-धीरे उभरकर सामने आने लगता है. 'भूषण' शुरुआत से ही 'प्रधानजी' और 'मंजू देवी' के पीछे हाथ धोकर पड़ा हुआ है. गांव में सड़क न बनने को लेकर वो अक्सर 'प्रधानजी' की मटिया पलीत में कोई कोर कसर नहीं छोड़ता. इस दौरान 'प्रधानजी' के जिगरी यार 'प्रह्लाद पांडे' और 'विकास' भी अक्सर भूषण के लपेटे में आते रहे हैं. इस वजह से सभी उससे डरे-डरे रहते हैं और 'भूषण' की इन्हीं हरकतों की वजह से उसे 'बनराकस' नाम भी इन्होंने ही दिया है.  

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Banrakas 

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Vanrakas
Source: timesnowhindi

इस बीच 'भूषण' जब 'सचिव जी' से पंगा लेने लगता है और उन्हें 'प्रधानजी' की चाटने वाला कह देता है तो 'सचिव जी' का पारा सातवें आसमान पर पहुंच जाता है. अपनी इस घनघोर बेइज़्ज़ती के बाद वो 'भूषण' को सबक सिखाने का फ़ैसला कर लेते हैं, लेकिन इस दौरान 'विकास' उनसे कहता है कि 'अभिसेक सर ई साला भूषण एक नंबर का 'बनराकस' आदमी है. आप इससे उलझिएगा नहीं'. इस दौरान अभिशेक उर्फ़ 'सचिव जी' जब 'बनराकस' शब्द सुनते हैं तो वो चौंक जाते हैं और विकास से पूछते हैं आख़िर इसका क्या मतलब है? इस पर 'विकास' कहता है 'बनराकस' का मतलब 'बन का राकस' यानी 'जंगल का राक्षस'.  

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Banrakas 

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Vanrakas
Source: jantayojana

दरअसल, पंचायत वेब सीरीज़ में 'फुलेरा गांव' को यूपी के बलिया ज़िले का एक गांव बताया गया है. इसलिए वेब सीरीज़ के पात्र बलिया और उसके आस पास के ज़िलों की मिलती जुलती भाषा बोलते हुये दिखाई देते हैं. पूर्वांचल की अपनी एक अलग भाषा है जिसमें मिठास के साथ-साथ अल्हड़पन भी है. इसी अल्हड़पन में पूर्वांचली 'राक्षस' को 'राकस' कहते हैं और जंगल में रहने वाले राक्षस को बनराकस.

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Banrakas 

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Vanrakas
Source: timesnowhindi

ये भी पढ़ें: 'Panchayat 2' के ये 10 डायलॉग गांव की ख़ूबसूरती और खट्टी मीठी नोक-झोंक से लबरेज़ हैं

असल में कहां है ये फुलेरा गांव? 

पंचायत वेब सीरीज़ में उत्तर प्रदेश के 'फुलेरा गांव' की कहानी दिखाई गई है. इसमें 'फुलेरा गांव' को यूपी के बलिया ज़िले के विकासखंड फकौली का एक गांव बताया गया है. लेकिन ये गांव असल में यूपी के बागपत ज़िले की खेकड़ा तहसील में स्थित है. जो उप-ज़िला मुख्यालय खेकरा से 13 किमी दूर है. जबकि इसकी शूटिंग मध्य प्रदेश के एक रियल ग्राम पंचायत ऑफ़िस में की गई है, जो वेब सीरीज़ में दिखाई भी देता है.

Phulera village panchayat Web Series
Source: ottplay

चलिए अब भूषण उर्फ़ 'वनराकस' का किरदार निभाने वाले एक्टर दुर्गेश कुमार (Durgesh Kumar) के बारे में भी जान लेते हैं.

जानिए कौन हैं दुर्गेश उर्फ़ 'बनराकस'

दुर्गेश कुमार (Durgesh Kumar) बिहार के दरभंगा ज़िले के रहने वाले हैं. वो साल 2001 में 12वीं पास करने के बाद इंजीनियरिंग की तैयारी करने के लिए दिल्ली आए थे. इस दौरान मैथ्स अच्छी नहीं होने के चलते दो-तीन अटेम्प्ट के बाद भी इंजीनियरिंग में नंबर नहीं आया. तब वो दिल्ली के लक्ष्मीनगर में अपने बड़े भाई के साथ रहते थे जो यूपीएससी की तैयारी कर रहे थे. इस दौरान उनके भाई ने उन्हें दिन भर तैयारी करने और शाम को थिएटर करने की सलाह दी. इसके बाद दुर्गेश ने 'मंडी हाउस' के एक थिएटर ग्रुप में फ्रीलांस एक्टर के तौर पर काम करना शुरू कर दिया. इस दौरान उन्होंने कई बेहतरीन नाटकों में काम किया.

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Banrakas 

Durgesh Kumar With Imtiaz Ali
Source: twitter

NSD पासआउट हैं दुर्गेश

दुर्गेश कुमार (Durgesh Kumar) के माता-पिता उनके एक्टिंग में करियर बनाने से ख़ुश नहीं थे, लेकिन उनके बड़े भाई ने उनका हमेशा साथ दिया. वो सरकारी स्कूल में केमेस्ट्री के टीचर थे और काफ़ी प्रोग्रेसिव भी थे. इसके बाद दुर्गेश बड़े भाई के कहने पर नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्राम (NSD) में एडमिशन की तैयारी में लग गए और उनका सिलेक्शन भी हो गया. दुर्गेश साल 2011 में एनएसडी से पासआउट हुए थे. इसके बाद उन्हें एनएसडी की रिपोटरी में ही नौकरी मिल गई, जहां दुर्गेश का 24 हज़ार रुपये की सैलेरी मिलती थी.

Durgesh Kumar With Anurag Basu
Source: twitter

ये भी पढ़ें: Panchayat 2: असल ज़िंदगी में ऐसे दिखते हैं प्रहलाद चा, इन फ़िल्मों में भी कर चुके हैं काम

इन बड़ी फ़िल्मों और वेब सीरीज़ में चुके हैं नज़र  

दुर्गेश कुमार इससे पहले आमिर ख़ान स्टारर 'पीके' में भी नज़र आ चुके हैं. इसमें उन्होंने एक छोटा सा किरदार निभाया था. इसके बाद दुर्गेश ने इमतियाज अली की फ़िल्म 'हाइवे' में 'आड़ू' का किरदार निभाया था. असल में उन्होंने 'हाइवे' फ़िल्म से ही अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी. दुर्गेश इसके अलावा 'सुल्तान', 'संजू', 'दिल बेचारा', 'व्हाई चीट इंडिया', 'बंबरिया' जैसी फ़िल्में भी कर चुके हैं. वहीं 'हॉस्टल डेज़', 'बिच्छू का खेल', 'ए सिंपल मर्डर', 'बिग बुल' और 'कैंडी' जैसी वेब सीरीज़ में भी नज़र आ चुके हैं. 

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Banrakas 

Durgesh Kumar aka Bhushan aka Vanrakas
Source: filmaniaentertainment

दुर्गेश कुमार जल्द ही कई अन्य फ़िल्मों और वेब सीरीज़ में भी नज़र आने वाले हैं.