हम रोज़ ख़बरों में मज़ूदरों की मौत की ख़बर देखते हैं, दो बार 'हे भगवान' 'हाय राम' करते हैं और फिर अपने काम-काज में लग जाते हैं ये सोचकर कि अभी तो अपना-अपना देखने का समय है.  


कुछ लोग हैं जो ख़ुद को पीछे रख, मज़दूरों के लिए अपना हाथ आगे बढ़ा रहे हैं और कुछ संस्थाएं भी हैं. राज्य सरकारें भी व्यवस्था कर रही है पर फिर भी रोज़ उनके मारे जाने की ख़बरें आ रही हैं.   

मज़ूदरों की हालत देखकर मशहूर अभिनेता पंकज त्रिपाठी ने एक रोआंसा करने वाला पोस्ट लिखा, ये पोस्ट शायद मज़दूरों तक नहीं पहुंच पायेगा पर ये आज की सच्चाई बयां करती है. 

पंकज भी बिहार के गोपालगंज के है और जब उन्होंने सभी प्रदेश समेत अपने प्रदेश के मज़दूरों के साथ दुर्घटना की ख़बर पढ़ी तो वे ख़ुद को रोक नहीं पाये. पंकज के पोस्ट को लगभग 10 हज़ार से ज़्यादा बार लाइक किया जा चुका है. 

आपके दिल में अगर ये सवाल उठ रहा है कि हम क्या कर सकते हैं तो इसका जवाब आपके ही घर में है. आपके यहां काम करने वालों की पगार न काटें, रास्ते में अगर कोई चलकर जाता दिखे तो उसकी यथासंभव सहायता करें.