दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित 'ऑस्कर अवार्ड्स' को लेकर हर साल लोगों के बीच क्रेज़ बना रहता है. आपको जानकर ख़ुशी होगी कि भारत को भी मलयालम फ़िल्म 'जल्लीकट्टू' के साथ आधिकारिक रूप से ऑस्कर्स 2021 में एंट्री मिल गई है. ‘जल्लीकट्टू’ को 93rd अकाडमी अवॉर्ड्स में बेस्ट इंटरनेशनल फ़ीचर फ़िल्म कैटेगरी के लिए भेजा गया है.  

इस फ़िल्म को Lijo Jose Pellissery ने डायरेक्ट किया है. जिन्हें 50वें ‘भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फ़िल्मोत्सव’ में श्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. फ़िल्म पिछले साल 4 अक्टूबर को रिलीज़ हुई थी.  

आइए आपको बतातें हैं फ़िल्म से जुड़ी कुछ बातें: 

1. फ़िल्म का नाम 'जल्लीकट्टू' तमिल नाडु में पोंगल के दौरान बैलों को क़ाबू करने वाले एक हिंसक खेल से प्रेरित है. फ़िल्म की कहानी एक कसाईखाने की है, जहां बैलों को मारकर उन्हें बेचा जाता है. एक दिन उस कसाईखाने में ऐसी भाग जाती है और पूरे गांव में आतंक मचा देती है. यह लेखक एस हरीश की कहानी Maoist पर आधारित है. 

Jallikattu
Source: scroll

2. पिछले साल 'टोरंटो इंटरनेशनल फ़िल्म फ़ेस्टिवल' में फ़िल्म की स्क्रीनिंग हुई थी और बाद में 'बुसान इंटरनेशनल फ़िल्म फ़ेस्टिवल' में भी.  

3. फ़िल्म में Antony Varghese, Chemban Vinod Jose, Sabumon Abdusamad और Santhy Balachandran लीड रोल में हैं.  

Jallikattu
Source: cinemaexpress

4. भारत से 27 फ़िल्में ऑस्कर के लिए गई थी जिस में से 'जल्लीकट्टू' ने अपनी जगह बनाई. शकुंतला देवी, गुंजन सक्सेना, बुलबुल, छपाक, अटकन चटकन, चिंटू का बर्थडे जैसी फ़िल्में इस सूचि में शामिल थी.  

5. जल्लीकट्टू के चयन पर FFI (Film Federation of India) के जूरी बोर्ड के अध्यक्ष राहुल रवैल ने कहा, "यह एक ऐसी फ़िल्म है जो वास्तव में मनुष्य के एक ऐसे हिस्से को सामने लाती है कि हम जानवरों से भी बदतर हैं... फिल्म की शूटिंग बहुत अच्छी तरह से हुई है." 

पिछले साल भारत से रणवीर सिंह और आलिया भट्ट की फ़िल्म 'गली बॉय' नॉमिनेट हुई थी लेकिन ऑस्कर जीत नहीं पाई.