Unconventional Romantic Films : बॉलीवुड (Bollywood) में अब तक कई रोमांटिक जॉनर की फ़िल्में बन चुकी हैं. इनमें से ऐसी भी कई मूवीज़ हैं, जिन्होंने प्यार को नए सिरे से परिभाषित करने के लिए कई स्टीरियोटाइप तोड़े हैं. अगर आप उनमें से हैं, जिन्हें रूढ़ीवादी सोच वाली प्रेम कहानियों से इतर कुछ अपारंपरिक कहानियां पसंद हैं, तो हम आपके लिए कुछ ऐसी फ़िल्में लेकर आए हैं, जो प्यार की एक नई परिभाषा गढ़ती हैं. 

1. बर्फ़ी

इस मूवी में रणबीर कपूर के कैरेक्टर ‘मरफ़ी जॉनसन‘ को दो महिलाओं श्रुति और उसकी बचपन की दोस्त झिलमिल से प्यार हो जाता है. ये मूवी दिखाती है कि कैसे रोमांटिक रिलेशनशिप समय के साथ मैच्योर और विकसित होती हैं. 

pinterest

ये भी पढ़ें: 70 के दशक की रोमांटिक फ़िल्म चितचोर के 6 गाने आज भी दिल में प्यार की भीनी-भीनी ख़ुशबू छोड़ जाते हैं

2. द लंच बॉक्स

ये मूवी एक सिम्पल कहानी को भी बेहद उम्दा तरीक़े से बताती है. ये उन दो लोगों की कहानी बताती है, जिनकी राहें एक-दूसरे से ग़लत डिलीवरी की वजह से मिलती हैं. ये उन दो लोगों के बारे में एक ख़ूबसूरत कहानी है, जो फ़ूड और अपनी ज़िन्दगी के अकेलेपन के चलते एक-दूसरे से बॉन्डिंग बनाते हैं. 

3. हनीमून ट्रैवल्स प्राइवेट लिमिटेड

साल 2007 में आई ये मूवी अपने हनीमून पर आए 6 अलग-अलग कपल्स की स्टोरी को कैप्चर करती है. ये कपल अलग एज ग्रुप के होते हैं और रिलेशनशिप के बारे में बेहद कीमती पाठ ऑडियंस को पढ़ाते हैं. अगर आपने अभी तक ये मूवी नहीं देखी है, तो आपको एक बार ज़रूर देखनी चाहिए. 

imdb

4. चीनी कम 

इस मूवी की कहानी में एक 64 साल के व्यक्ति को एक 34 साल की महिला से प्यार हो जाता है. ये एक ऐसी कहानी है, जो शायद पारंपरिक सोच के दायरे में फिट ना बैठे. लेकिन इसके डायरेक्टर ने इस सेंसिटिव इश्यू को बेहद समझदारी से ऑडियंस के सामने पेश किया था. 

hindustantimes

5. वंस अगेन

ये मूवी दो मिडिल एज व्यक्तियों के बारे में है, जो प्यार को दूसरा मौका देते हैं. इसमें नीरज काबी एक उम्रदराज़ सुपरस्टार का रोल निभाते हैं, जो तलाकशुदा हैं और अपनी बेटी की कस्टडी अपनी एक्स-वाइफ़ के साथ शेयर करते हैं. इसमें शेफ़ाली शाह ने एक विधवा का क़िरदार निभाया है, जिसका मुंबई में एक छोटा रेस्तरां है. ये अपारंपरिक मूवी दो मिडिल एज व्यक्तियों का अकेलापन और उनकी इंटीमेसी की चाहत को शोकेस करती है.  

rediff

6. वेक अप सिड

ये उन रेयर फिल्मों में से एक है, जिसमें बॉलीवुड ने एक यंग आदमी और उससे ज़्यादा उम्र की महिला के बीच में रोमांस शो करने की हिम्मत दिखाई है. जहां बॉलीवुड हमेशा दिखाता है कि हीरो अपनी प्रेमिका को बचाने आएगा, वहीं इसमें उल्टा दिखाया जाता है. इस मूवी में कोंकोणा सेन शर्मा, सिड को रास्ता दिखाती हैं, जब वो अपनी ज़िन्दगी में अकेला महसूस करता है.  

Unconventional Romantic Films
pinkvilla

7. शिरीन फ़रहाद की तो निकल पड़ी

फिल्म ‘चीनी कम‘ की तरह ये मूवी दो मिडिल एज व्यक्तियों शिरीन और फ़रहाद की प्रेम कहानी कैप्चर करती है. ये मूवी उस स्टीरियोटाइप को तोड़ती है, जो कहता है कि आप अपने 40s में प्यार नहीं पा सकते हैं.

outlookindia

8. क़रीब क़रीब सिंगल

ये मूवी साल 2017 में आई थी, जिसमें इरफ़ान ख़ान और मलयालम एक्ट्रेस पार्वती थिरोवोतु लीड रोल्स में थे. ये फ़िल्म हमारे समाज में प्रचलित प्रेम के बारे में रूढ़ियों को तोड़ती है. ये मूवी मिड 30s में एक जया शशिधरन नाम की विधवा महिला के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अकेली रहती है और एक इंश्योरेंस पॉलिसी में काम करती है. इसका प्लाट जया की योगी से मीटिंग और एक सफ़र के बारे में हैं, जो वो एक साथ करते हैं.

imdb

ये मूवीज़ प्यार की एक अलग ही परिभाषा गढ़ती हैं.