बॉम्बे हाइकोर्ट में कंगना रनौत के ट्विटर अकाउंट को बैन करने की याचिका दायर की गई है. न्यायालय में याचिका दायर करते हुए कहा गया कि कंगना ट्वीट्स से लगातार नफ़रत और घृणा फैलाकर देश को बांटने की कोशिश कर रही हैं. कंगना रनौत के खिलाफ़ वकील अली कासिफ़ ख़ान देशमुख द्वारा CRPC की धारा 482 के तहत याचिका दर्ज कराई गई है.

Kangna
Source: outlookindia

याचिका में देशमुख ने कंगना के कुछ अपमानजनक ट्वीट्स की ओर भी इशारा किया है. वहीं याचिका पर रीट्वीट करते हुए कंगना ने भी अपना जवाब लिखा है. कंगना लिखती हैं, 'हा हा हा, मैं लगातार अखंड भारत की बात कर रही हूं. हर रोज़ टुकड़े-टुकड़े गैंग से लड़ रही हूं और मुझ पर देश बांटने का आरोप लग रहा है. वाह! क्या बात है, ख़ैर मेरे लिए ट्विटर अकेला ऐसा प्लेटफ़ॉर्म नहीं है. एक चुटकी में हज़ारों कैमरे मेरा एक स्टेटमेंट लेने आ जाएंगे.'

बात दें कि 'किसान आंदोलन' से जुड़े एक ट्वीट को लेकर कंगना रनौत की ख़ूब किरकिरी हो रही है. इस बीच पंजाब के एक वक़ील ने कंगना को लीगल नोटिस भेजकर ट्वीट के लिए माफ़ी की मांग भी की है. कंगना रनौत ने जिस बुज़ुर्ग महिला की तस्वीर शेयर कर उन्हें शाहीन बाग़ वाली 'दादी' बताया था. वो पंजाब की रहने वालीं महिंद्र कौर हैं. हालांकि, तस्वीर फ़ेक पाए जाने पर कंगना ने अपने इस ट्वीट को डिलीट कर दिया.