1987 Ramayana Starcast Reaction On Adipurush: फ़िल्म ‘आदिपुरुष’ (Adipurush) रिलीज़ होने के बाद सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग है. ये फ़िल्म हिंदू पौराणिक कथा ‘रामायण’ पर आधारित है. लेकिन इस फ़िल्म के डायलॉग और VFX की लोग ख़ूब किरकिरी कर रहे हैं. लोगों का तो ये तक कहना है कि इस मूवी की तो रामानंद सागर (Ramanand Sagar) की 1987 में आए टीवी शो ‘रामायण’ से कोई तुलना नहीं है.

dailyO

ये भी पढ़ें: 1987 की रामायण और आदिपुरुष के किरदारों में क्या-क्या बदला है, इन 7 तस्वीरों में देखकर समझिए

इस बीच रामानंद सागर की ‘रामायण’ में आइकॉनिक क़िरदार निभाने वाले और इससे जुड़े कई सेलेब्स की आदिपुरुष को लेकर प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं. आइए आपको बताते हैं कि 1987 में आई रामायण की स्टारकास्ट का आदिपुरुष के बारे में क्या कहना है. (1987 Ramayana Starcast Reaction On Adipurush)

1-श्रीराम का क़िरदार निभाने वाले अरुण गोविल

आदिपुरुष का टीज़र रिलीज़ होने के बाद रामानंद सागर की ‘रामायण’ में श्रीराम का क़िरदार निभाने वाले अरुण गोविल की प्रतिक्रिया सामने आई थी. उन्होंने कहा था, “‘आजकल ये ट्रेंड बन चुका है कि सनातन धर्म की मान्यताओं का मज़ाक बनाओ, देवी-देवताओं के आपत्तिजनक पोस्टर बनाओ. आखिर आपको हमारी धार्मिक भावनाओं से छेड़छाड़ का अधिकार किसने दिया है? कुछ फ़िल्ममेकर्स और एक्टर्स को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे क्रिएटिव लिबर्टी के नाम पर धार्मिक मान्यता का मज़ाक न उड़ाएं.’

koimoi

2-लक्ष्मण का क़िरदार निभाने वाले सुनील लहरी

रामानंद सागर की रामायण में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी ने भी आदिपुरुष को लेकर अपना रिएक्शन दिया है. उन्होंने अपने द्वारा शेयर की गई लेटेस्ट पोस्ट में लिखा है, “कहते हैं फ़िल्म आदिपुरुष रामायण को ध्यान में रखकर बनाई गई है, अगर ये सच है तो इस तरह की भाषा का प्रयोग बहुत शर्मनाक है..”

3-माता सीता का क़िरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया

1987 में रामायण में माता सीता का क़िरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया भी आदिपुरुष से ख़ुश नहीं हैं. उन्होंने अपने बयान में कहा था, “मुझे लगता है कि ये आजकल के एक्टर्स के साथ बड़ी दिक्कत है कि वो न तो किरदार में घुसते हैं और न ही इसके इमोशन को समझ पाते हैं. शायद ही उन्होंने अपनी आत्मा को इसमें झोंका होगा. कृति आज की जनरेशन की एक्ट्रेस हैं. आज के दौर में किसी को किस या हग कर लेना एक स्वीट जेस्चर माना जाता है. उसने कभी ख़ुद को सीता जी समझा नहीं होगा. ये इमोशन की बात हो जाती है, मैंने सीता के किरदार को जिया है.”

starsunfolded

ये भी पढ़ें: कौन हैं ‘Adipurush’ में श्रीराम के पिता का रोल निभाने वाले दशरथ, जो असल ज़िंदगी में हनुमान भक्त हैं

4-रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर

दिवंगत निर्देशक रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर ने हाल ही में रिलीज़ हुई आदिपुरुष के बारे में बात की है, जिसमें भगवान राम की कहानी को फिर से बताने का प्रयास किया गया है. उन्होंने आदिपुरुष के मेकर्स को ट्रोल करते हुए कहा है, “आज की रामायण बनाई है तो ब्रीच कैंडी और कोलाबा में दिखाइए, दुनिया भर में मत दिखाइए और लोगों की भावनाओं को ना ठेस पहुंचाइए.” उन्होंने ये भी कहा, “कृत्तिवासी और एकनाथ सहित कई लोगों ने रामायण लिखी लेकिन किसी ने कंटेट नहीं बदला. केवल रंग और भाषा बदली गई थी. लेकिन आदिपुरुष में, सारे तथ्य बदल गए हैं.”

mayapuri

तो फ़िल्म आदिपुरुष के बारे में आपका क्या कहना है?