आज से कुछ साल पहले तक हम सभी के मनोरंजन का ज़रिया दूरदर्शन था. 90s में दूरदर्शन पर तरह-तरह के सीरियल्स देखने को मिलते थे. दूरदर्शन पर आने वाले इन सीरियल्स से न सिर्फ़ हमारा एंटरटेनमेंट होता था, बल्कि हमें बहुत कुछ सीखने को भी मिलता. फिर चाहे वो जानकारी सामाजिक मुद्दों से जुड़ी हुई हो या धर्म और शिक्षा के बारे में हो.

90s show doordarshan
Source: youtube

मतलब 90 के दौर में दूरदर्शन पर अनगिनत धारावाहिक आते थे, जो कि बेहतरीन भी होते थे. उस समय शोज़ सिर्फ़ लोगों के मनोरंजन के लिये ही नहीं, बल्कि उन्हें शिक्षित करने के हिसाब से भी बनाये जाते थे. इस दौरान एक ऐसा सीरियल आया जिसने युवाओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया नाम है, 'स्कूल डेज़'.

School Days
Source: youtube

'स्कूल डेज़' का निर्माण दिलीप सूद ने किया था, जो बेहद ख़ूबसूरत सीरियल था. अगर दिमाग़ में इस शो की यादें थोड़ी धुंधली पड़ गई हैं, तो इसके बारे में जानने से पहले ये वीडियो देखिए.

दिलीप सूद की ये सीरीज़ स्कूली बच्चों के ईद-गिर्द थी, इसलिये इसे Teenagers का ख़ूब प्यार मिला. शो देख कर हम खु़द स्कूल लाइफ़ को फ़ील कर पाते थे. लड़कियों का घुटने से ऊपर स्कर्ट पहन कर मस्ती करना, लड़कों की शरारतें. वो सब देखना काफ़ी दिलचस्प था. इसके अलावा शो में दोस्ती, प्यार और क्रश के बारे में भी ख़ूब दिखाया जाता था. इसीलिये लोगों ने इसे देखने में और दिलचस्पी ली. उस टाइम हम कुछ Afford कर पायें या न कर पायें, पर ये शो मिस करना बिलकुल Afford नहीं कर सकते थे.

School Days - Maafi Dede Maafi
Source: youtube

पढ़ाई-लिखाई, मस्ती और प्यार के अलावा 'स्कूल डेज़' में भारतीय सभ्यता के बारे में भी दिखाया जाता था. शो को देख कर बदलते ज़माने का अंदाज़ा लगाया जा सकता था. दिलीप सूद के इस शो में ड्रामा कम और रियलिटी ज़्यादा थी, इसलिये ये डीडी के पॉपुलर शो में जगह बनाने में कामयाब रहा.

आपको 'स्कूल डेज़' देख कर कैसा लगता था, कमेंट में बताना.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi क्लिक करें.