'नंदिता दास'

90 के दशक की वो अभिनेत्री जिन्होंने अपने अभिनय से दर्शकों के दिलों में ख़ास जगह बनाई. 40 से अधिक फिल्मों में अभिनय वाली नंदिता दास आज अपना 50वां जन्मदिन मना रही हैं. अभिनय की दुनिया में अपनी कला का रंग ज़माने के साथ-साथ वो डायरेक्शन में भी हाथ आज़मा चुकी हैं. 2008 में नंदिता दास की पहली फ़िल्म फ़िराक रिलीज़ हुई थी. इसके बाद उन्होंने 2018 में मंटो की बायोपिक बनाई.

nandita Das
Source: khabarindiatv

अभिनेत्री नंदिता दास की ख़ासियत ये है कि उन्होंने ख़ुद को दुनिया के सामने वैसे ही रखा जैसी वो हैं. दुनिया के सामने खुल कर अपने विचारों को रखने वाली नंदिता दास ने कभी गोरे रंग को प्रमोट नहीं किया. कई बार वो बाज़ार में बिकने वाली फ़ेयरनीस क्रीम का विरोध भी जता चुकी हैं. अभिनेत्री का मानना कि किसी के स्किन कलर से आप उसकी क़ाबिलियत या ख़ूबसूरती नहीं आंक सकते. इसके अलावा गोरा रंग ख़ूबसूरती की पहचान नहीं है.

nandita das
Source: patrika

इसके अलावा उन्होंने सामाजिक मुद्दों को लेकर भी हमेशा अपनी राय प्रकट की है और उन्हें लेकर उठे सभी विवादों का मुंह तोड़ जवाब भी दिया है. वो बेबाक, बोल्ड और उन बिंदास अभिनेत्रियों में से एक हैं, जिन्होंने हमेशा वो किया, जो उन्हें अच्छा लगा.

Actress
Source: patrika

नंदिता दास की कुछ बेहतरीन फ़िल्मों में 'अर्थ', 'फ़ायर', 'बवंडर' और 'बिफ़ोर द रेन' शामिल हैं. इन फ़िल्मों में नंदिता दास ने उन किरदारों को निभाया, जिन्होंने समाज को एक नया आईना दिखाने की कोशिश की है. इन सभी किरदारों को दर्शकों ने ख़ूब सराहा भी.

वहीं अगर उनके डायरेक्श की बात की जाये, तो मंटो को क्रिटिक्स द्वारा भी काफ़ी सराहा गया और फ़िल्म फ़ेस्टिवल्स में भी इसकी ख़ूब तारीफ़ हुई.

Happy Birthday!

नंदिता दास

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.