‘मेरा ख्व़ाब जगेगा मेरी नींद भरी आंखों में 

आंख लगेगी तो कभी थाम लेना हाथ मेरे
ताज चढ़ेगा सिर महल बनेगा 
कभी लिखना रुके तो दोनों काट देना हाथ मेरे’   

ये शब्द मुनव्वर फ़ारूकी के उस वीडियो के हैं, जिसे अपलोड करने से पहले उन्होंने कॉमेडी छोड़ने की बात कही थी. जेल से रिहा होने के बाद मुनव्वर का ये पहला वीडियो था. हालांकि, वीडियो शुरू होते ही समझ आ गया, मुनव्वर कॉमेडी नहीं छोड़ रहे हैं, बल्कि वो इस वीडियो में बता रहे हैं, आखिर उन्होंने कॉमेडी को चुना क्यों हैं.  

Source: twitter

दरअसल, मुनव्वर को हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक जोक करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था. क़रीब एक महीने से ज्यादा का समय जेल में बिताने के बाद सुप्रीम कोर्ट से वो ज़मानत पर रिहा हो गए.   

अब मुनव्वर ने अपना पहला वीडियो अपलोड कर कहा, ‘मैंने कभी नहीं चाहा कि किसी का दिल दुखा दूं. मैंने लोगों को हंसाना चुना.’  

उन्होंने कहा, पहले लोग इंटरनेट पर दोस्त बनाने आते थे और अब लोग दुश्मन बनाने आते हैं. ऐसे दुश्मन जो आपको जानते तक नहीं है. और उस इंसान के लिए दुश्मन बना रहे जो आपको नहीं जानता.   

Source: youtube

साथ ही, फ़ारूकी ने कहा कि अगर हम किसी चीज़ को बैन करना चाहते हैं तो इंटरनेट पर हो रही नफ़रत को बैन क्यों नहीं करते. लोग बिना सोचे-समझे घंटों एक-दूसरे से बहस करते हैं. लड़ते हैं. गालियां देते हैं. हम ऐसा क्यों कर रहे?  

मुन्नवर ने आगे कहा कि ‘इस भेड़चाल का कोई भी शिकार हो सकता है. मैं शिकार तो नहीं हुआ. मुझे तो सिर्फ़ खरोंच आई और वो भी उस चीज़ की वजह से, जो मैंने की तक नहीं थी.’  

वीडियो के आखिर में मुनव्वर ने ये साफ़ कर दिया कि वो कॉमेडी नहीं छोड़ रहे हैं. वो कॉमेडी जीते हैं और कॉमेडी की वजह से ही वो ज़िंदा हैं. उन्होंने कहा कि हर कलाकार को ये चुनौती नहीं मिलती. मुझे मिली है तो करके दिखाएंगे.  

बता दें, यूट्यूब पर इस वीडियो को अब तक 11 लाख से ज़्यादा बार देखा चुक है. ट्विटर पर भी फ़ैंस के रिएक्शन्स आए हैं.  

पूरा वीडियो यहां देखें-