South Indian Period Drama Films: एक वो दौर था जब पीरियड ड्रामा फ़िल्मों पर बॉलीवुड डायरेक्टर संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) की मज़बूत पकड़ थी. उनकी मूवीज़ में रोल पाने के लिए एक्टर्स अपनी एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा देते थे. हालांकि, आज भी संजय लीला भंसाली की चमक वैसे ही बरक़रार है. बस फ़र्क इतना है कि उसमें से आधे से ज़्यादा लाइमलाइट साउथ फ़िल्मों के मेकर्स ने अपनी ओर खींच ली है. 'बाहुबली', 'ग़ाज़ी अटैक' समेत ऐसी कई पीरियड ड्रामा साउथ इंडियन फ़िल्में हैं, जो आते ही बॉक्स ऑफ़िस पर छा गईं. मौजूदा समय में एसएस राजामौली की फ़िल्म 'RRR' तो कमाई के सारे रिकॉर्ड्स ध्वस्त करती चली जा रही है.

तो चलिए आपको बता देते हैं RRR से पहले आ साउथ इंडियन पीरियड ड्रामा फ़िल्में (South Indian Period Drama Films), जिनको दर्शकों ने ख़ूब सराहा था.

rrr
Source: bollywoodhungama

South Indian Period Drama Films

1. बाहुबली 1 और 2 

एसएस राजामौली की फ़िल्म बाहुबली (Bahubali) के दोनों पार्ट्स ने भव्यता की नयी परिभाषा गढ़ी थी. इसमें माहिष्मती साम्राज्य में सिंहासन के पीछे दो भाइयों के बीच छिड़ी जंग को बखूबी दर्शाया गया था. इसमें ऐसे कई दृश्य थे, जिन्होंने लार्जर देन लाइफ़ मूवीज़ पसंद करने वालों को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया था. फ़िल्म में प्रभास और राणा डग्गुबाती ने अपनी एक्टिंग से इम्प्रेस किया था. इन दोनों फ़िल्मों ने कुल 900 करोड़ की कमाई की थी.  

bahubali
Source: pinkvilla

ये भी पढ़ें: 10 फ़िल्में गवाह हैं जब भी साउथ और बॉलीवुड के स्टार साथ आए हैं बॉक्स ऑफ़िस पर धमाका हुआ है

2. सई रा नरसिम्हा रेड्डी

साल 2019 में आई इस तेलुगू फ़िल्म में चिरंजीवी, नयनतारा, तमन्ना, विजय सेतुपति समेत साउथ इंडस्ट्री के कई पॉपुलर चेहरे थे. यह फिल्म आंध्र प्रदेश के रायलसीमा क्षेत्र के भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता उयालवाड़ा नरसिम्हा रेड्डी के जीवन से प्रेरित थी. यह फिल्म चिरंजीवी को टाइटल के कैरेक्टर के रूप में प्रस्तुत करती है और ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के शासन के खिलाफ़ उनकी लड़ाई में नरसिम्हा रेड्डी की कहानी बताती है. फ़िल्म को imdb ने 7.5 की रेटिंग दी है. (South Indian Period Drama Films)

sai ra narasimha reddy
Source: cinejosh

3. रुद्रमा देवी

ये तेलुगू फ़िल्म साल 2015 में आई थी. फ़िल्म दक्कन में काकतीय वंश के प्रमुख़ शासकों में से एक और भारतीय इतिहास में कुछ शासक रानियों में से एक रुद्रमा देवी के जीवन पर आधारित थी. इसमें रुद्रमा देवी का टाइटल रोल अनुष्का शेट्टी (Anushka Shetty) ने निभाया था. इस डर से कि उसके साम्राज्य के लोग एक महिला उत्तराधिकारी को स्वीकार नहीं करेंगे, एक राजा अपनी बेटी रुद्रमा देवी को एक लड़के की तरह पालता है. वर्षों बाद, जब राज्य पर खतरा मंडराता है, तो वह अपने दुश्मनों से लड़ने के लिए निकल पड़ती है. फ़िल्म ने बॉक्स ऑफ़िस पर क़रीब 86 करोड़ की कमाई की थी.

