कोरियोग्राफ़र अहमद ख़ान रामगोपाल वर्मा की फ़िल्म 'रंगीला' के लिये एक नये चेहरे की तलाश कर रहे थे. अहमद की ये तलाश एक टैलेंटेड लड़के पर आकर ख़त्म होती है, लेकिन संवाले रंग के कारण उसे फ़िल्म में लेने से इंकार कर दिया गया. इसके बाद अहमद ख़ान 'आई रे आई रे' गाने के लिये फिर से एक चॉकलेटी चेहरा ढूंढने लगे. किस्मत देखिये अहमद की ये खोज फिर उसी लड़के पर आ रुकी. अहमद को इस लड़के के टैलेंट पर भरोसा था और उस लड़के को ख़ुद पर विश्वास, बस दोनों के इसी कांबिनेशन से आज वो लड़का बॉलीवुड का बड़ा और जाना-माना नाम बन गया.

वो लड़का कोई और नहीं, बल्कि डांस के बादशाह रेमो डीसूज़ा हैं.

Source: NDTV

रेमो ने अपने करियर की शुरुआत बतौर डांस टीचर की थी, पर आज वो कोरियोग्राफ़र, फ़िल्म प्रोड्यूसर और डायरेक्टर का रोल भी निभा रहे हैं. ताज्जुब होता है न ये सुनकर कि कुछ साल पहले मुंबई आया एक नौजवान रातों-रात कैसे फ़िल्म इंडस्ट्री का एक जाना-माना चेहरा बन गया. अगर आपको भी ऐसा लग रहा है, तो बता दें कि फ़िल्म इंडस्ट्री में रेमो को ये मुकाम काफ़ी शिद्दत से मेहनत करने के बाद मिला है.

Source: radiocity

दरअसल, बचपन से ही रेमो का डांस के प्रति एक अलग लगाव था, जिस वजह से वो हमेशा माइकल जैकसन के वीडियोज़ देख कर डांस किया करते थे. यही नहीं, डांस की दुनिया के इस बदशाह ने कभी डांस की फ़ॉर्मल तालीम नहीं ली और डांस में जितना कुछ भी सीखा, वो सब ख़ुद से ही सीखा. रेमो घर पर ही म्यूज़िक वीडियो देख कर डांस की प्रैक्टिस करते थे. रेमो के अंदर छिपा डांस का जुनून ही उन्हें मुंबई खींच लाया और यहां आकर उन्होंने चर्नी रोड पर सुपरब्रैट्स नाम से डांस क्लासेस शुरू की, जिसमें पहले सिर्फ़ चार बच्चे थे और देखते ही देखते ही डांस सीखने वाले बच्चों की संख्या बढ़ती चली गई.

Source: BP

रेमो सुबह पहले चर्नी रोड पर डांस सिखाने जाते, उसके बाद बोरीवली और उनकी लास्ट क्लासेस अंधेरी में ख़त्म होती.

Source: india.com

रंगीला फ़िल्म से रेमो को बॉलीवुड में पहला ब्रेक मिला और इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. बतौर कोरियोग्राफ़र उनकी शुरुआत सोनू निगम के म्यूज़िक एल्बम दीवाना से हुई थी. इसके बाद उन्होंने न सिर्फ़ कोरियोग्राफ़ी की दुनिया में कदम आगे बढ़ाया, बल्कि 'फ़ालतू' और 'ABCD' जैसी फ़िल्में भी की. फ़िल्म इंडस्ट्री के साथ-साथ रेमो ने छोटे पर्दे पर कई डांस रियलिटी शोज़ भी जज किये. इसके साथ ही पुनीत, शक्ति मोहन, सलमान, धर्मेश और राघव जैसे कई टैलेंटेड प्रतिभागियों को आगे बढ़ने का मौका भी दिया.

Source: bollywoodmantra

रेमो डीसूज़ा की ज़िंदगी हमें यही सिखाती है कि अगर आपके अंदर कुछ करने और पाने का जुनून है, तो पूरी कायनात आपको उस मुकाम तक पहुंचाने में लग जाती है.

Happy Birthday Remo.