अगले साल की शुरुआत में ही पंकज त्रिपाठी की नई फ़िल्म आ रही है. Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, पंकज का किरदार 'लाल बिहारी मृतक' के जीवन से प्रेरित है. लाल बिहारी को उत्तर प्रदेश के लैंड रेवेन्यू रिकॉर्ड्स में मृतक घोषित कर दिय गया था जब कि वो ज़िन्दा था.

पंकज त्रिपाठी की फ़िल्म का नाम 'काग़ज़' है और ये फ़िल्म 7 जनवरी को Zee5 पर रिलीज़ होगी. फ़िल्म का निर्देशन सतीश कौशिक ने किया है.  

Source: Hindi Rush

फ़िल्म एक सटायरिकल कॉमेडी है और फ़िल्म के द्वारा लैंड रिसोर्स सिस्टम की ख़ामियों को दर्शाने की कोशिश की गई है. इस फ़िल्म में मोनल गुज्जर, मीता वशिष्ठ, अमर उपाध्याय और सतीश कौशिक भी नज़र आएंगे.

फ़िल्म पर पंकज त्रिपाठी ने स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा कि ये फ़िल्म की कहानी 'ब्रिलियंट' है.   

ये एक ब्लैक कॉमेडी है और इसमें आम आदमी की आइडेंटिटी क्राइसिस जर्नी को हास्यास्पद तरीक़े से दिखाया गया है. मेरा किरदार हाल-फ़िलहाल में निभाए किरदारों से काफ़ी अलग है और मैं ऐसे प्रेरणादायक कहानी का हिस्सा बनकर काफ़ी ख़ुश हूं. ये कहानी सबको सुनाना ज़रूरी है और मुझे विश्वास है कि Zee5 के द्वारा इसे वो रीच मिलेगी जिसकी ये फ़िल्म हक़दार है. 

                    - पंकज त्रिपाठी

Source: Imdb

निर्देशक सतीश कौशिक ने भी फ़िल्म में अहम किरदार निभाया है. 

मुझे याद है जब मैंने न्यूज़ में पहली बार लाल बिहारी मृतक की कहानी पढ़ी थी, मुझे उसके सफ़र से उत्सुकता हुई और प्रेरणा मिली. मैंने उसकी ज़िन्दगी पर रिसर्च किया. धीरे-धीरे मुझे लगा कि उसकी कहानी ऐसी है जो सबको सुनाई जानी चाहिए. 

                    - सतीश कौशिक

लाल बिहारी मृतक ने एक लंबी लड़ाई लड़ी और लगभग 2 दशक ये साबित करने में बिताए कि वो ज़िन्दा है. 1976 में उत्तर प्रदेश सरकार के रेवेन्यु डिपार्टमेंट ने उसे मृत घोषित कर दिया था. लाल बिहारी को पता चला कि राज्य में उसके जैसे और भी लोग हैं तब उसने 'मृतक संघ' की स्थापना की.

Zee5 के अलावा ये फ़िल्म उत्तर प्रदेश के कुछ थियेटर्स में भी रिलीज़ होगी.