बॉलीवुड के किंग ख़ान शाहरुख़ आज एक वर्ल्ड फ़ेमस सेलेब्रिटी बन गए हैं. एक दौर था जब उन्हें कोई नहीं जानता था और वो भी मुंबई अपने सपनों को पूरा करने के लिए पहुंचे थे. मगर दिल्ली से मुंबई तक के सफ़र के बीच उनके साथ ऐसा हुआ जिसके बारे में ख़ुद शाहरुख़ ख़ान ने भी कभी सपने में भी नहीं सोचा था.

deccanchronicle

जैसा कि आप सभी को पता है शाहरुख़ ख़ान के पिता दिल्ली में रहते थे. यहीं पर उन्होंने तालीम ली और एक एक्टर बनने का सपना देखा. अपने इसी सपने के साथ वो दिल्ली से मुंबई जाने वाली एक ट्रेन में चढ़ गए.

pinterest

उन्होंने पहले से ही टिकट बुक करवा ली थी और उनके साथ कुछ दोस्त भी सफ़र कर रहे थे. वो पहली बार मुंबई आ रहे थे. तब उन्हें पता नहीं था कि मुंबई यानि बोरीवली पहुंचने के बाद जिस ट्रेन से वो सफ़र कर रहे थे वो एक लोकल ट्रेन में तब्दील हो जाती है क्योंकि दिल्ली में कभी ऐसा होता नहीं था. 

अब जो भी उनकी बर्थ पर आकर बैठता शाहरुख़ उन्हें उठा देते और कहते की हमने रिज़र्वेशन करवा रखा है. कई लोग ऐसे ही आए और चले गए. फिर एक महिला अपने पति के साथ उनके कोच में दाखिल हुई. शाहरुख़ ने उन्हें तो बैठने दिया लेकिन उनके पति को नहीं. उसके पति से भी शाहरुख़ ने रिज़र्वेशन वाली बात कही. 

blogspot

इतना सुनना था कि वो महिला उठी सीट से और एक ज़ोरदार तमाचा शाहरुख़ को जड़ दिया. उसने शाहरुख़ से कहा कि शानपत्ति मत दिखाओ. ये सबकी ट्रेन है, सीट सबकी है. कोई कहीं भी बैठेगा तुम्हें क्या. शाहरुख़ की बोलती बंद हो गई और शायद मन ही मन वो ये सोच रहे थे कि वाह मुंबई ने क्या स्वागत किया है हमारा. 

इस पूरे क़िस्से को आप इस लिंक पर सुन सकते हैं.

भले ही उस वक़्त शाहरुख़ ख़ान का स्वागत मुंबई में ठीक से नहीं हुआ हो. मगर आज मुंबई ही नहीं पूरी दुनिया के लोग उन्हें अपनी पलकों पर बिठाने को तैयार हैं.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.