बॉलीवुड के शोमैन राज कपूर के सबसे छोटे बेटे हैं राजीव कपूर. फ़िल्म 'राम तेरी गंगा मैली' में राजीव कूपर ने लीड रोल निभाया था. अपनी इस इकलौती हिट फ़िल्म के बाद उन्होंने कई फ़िल्मों में काम किया जैसे 'लवर बॉय', 'अंगारे', 'शुक्रिया', 'जलजला', 'नाग नागिन', 'प्रीती' वगैरह-वगैरह.

rajiv kapoor
Source: mubi

जिन्होंने 'राम तेरी गंगा मैली' नहीं देखी उनके लिए बता दें कि राजीव कपूर वही शख़्स जिनकी फ़िल्म का गाना 'याद तेरी आएगी मुझको बड़ा सताएगी' बड़ा मशहूर है. इस गाने को फ़िल्म 'गैंग्स ऑफ़ वासेपुर' में भी इस्तेमाल किया गया था, जब सरदार ख़ान मरता है तो यशपाल यही गीत गाता है.

ख़ैर, बात करें राजीव की तो उनका फ़िल्मी करियर कुछ ख़ास नहीं रहा. इसलिए उन्होंने फ़िल्मों से किनारा कर लिया. बाद में वो फ़िल्म निर्माण के कार्य में लग गए. इस दौरान कुछ ऐसा हुआ कि राजीव कुमार और सलमान ख़ान की दुश्मनी हो गई और बात हाथा-पाई तक चली गई.

zeba bakhtiar
Source: dawn

ये क़िस्सा बॉलीवुड की गलियों में काफ़ी मशहूर है. बात उन दिनों की है जब राजीव कपूर बतौर सहायक निर्देशक फ़िल्म 'हिना' की शूटिंग कश्मीर में कर रहे थे. इस फ़िल्म में ऋषी कपूर और ज़ेबा बख्तियार लीड रोल में थे.

zeba bakhtiar
Source: pinterest

दूसरी तरफ सलमान ख़ान की फ़िल्म 'सनम बेवफ़ा' की शूटिंग उसी लोकेशन पर हो रही थी. इत्तेफ़ाक से दोनों फ़िल्मों के स्टार एक ही होटल में ठहरे थे. यहां सलमान ख़ान की दोस्ती एक्ट्रेस ज़ेबा बख्तियार से हो गई. एक दिन सलमान ख़ान ने ज़ेबा से डिनर पर चलने के लिए पूछा. उन्होंने हां कर दी और रात को दोनों डिनर पर चले गए. ज़ेबा की मां भी उनके साथ थीं.

salman
Source: healthifyme

ये बात राजीव कपूर को पसंद नहीं आई. क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि उनकी फ़िल्म की हीरोइन सलमान ख़ान के साथ दिखे. इसलिए राजीव ने आव देखा ना ताव और पहुंच गए वहां जहां सलमान और ज़ेबा थे.

rajiv kapoor
Source: starsunfolded

राजीव भी उसी टेबल पर बैठ गए जहां सलमान और ज़ेबा बैठे थे. कहते हैं कि उस दौरान राजीव को इतना ग़ुस्सा आ रहा था कि नौबत हाथापाई तक आ गई थी. लेकिन न तो कभी राजीव और न ही कभी सलमान ने इस बारे में किसी से बात की. राजीव और सलमान से जुड़ी ये कॉन्ट्रोवर्सी आप यहां पढ़ सकते हैं.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.