rudramadevi
Source: indianexpress

4. KGF: चैप्टर 1 और 2

केजीएफ़ का मतलब कोलार गोल्ड फ़ील्ड्स. ये भारत के कर्नाटक राज्य के कोलार जिले में आने वाला एक खनन क्षेत्र है. ब्रिटिश दौर में सोने के उत्पादन के लिए इस जगह को ख़ूब जाना जाता था. इसे सोना उगलने वाली ख़दान भी कहते हैं. फ़िल्म केजीएफ़ के दोनों पार्ट्स की कहानी इसी ख़दान पर आधारित है. फ़िल्म में रॉकी (यश) ग़रीबी में पला-बढ़ा है, लेकिन बड़े होकर वो अपराध जगत में शामिल हो जाता है. फ़िल्म में मार-काट की भरमार है. गाजर मूली की तरह लोगों को काटा गया है. इसका पहला पार्ट सुपरहिट गया था. इसका दूसरा पार्ट अप्रैल 2022 में रिलीज़ किया जाएगा. (South Indian Period Drama Films)

kgf
Source: pinkvilla

5. रंगस्थला

राम चरण (Ram Charan) अपनी कम चैलेंजिंग फ़िल्मों के लिए काफ़ी आलोचना झेल रहे थे. तभी रंगस्थलम फ़िल्म आई और इसने उन लोगों के मुंह पर तमाचे का काम किया, जो एक्टर की प्रतिभा पर सवाल खड़े कर रहे थे. फ़िल्म में उनका द्वारा निभाए गए कैरेक्टर को कम सुनाई देता है. फ़िल्म 80 के दशक के राजनीतिक बैकग्राउंड को ध्यान में रखकर बनाई गई है. इसमें सामंथा रुथ प्रभु (Samantha Ruth Prabhu) उनके अपोज़िट दिखाई दी हैं. ये फ़िल्म साल 2018 में सबसे ज़्यादा कमाई की जाने वाली फ़िल्मों में शुमार हो गई थी.

rangasthalam
Source: indianexpress

ये भी पढ़ें: महेश बाबू: साउथ इंडियन फ़िल्म्स का वो सुपरस्टार, जिनके फ़ैंस टॉलीवुड ही नहीं, बॉलीवुड में भी हैं

6. मगधीरा

एसएस राजामौली के नाम मगधीरा फ़िल्म के रूप में एक और मास्टरपीस शामिल है. राम चरण और काजल अग्रवाल के प्रदर्शन के साथ राजामौली की दूरदर्शी कहानी कहने की तकनीक ने इसे कभी न भूलने वाला अनुभव बना दिया. फ्लैशबैक में घुड़सवारी का सीक्वेंस और 100 आदमियों को मारने वाला सीन अभी भी सभी के रोंगटे खड़े कर देता है. ये राम चरण की दूसरी फ़िल्म थी. इसको Imdb पर 7.7 की रेटिंग मिली है.

magadheera
Source: india

7. मरक्कड: द लायन ऑफ द अरेबियन सी

इस साउथ इंडियन फ़िल्म में अभिनेता सुनील शेट्टी (Sunil Shetty) ने भी काम किया है. उनकी ये फ़िल्म दिसंबर 2021 में रिलीज़ हुई थी. फ़िल्म को लेकर लोगों में क्रेज़ इतना था कि इसने एडवांस बुकिंग के ज़रिए 100 करोड़ के क्लब में एंट्री कर ली थी. ये फ़िल्म नेवी चीफ़ मोहम्मद अली उर्फ कुंजलि मरक्कड़ की लाइफ पर आधारित थी. इसकी कहानी 17वीं सदी के कोझिकोड़ से जुड़ी हुई है. सुनील शेट्टी ने फ़िल्म में योद्धा का रोल प्ले किया था. (South Indian Period Drama Films)

marakkar the lion of arabian sea
Source: koimoi

8. कोचडीयान

फ़िल्म 'कोचडीयान' में रजनीकांत (Rajinikanth) और दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) लीड रोल में थे. ये फ़िल्म साल 2014 में आई थी, जिसने बॉक्स ऑफ़िस पर क़रीब 175 करोड़ की कमाई की थी. कहानी 8वीं शताब्दी के एक योद्धा की ख़ोज का अनुसरण करती है, जो ईर्ष्यालु शासक द्वारा अपने राज्य में एक अच्छे दिल वाले योद्धा व अपने पिता को दी गई गैरकानूनी सजा को देखने के बाद बदला लेना चाहता है. इस फ़िल्म से दीपिका ने अपना साउथ इंडियन फ़िल्मों में डेब्यू किया था. 

kochadaiyaan film
Source: onlykollywood

साउथ इंडियन मूवीज़ दिन ब दिन अपना लेवल बढ़ाती चली जा रही हैं.