सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में ड्रग एंगल के तहत गिरफ़्तार रिया चक्रवर्ती को मुंबई हाईकोर्ट ज़मानत पर रिहा कर चुका है, जिसके बाद अब एक्ट्रेस उन मीडिया संस्थानों के ख़िलाफ़ कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही हैं, जिन्होंने मीडिया ट्रायल के ज़रिए उन्हें दोषी ठहराया था. ये जानकारी रिया के वकील सतीश मान शिंदे ने दी है. 

Source: newindianexpress

उन्होंने बताया कि बिना क़ानूनी सबूतों के कुछ चैनलों ने रिया को सुशांत सिंह मामले में दोषी ठहरा दिया. ऐसे में रिया अब इन मीडिया एजेंसियों के ख़िलाफ़ लीगल एक्शन लेंगी.

क़रीब एक महीने न्यायिक हिरासत में रहने के बाद 7 अक्टूबर को रिया ज़मानत पर रिहा होकर बाहर आईं थीं, जिसके बाद उन्हें मुंबई के सांता क्रूज़ पुलिस स्टेशन में हाज़िरी लगाते देखा गया था. गौरतलब है कि, AIIMS की रिपोर्ट ने सुशांत सिंह केस में मर्डर एंगल को ख़ारिज कर दिया था, ऐसे में रिया के ख़िलाफ़ दर्ज केस ड्रॉप होने की संभावना है. रिपोर्ट्स के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को भी रिया ख़िलाफ़ कोई सबूत नहीं मिला.

Source: indianexpress

सतीश मान शिंदे ने कहा, ‘रिया के ख़िलाफ़ मीडिया एजेंसियों द्वारा चलाए गए अवैध, दुर्भावनापूर्ण अभियान से लड़ने के लिए कानून में जो भी आवश्यक है, उसे किया जाएगा. उनके सेटिंमेंट्स मुझसे भी ज़्यादा मज़बूत हैं. रिया एक फ़ाइटर हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘रिया का नाम और प्रतिष्ठा बरकरार है. वो उन सभी इडियट्स से लड़ेगी, जिन्होंने उसकी महत्वाकांक्षा और उसके भविष्य को खराब करने की कोशिश की थी.’

Source: economictimes

बता दें, रिया चक्रवर्ती को ड्रग से संबंधित आरोपों में 8 सितंबर को गिरफ़्तार किया गया था और उन्हें नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था. मुंबई उच्च न्यायालय ने चक्रवर्ती को इस शर्त पर जमानत दी कि उन्हें 10 दिन तक पुलिस को रिपोर्ट करना होगा. इसके अलावा कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती को अपना पासपोर्ट जांच एजेंसी के पास जमा करने को कहा है ताकि वो देश छोड़कर बाहर ना जा सकें. साथ ही कोर्ट ने पाया कि रिया सेक्शन 27a ऑफ़ एनडीपीएस एक्ट के लिए एप्लीकेबल नहीं है.