हम कोई मंदिर का घंटा हैं, जो कोई भी आकर बजा जाता है

पुष्पा बेटी..
ये डायलॉग सुनते ही राजपाल यादव का इन डायलॉग्स को बोलने का तरीक़ा याद आ जाता है और चेहरे पर हंसी लोट जाती है. राजपाल यादव ने कई कॉमेडी फ़िल्में की हैं जिससे लोगों को ख़ूब हंसाया है. मगर पूरी दुनिया को हंसाने वालों की ज़िंदगी में भी ग़म होते हैं, जो शायद हम उनकी हंसी के पीछे छुपे रहते हैं. अपने इसी बुरे वक़्त को राजपाल यादव ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में बताया, 

ये भी पढ़ें: 2020 कितना ज़हर है ये दिखा रहे हैं राजपाल यादव के ये Memes

जब मैं आर्थिक संकट से गुज़र रहा था, तो पूरी दुनिया ने मेरा साथ दिया था. मुझे लगता है कि हर किसी को दूसरों की मदद करनी चाहिए क्योंकि अगर लोग मेरी मदद नहीं करते तो मैं शायद आज यहां नहीं होता. पूरी दुनिया के साथ-साथ मेरा विश्वास भी मेरे साथ था कि सब कुछ ठीक हो जाएगा. 

-राजपाल यादव

toiimg

Indiatimes के अनुसार, दरअसल, साल 2018 में आर्थिक संकट के चलते राजपाल यादव पांच करोड़ रुपये का कर्ज़ नहीं चुका पाए थे, जिसके चलते उन्हें तीन महीने की जेल हुई थी. उस वक़्त उनके फ़ैंस और पूरी दुनिया उनके साथ खड़ी थी. इसके अलावा आरजे सिद्धार्थ कन्नन से बात करते हुए राजपाल ने अपने शुरूआती दिनों के बारे में बताया,

जब आप ट्रेन से मुंबई स्टेशन पर उतरते हैं, तब ये शहर और यहां के लोग सब आपके लिए नए होते हैं, जहां आप दूसरों के साथ ऑटो शेयर करके बोरीवली जाते हैं. फिर, जब आपके पास ऑटो के लिए पैसे नहीं होते हैं, तो सफ़लता की तलाश में जुहू, लोखंडवाला, आदर्श नगर, गोरेगांव और कभी-कभी बांद्रा अपनी फ़ोटो लेकर पैदल जाते हैं. इस दौरान आपके सामने सिर्फ़ सफ़लता है इसलिए ये ध्यान रखना, ‘अगर जीवन कठिन लगता है, तो मिशन आसान हो जाता है और अगर जीवन आसान लगता है, तो मिशन कठिन हो जाता है.’
indianexpress.

आपको बता दें, निर्देशक प्रियदर्शन की 2003 की कॉमेडी फ़िल्म हंगामा का दूसरा पार्ट ‘हंगामा 2’ जल्द रिलीज़ होने वाली है. इसमें राजपाल यादव के अलावा, मिज़ान जाफ़री, परेश रावल, आशुतोष राणा, जॉनी लिवर, प्रनीता सुभाष और शिल्पा शेट्टी भी नज़र आएंगे. इसके पहले पार्ट में राजपाल यादव के साथ-साथ अक्षय खन्ना, आफ़ताब शिवदासानी, रिमी सेन, शोमा आनंद और परेश रावल भी थे.