एक्टर सोनू सूद कोरोना लॉकडाउन के बाद से ही लगातार ज़रूरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं. एक बार फिर वो प्रवासी कामगारों की सहायता के लिए आगे आए हैं. इस बार उन्होंने प्रवासी श्रमिकों को महाराष्ट्र और कोंकण में गणेश चतुर्थी मनाने के लिए वापस भेजा है, जो शनिवार से शुरू होगा.   

Source: headlineenglish

Mumbai Mirror की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 300 लोग पहले ही निकल चुके हैं और बाक़ी को भी जल्द भेजा जाएगा. महामारी के दौरान सोनू सूद ने देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे श्रमिकों को बस, ट्रेन यहां तक फ़्लाइट के ज़रिए भी उनके घरों तक पहुंचाया है.   

पब्लिकेशन से बात करते हुए सोनू ने कहा, ‘हाल ही में, लालबाग में रहने वाले और प्रभादेवी में सिद्धिविनायक मंदिर के पीछे रहने वाले कुछ प्रवासी श्रमिक मेरे पास एक याचिका लेकर पहुंचे. मैंने उनके लिए बसों का इंतज़ाम कर दिया है. क़रीब 300 का बैच पांच दिन पहले ही रवाना हो चुका है. वहीं, दूसरा बैच जल्दी ही भेज दिया जाएगा.’  

Source: sinceindependence

सोनू न केवल देश भर में फंसे प्रवासी श्रमिकों की सहायता कर रहे हैं, बल्कि महामारी के कारण विभिन्न देशों में फंसे मेडिकल छात्रों की भी मदद कर रहे हैं. सोनू ने बताया कि, ‘हम किर्गिस्तान, कज़ाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, रूस और फिलीपींस में फंसे मेडिकल छात्रों को भी निकाल रहे हैं.’  

इसके साथ ही सोनू सूद ने कहा कि महामारी के इस दौर में प्रवासी श्रमिकों को नौकरी की बेहद ज़रूरत है. ऐसे में उनकी टीम ने प्रवासी रोज़गार पहल के माध्यम से एक लाख से ज़्यादा लोगों को नौकरी दी है. साथ ही उन्होंने कहा कि 10 हज़ार लोगों के अभी और इंटरव्यू लिए जा रहे हैं.   

Source: mumbailive

बता दें, सोनू सूद लोगों की मदद करने के साथ ही हंसी-मज़ाक करने का भी कोई मौका नहीं गंवाते हैं. दरअसल, एक ट्विटर यूज़र ने सोनू से अपने मोबाइल की इंटरनेट स्पीड बढ़ाने के लिए मदद मांगी तो सोनू ने भी फ़ट से रिस्पांस करते हुए लिखा, ‘क्या आप कल सुबह तक मैनेज कर पाएंगे? अभी मैं किसी का कंप्यूटर फ़िक्स करवाने, किसी की शादी फ़िक्स करवाने में, किसी की ट्रेन ट‍िकट कन्फ़र्म कराने में, किसी के यहां पानी की दिक्कत है, उसे ठीक करवाने में थोड़ा व्यस्त हूं. लोगों ने मुझे इतने ज़रूरी काम दे रखे हैं.’