Underrated Songs Of KK: कृष्णकुमार कुन्नुथ उर्फ़ केके वो आवाज़ जिसने टूटे दिलों और टूटी दोस्ती को जोड़ने का काम किया. 'यारों दोस्ती' हो या 'पल' केके (KK) के हर गाने ने दिल को छुआ हैं. 90 का दशक केके के गानों का था. दिल टूटने पर दर्द कम होता था, जैसे ही केके के गाने सुन लो, जिसने लाखों दिलों को सुकून दिया आज उसी सिंगर के दिल ने उसका साथ नहीं दिया. लाखों दिलों को धड़काने वाले केके का बीती रात यानि 31 मई को हार्ट अटैक आने से निधन हो गया और वो 53 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह कर चले गए.

Underrated songs of KK
Source: thequint

केके ने भले ही दुनिया को अलविदा कहा हो, लेकिन अपनी रुहानी आवाज़ से वो हमेशा हमारे दिलों में बसे रहेंगे, जब-जब उनके गाने सुनेंगे उनके होने का एहसास ज़िंदा रहेगा. केके ने अपने करियर में 500 से ज़्यादा हिंदी गाने और 200 से ज़्यादा  तेलुगु, बंगाली, तमिल, कन्नड़ और मलयालम भाषाओं में गाए हैं. हो सकता है आपने इनके सारे सॉन्ग सुने हों, लेकिन फिर भी कुछ गाने हैं, जो सुने तो गए लेकिन यादों में नहीं रहे. ये गाने अच्छे होते हुए भी अंडररेटेड सॉन्ग (Underrated Songs Of KK) बनकर रह गए, तो चलिए जानते हैं कौन से हैं वो गाने:

ये भी पढ़ें: कृष्णकुमार कुन्नथ उर्फ़ KK: वो बॉलीवुड सिंगर, जिनकी आवाज़ के हिसाब से उनके लिए लिखे जाते थे गाने

Underrated Songs Of KK

1. अब तो फ़ॉरेवर, ता रा रम पम (Ab Toh Forever, Ta Ra Rum Pum)

2. मेरा पहला पहला प्यार (Mera Pehla Pehla Pyaar)

3. कल की ही बात है, छिछोरे (Kal Ki Hi Baat Hai, Chhichhore)

4. तुझ संग लागी, स्पेशल 26 (Tujh Sang Lagee, Special 26)

5. यारा रे, रॉय (Yaara re, Roy)

6. सुन ज़रा (Sunn Zara)

7. तू आशिक़ी है, झंकार बीट्स (Tu Aashiqui Hai, Jhankaar Beats)

8. बस इतनी सी गुज़ारिश है, गुज़ारिश (Bas Itni Si Guzarish Hai, Guzaarish)

9. गुलों में (Gulon Mein)

10. कैसा ये राज़ है, राज़ 2 (Kaisa Yeh Raaz Hai, Raaz 2)

11. जीना क्या, ओम जय जगदीश (Jeena Kya, Om Jai Jagdish)

12. दीवानगी (Deewangi)

13. तेरे इस जहां में क्या ख़ुदा, रोग (Tere Is Jahan Mein Kya Khuda, Rog)

14. ओ मामा, 7 ख़ून माफ़ (O' Mama, 7 Khoon Maaf)

15. नज़र-नज़र, नज़र (Nazar Nazar, Nazar)

16. कभी ख़ुशबू, साया (Kabhi Khushboo, Saaya)

17. इसी बात पे, आई एम (Issi Baat Pe, I Am)

केके ने अपनी रुहानी आवाज़ से हर शब्द को रुह दी है. आज वो जहां भी होंगे अपनी आवाज़ से उस जगह को भी महका देंगे और वहां पर भी सबको अपना दीवाना बना लेंगे. अलविदा केके!