भारत में फ़िल्मों का असल निर्माण 1950-60 के दशक में शुरू हुआ था, लेकिन टीवी धारावाहिक के निर्माण में लंबा वक़्त लगा. 80 का दशक भारतीय टेलीविज़न इतिहास के लिए भी बेहद यादगार है. ये वही दशक था जब भारत में टेलीविज़न धारावाहिकों की शुरुआत हुई थी. 

Source: filmykeeday

7 जुलाई, 1984 को भारतीय टेलीविजन इतिहास के पहले धारावाहिक 'हम लोग' की शुरुआत हुई थी. इस शो में मध्यमवर्गीय भारतीय परिवार की कठिनाइयों, परिश्रम, इच्छाओं और सपनों की कहानी दिखाई गई थी. ये धारावाहिक आज भी लोगों की यादों में जीवित है.

Source: filmykeeday

'हम लोग' धारावाहिक में विनोद नागपाल ने बसेसर राम, जयश्री अरोरा ने भागवंती, राजेश पुरी ने ललित प्रसाद 'लल्लू', अभिनव चतुर्वेदी ने चंदर प्रकाश 'नन्हे', सीमा पाहवा ने गुणवंती 'बड़की', दिव्या सेठ ने रूपवंती मंझली', लवलीन मिश्रा ने प्रीती 'छुटकी' और सुचित्रा चिलाते ने लाजवंती 'लाजो' का किरदार निभाया था.   

इस धारावाहिक को लोग इसलिए भी पसंद करते थे क्योंकि शो के अंत में अशोक कुमार एक अलग ही अंदाज़ में समाज पर कटाक्ष करते थे. सीरियल के आख़िर में दिए जाने वाले इस संदेश के लिए अशोक कुमार सीरियल के अन्य कलाकारों से कई गुना ज़्यादा मेहनताना (फ़ीस) लेते थे. 

1- 'हम लोग' धारावाहिक का पहला एपिसोड 7 जुलाई, 1984 को डीडी नेशनल पर प्रसारित हुआ था. 

1- 'हम लोग' धारावाहिक का पहला एपिसोड 7 जुलाई, 1984 को डीडी नेशनल पर प्रसारित हुआ था. 

Source: hindustantimes

2- ये देश का पहला टीवी सीरियल था, जिसे संपूर्ण भारत में एक साथ टेलीकास्ट किया गया था. 

Source: timesofindia

3- 'हम लोग' ने पूरे हिंदुस्तान को रात 9:00 बजे टेलीविज़न के सामने बैठने पर मजबूर कर दिया था. 

Source: timesofindia

4- सन 1984 में इस धारावाहिक की लोकप्रियता ने टीवी को घर-घर पहुंचाने में बड़ा योगदान दिया. 

Source: timesofindia

5- इस धारावाहिक को देखने के लिए उस दौर में लाखों लोगों ने नये-नये टीवी सेट ख़रीद लिए थे. 

Source: timesofindia

6- इस धारावाहिक का कॉन्सेप्ट एक मेक्सिकन टीवी सीरियल से लिया गया था. 

Source: timesofindia

7- इस धारावाहिक में अशोक कुमार ने कथानक (Narrator) की भूमिका निभाई थी. 

Source: timesofindia

8- इस दौरान अशोक कुमार पारिवारिक विवादों व जीवन की समस्याओं के बारे में दर्शकों को जागृत करते थे. 

Source: timesofindia

9- 'हम लोग' टीवी सीरियल को उस दौर में भारत के 80% से अधिक लोगों द्वारा देखा जाता था.

Source: timesofindia

10- इसकी कहानी मनोहर श्याम जोशी ने लिखी थी. इसका निर्देशन पी. कुमार वासुदेव ने किया था. 

Source: timesofindia

11- इस धारावाहिक की शूटिंग गुड़गांव में की जाती थी. जबकि रिहर्सल दिल्ली के हिमाचल भवन में की जाती थी. 

Source: timesofindia

12- 17 महीने तक चले इस धारावाहिक के दौरान अशोक कुमार को युवा दर्शकों से 4 लाख से अधिक पत्र मिले थे. 

Source: freeonlineindia

13- इस धारावाहिक के कुल 154 एपिसोड प्रसारित हुए थे. आख़िरी एपिसोड 17 दिसंबर 1985 को प्रसारित हुआ था. 

Source: timesofindia

14- इस धारावाहिक का 1 एपिसोड 25 मिनट का होता था, लेकिन आख़िरी एपिसोड 55 मिनट का प्रसारित किया गया था. 

Source: moifightclub

 15- इस धारावाहिक की लोकप्रियता के बाद 'मालगुडी डेज़', 'नुक्कड़', 'रामायण' और 'महाभारत' शो का निर्माण भी होने लगा. 

Source: thequint

तो दोस्तों भारत के पहले टीवी सीरियल 'हम लोग' से जुड़ी ये थी कुछ ख़ास बातें थी.