सुभाष घई हिंदी सिनेमा के वो डायरेक्टर जिन्हें राज कपूर के बाद इंडस्ट्री के दूसरे शो मैन की उपाधि दी गई. सुभाष ने अपने करियर की शुरुआत फ़िल्म काली चरण से की थी. इसके बाद उन्होंने एक से बढ़कर एक फ़िल्में बनाईं और कहलाए बॉलीवुड के दूसरे शो मैन.

 सुभाष घई
Source: wikipedia

हिंदी सिनेमा को सुभाष ने 'हीरो', 'जंग,कर्मा', 'राम लखन', 'सौदागर', 'ख़लनायक', 'परदेस', 'ताल' जैसी सुपरहिट फ़िल्में दी हैं. जितने कमाल के वो डायरेक्टर उतने ही कमाल के वो कास्टिंग डायरेक्टर भी हैं. उन्होंने इंडस्ट्री को कई नई चेहरों को अपनी फ़िल्मों के ज़रिये लॉन्च किया और उन्हें रातों रात स्टार बना दिया.

 सुभाष घई

ऐसे ही एक स्टार के बारे में आज हम बात करेंगे, जिनका नाम है जैकी श्रॉफ़. 1983 में आई फ़िल्म हीरो से सुभाष घई ने जैकी को लॉन्च किया था. उन्हें ये फ़िल्म कैसे मिली इसकी भी एक इंटरेस्टिंग स्टोरी है. चलिए जानते हैं उस क़िस्से के बारे में…

 सुभाष घई
Source: amarujala

इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने के बाद सुभाष घई ने 1982 में अपना ख़ुद का प्रोडक्शन हाउस खोला था, नाम था मुक्ता आर्ट्स. इसकी पहली फ़िल्म हीरो के लिए उन्हें एक नए चेहरे की तलाश थी. ये तलाश जैकी श्रॉफ़ पर जाकर ख़त्म हुई, जिनके बारे में उनके एक दोस्त ने बताया था. जैकी श्रॉफ़ तब तक चार मिनार सिगरेट की एड कर चुके थे और देवानंद की फ़िल्म स्वामी दादा में छोटा सा रोल किया था.

Source: amarujala

सुभाष घई ने इस बारे में बात करते हुए कहा था कि उस वक़्त जैकी श्रॉफ़ एक नौसिखिया एक्टर थे. एक लंबी वीडियो चैट पर उन्होंने जैकी का ऑडिशन लिया था. इसकी शुरुआत में ही जैकी श्रॉफ़ ने बता दिया था कि उन्हें एक्टिंग करने का बहुत एक्सपीरियंस है. उनके चेहरे की मासूमियत और ईमानदारी सुभाष घई को पसंद आ गई और उन्होंने तभी तय कर लिया कि वो जैकी को एक रोमांटिक एक्शन हीरो के रूप में लॉन्च करेंगे.

Source: rediff

वहीं जैकी को लग रहा था यार ये होगा कैसे. उनके मन में ये सवाल था कि रोल तो मिल गया पर अब ये करेंगे कैसे? पर उन्होंने हार नहीं मानी और शुरू कर दी फ़िल्म की शूटिंग.

Source: myrepublica

सुभाष घई ने जैकी श्रॉफ़ को फ़िल्म हीरो में एक ऐसे गुंडे के रूप में लॉन्च किया था, जिसका दिल साफ़ है, उसे बांसुरी बजाना पसंद है. एक लड़की के प्यार में पड़कर वो अपराध के रास्ते को त्यागने को तैयार हो जाता है. इस फ़िल्म की कहानी और एक्टर दोनों ही दर्शकों को पसंद आए.

Source: dnaindia

इस फ़िल्म को ऑल टाइम ब्लॉक बस्टर घोषित किया गया था और कुछ शहरों में तो 750 दिनों तक इसके शो चले थे. हीरो फ़िल्म के रिलीज़ होने के बाद जैकी और मीनाक्षी रातों रात स्टार बन गए थे. सुभाष घई को आज भी गर्व है कि उन्होंने इस फ़िल्म का निर्माण किया जो हिंदी सिनेमा की सदाबहार फ़िल्मों में गिनी जाती है.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.