क्वांटिटी की बात की जाए तो बॉलीवुड हर साल थोक में फ़िल्में रिलीज़ करता है! कई फ़िल्मों को देश में ही नहीं दुनिया में भी सराहा जाता है. एक फ़िल्म बनाने में कितनी मेहनत लगती है ये फ़िल्म बनाने वाले ही जानते हैं, चाहे वो कितनी भी घटिया क्यों न हो! फ़िल्म की कहानी के डिमांड और कभी-कभी ऐसे ही फ़िल्मों में कई फेर-बदल किए जाते हैं.

कई बार कास्ट किए गए अभिनेता और अभिनेत्रियों को यूं ही हटा दिया जाता है, कुछ बेवजह के रिप्लेसमेंट की सूची हाज़िर है-   

1. रोमिया अकबर वॉल्टर में जॉन अब्राहम ने सुशांत सिंह राजपूत को किया रिप्लेस 

Source: Hindustan Times

2019 में आई रोमियो अकबर वॉल्टर का लीड रोल सुशांत करने वाले थे. फ़िल्म निर्माताओं ने सुशांत के साथ ऑफ़िशियल मोशन पोस्टर भी जारी कर दिए थे. सुशांत 'ड्राइव' और 'राबता' की शूटिंग कर रहे थे इसलिए उन्हें लीड रोल से हटा दिया गया.  

2. पल्टन में अभिषेक बच्चन की जगह नज़र आए हर्षवर्धन राणे 

जे.पी.दत्ता निर्देशित 2018 की वॉर एक्शन फ़िल्म की स्टार कास्ट काफ़ी बड़ी थी और एक से एक अभिनेता थे. अभिषेक बच्चन इस फ़िल्म में अहम भूमिका निभाने वाले थे पर शूटिंग शुरू होने से ठीक पहले उन्होंने प्रोजेक्ट छोड़ दिया. इसके बाद अभिषेक के रोल के लिए हर्षवर्धन को लिया गया.  

3. केसरी में रणदीप हुड्डा की जगह अक्षय कुमार को लिया गया 

Source: News Nation English

2019 में आई 'केसरी' सारागढ़ी के युद्ध पर आधारित है. इसमें 21 सिख सिपाहियों ने 10000 अफ़्गानों से युद्ध किया था. रणदीप के साथ लगभग फ़िल्म का 50% हिस्सा शूट कर लिया गया था जब डिस्ट्रिब्यूटर्स ने हाथ खड़े कर लिए. इसके बाद फ़िल्म में अक्षय कुमार को लीड रोल मिला. 

4. फ़ितूर में तब्बू ने रेखा को किया रिप्लेस 

2016 की रोमैंटिक-ड्रामा 'फ़ितूर' ने ज़बरदस्त म्यूज़िक और ख़ूबसूरत लोकेशन्स के बावजूद बॉक्स ऑफ़िस पर कोई कमाल नहीं किया. ये फ़िल्म चार्ल्स डिकन्स की किताब 'Great Expectations' पर बनाई गई है. फ़िल्म में बेग़म हज़रत जां महल का रोल अदा किया तब्बू ने, पर ये रोल पहले रेखा को ऑफ़र किया गया था. रेखा ने ये फ़िल्म इसलिए छोड़ दी थी क्योंकि उनमें और बेग़म हज़रत जां महल में काफ़ी समानताएं थीं. 

5. जग्गा जासूस में गोविंदा का कैमियो हटाया गया 

Source: Indian Today

अनुराग बासु निर्देशित 'जग्गा जासूस' 2017 में आई थी. बहुत कम लोगों को पता होगा कि गोविंदा का इस फ़िल्म में कैमियो था, जिसे हटाया गया. कुछ साल बाद बासु ने सफ़ाई देते हुए कहा कि स्टोरीलाइन में बदलाव की वजह से ऐसा करना पड़ा. 

6. अंधाधुन में आयुष्मान ख़ुराना ने हर्षवर्धन कपूर को किया रिप्लेस 

और ये फ़िल्म बॉलीवुड की इतिहास में अमर हो गई! 2018 की थ्रिलर फ़िल्म को दर्शकों और क्रिटिक्स ने ख़ूब पसंद किया. फ़िल्म ने आयुष्मान को बतौर अभिनेता अलग लेवल पर पहुंचा दिया और फ़िल्म के लिए उन्हें पहला नेशनल अवॉर्ड मिला! बहुत कम लोगों को पता होगा कि ये फ़िल्म पहले हर्षवर्धन कपूर को मिली थी. इस फ़िल्म के लिए निर्देशक श्रीराम राघवन ने कपूर को वर्कशॉप अटेन्ड करने को कहा था पर हर्षवर्धन ने मना कर दिया. इसके बाद आयुष्मान को रोल दिया गया और वो राज़ी हो गए.  

7. कबीर सिंह में शाहिद कपूर ने अर्जुन कपूर को किया रिप्लेस 

Source: India TV News

2019 की रोमैंटिक-ड्रामा और विवादों में घिरी फ़िल्म कबीर सिंह के लीड रोल के लिए पहले अर्जुन कपूर को ऑफ़र दिया गया था. अर्जुन को ये रोल अदा करना था पर निर्देशक संदीप वान्गा रेड्डी शाहिद से मिल चुके थे और इस रोल के लिए वे शाहिद को ही लेना चाहते थे और अंत में फ़िल्म शाहिद ने ही की और अभिनय के मामले में झंडे गाड़ दिए. 

8. ऑल इज़ वेल में सुप्रिया पाठक ने ली स्मृति ईरानी की जगह 

Source: Indian Express

2015 में आई रोमैंटिक-कॉमेडी 'ऑल इज़ वेल' ने बॉक्स ऑफ़िस पर कोई कमाल नहीं किया. हालांकि इस फ़िल्म की कास्ट काफ़ी स्ट्रॉन्ग थी. सुप्रिया पाठक ने फ़िल्म में अभिषेक बच्चन की मां का रोल निभाया था. ये रोल पहले स्मृति ईरानी को दिया गया था. स्मृति उस समय एचआरडी मंत्री बन गई और उनके पास वक़्त न होने के कारण ये रोल सुप्रिया ने निभाया.