सपने हर कोई आसानी से देख लेता है मगर पूरे केवल उनके होते हैं जिन्हें ख़ुद पर यक़ीन होता है.

ऐसे ही कुछ सपने सोनाली और सोमंथ ने देखे थे जिसको पूरा करने की चाह में अपने-अपने शहर और गांव से निकले ये दोनों बच्चे आज America’s Got Talent तक जा पहुंचे हैं. जहां, लोग चेहरे पर मुस्कान लिए दोनों को स्टेज पर डांस करते देख रहे हैं. आइए आपको लेकर चलते हैं इस सपने की कहानी के पीछे.

sonali and sumanth
Source: thebetterindia

सोनाली और सोमंथ की यात्रा

सोनाली, बांग्लादेश की सीमा से लगे पश्चिम बंगाल के एक गांव शोलारदारी से आई है. उसके पिता एक किसान हैं जो चावल, केले और सब्ज़ियां उगाते हैं जबकि उसकी मां एक गृहिणी हैं. घर की आर्थिक तंगी से लड़ते हुए भी सोनाली के पिता अपनी बेटी के सपनों को पूरा करना चाहते हैं.

सोनाली 3 साल की छोटी उम्र से मेले और गांव में हो रहे जगह-जगह के समारोह में नाच रही है.

sonali
Source: thebetterindia

16 साल की हो चुकी सोनाली अपने शुरुआती सफ़र को याद करते हुए The Better India को बताती है, 'मेरे गांव के किसी व्यक्ति ने मेरे पिता को बिवाश सर का नंबर दिया था और हमने कोलकाता की यात्रा करने का फ़ैसला किया. अकादमी का पता लगने के बाद मेरे पिता निश्चिंत हो गए थे.' सोनाली उस वक़्त मात्र 7 साल की थी.

सोनाली के पिता, 43 वर्षीय, शोणाक्षी मजूमदार के पास एक बीघा ज़मीन है और वह दूसरों की भूमि पर काम करते हैं. उन्होंने हमेशा महसूस किया है की उनकी बेटी में डांसिंग स्टार बनने की सारी ख़ूबी है.

सोनाली को आज इस मुक़ाम पर देख वो बहुत गर्व महसूस करते हैं.

जब सोनाली के पिता बिवाश से कोलकाता में मिले थे वो समझ गए थे की उनकी बच्ची को उनसे अच्छा गुरु नहीं मिलेगा. उन्हें ये भी पता था की गांव में रह कर उनकी बच्ची कभी अपना सपना पूरा नहीं कर पाएगी. जिस वजह से उन्होंने सोनाली को कोलकाता छोड़ने का फ़ैसला लिया.

India's got talent
Source: thebetterindia

वहीं दूसरी तरफ़ सोनाली के पार्टनर सुमंथ को हमेशा से पता था की डांस ही उसकी दुनिया है.

भुबनेश्वर के रहने वाले सुमंथ के पिता की रेलवे में नौकरी है.

13 साल की उम्र में जब सुमंथ को बिवाश अकादमी ऑफ़ डांस के बारे में पता चला तो उसने तुरंत दाख़िला ले लिया. घर वालों का भी सुमंथ को पूरा साथ था.

मगर सबसे मुश्किल था हर सप्ताह के अंत में भुबनेश्वर से कोलकाता जाना.

अब 21 साल के सुमंथ उस वक़्त को याद करते हैं तो बोलते हैं, 'मगर पीछे मुड़कर देखता हूं तो उन यात्राओं के लिए ख़ुशी होती है. यह मुझे एहसास करवाती है की डांस किस क़द्र मेरा जुनून है और मैं आज यहां न होता यदि मैंने उस समय इतनी मेहनत न की होती.'

bivash
Source: thebetterindia

गुरु बिवाश के साथ का सफ़र

सोनाली और सुमंथ आज यहां तक नहीं पहुंच पाते यदि इन के गुरु या कोरिओग्राफ़र बिवाश का साथ न होता.

2011 में India’s Got Talent में बिवाश की अकादमी का प्रतिनिधित्व दो बच्चे आकाश और डोना ने किया था. मगर वो रनर-अप ही रह गए.

मगर फिर 2012 के शो के लिए बिवाश ने ठान लिया था की इस बार का IGT ख़िताब उनके ही नाम होगा. जिसके बाद सोनाली और सुमंथ की जोड़ी ने IGT Season 4 जीतकर इतिहास रच दिया.

Dancers
Source: thebetterindia

IGT से अमेरिका तक की उड़ान

2012 में IGT जीतने के बाद सोनाली और सुमंथ ने कई शो जैसे 'झलक दिखला जा' और 'डांस चैंपियन' में भाग लिया. 2019 में जब America’s Got Talent ने उन्हें ऑडिशन के लिए आमंत्रित किया तो उन्हें पता था कि ये उन तीनों के लिए मौक़ा है. अपने-अपने सपनों को पाने की तरफ़. मौक़ा है चमकने का.

America's got talent
Source: thehindu

कई घंटों की मेहनत और रिहर्सल के बाद इस साल फरवरी में दोनों ने अमेरिका के मंच पर शानदार डांस किया है.

फ़िलहाल दोनों ही डांसर अपने अगले राउंड की तैयारी में लगे हुए हैं.

हमारी तरफ़ से दोनों को ही ALL THE BEST !