'मिस वर्ल्ड' और 'मिस यूनिवर्स' के बीच सबसे बड़ा अंतर ये है कि ये दोनों ब्यूटी कॉन्टेस्ट दो अलग-अलग देशों द्वारा संचालित और आयोजित किये जाते हैं. 'मिस वर्ल्ड' का संचालन ब्रिटेन द्वारा किया जाता है, जबकि 'मिस यूनिवर्स' का संचालन अमेरिका द्वारा किया जाता है. इन दोनों ही प्रतियोगिताओं में केवल महिलाओं को उनकी ख़ूबसूरती ही नहीं, बल्कि उनकी बॉडी लैंग्वेज, सेंस ऑफ़ हुमर, नॉलेज, विजन और उनकी प्रतिभा के ज़रिए भी जज किया जाता है. इसके बाद जूरी मेंबर्स मिलकर विश्व की सबसे सुदंर लड़की का चुनाव करते हैं.

ये भी पढ़ें- जानिए अब तक कौन-कौन सी भारतीय सुंदरियां पहन चुकी हैं 'मिस वर्ल्ड' और 'मिस यूनिवर्स' का ताज

Miss World and Miss Universe History
Source: reuters

'मिस वर्ल्ड' और 'मिस यूनिवर्स' में अंतर

'मिस वर्ल्ड' और 'मिस यूनिवर्स' दोनों ही हर साल होने वाली अंतरराष्ट्रीय सौन्दर्य प्रतियोगिता हैं. ब्रिटेन ने सन 1951 में पहली बार इंटरनेशनल लेवल पर महिलाओं की ख़ूबसूरती के लिए 'मिस वर्ल्ड' नामक ब्यूटी कॉन्टेस्ट की शुरुआत की थी. इसके 1 साल बाद ही सन 1952 में अमेरिका ने भी एक ब्यूटी कॉन्टेस्ट की शुरुआत की जिसे 'मिस यूनिवर्स' का नाम दिया. ये दोनों ब्यूटी कॉन्टेस्ट केवल ख़ूबसूरती का पैमाना नापने के लिए ही नहीं बने हैं, बल्कि इनका मकसद मानव जीवन के सकारात्मक पहलुओं को दुनिया के सामने पेश करना भी है.

Difference between Miss World and Miss Universe
Source: pinkvilla

मिस वर्ल्‍ड (Miss World)

'मिस वर्ल्‍ड' प्रतियोगिता में हिस्‍सा लेने के लिए पहले आपको 'मिस इंडिया' का ख़िताब जीतना होगा. इसके बाद ही आप 'मिस वर्ल्‍ड' कॉन्‍टेस्‍ट में भारत को रिप्रेजेंट कर सकती हैं. 'मिस इंडिया' प्रतियोगिता में हिस्‍सा लेने के लिए एक फॉर्म भरकर रजिस्‍ट्रेशन करना होता है. ये फॉर्म हर साल के अंत में उपलब्‍ध कराये जाते हैं. रजिस्‍ट्रेशन फॉर्म से जुड़ी जानकारी आपको 'मिस इंडिया' की वेबसाइट पर भी मिल जाएगी.

Manushi Chhillar, Miss World
Source: pinkvilla

मिस यूनिवर्स (Miss Universe)

'मिस यूनिवर्स' प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए कैंडिडेट की उम्र 18 से 28 साल के बीच होनी चाहिए. इसके साथ ही कैंडिडेट का नेशनल लेवल के ब्‍यूटी पेजेंट का विनर होना ज़रूरी है. इस प्रतियोगिता में भाग लेने के दो तरीके हैं. पहला आप डायरेक्ट 'मिस यूनिवर्स' की ऑफ़िशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. इसके अलावा 'मिस यूनिवर्स' पेजेंट के हर देश में नेशनल डायरेक्‍टर हैं आप यहां से भी आवेदन कर सकते हैं. ऑनलाइन अप्‍लाय करने के बाद सारी जानकारी देश के नेशनल डायरेक्‍टर के पास भेजी जाएगी. यहीं से अगले चरण की प्रॉसेस के बारे में आपको जानकारी मिलती रहेंगी.

Harnaaz Sandhu, Miss Universe
Source: livemint

चलिए आज 'मिस वर्ल्ड' और 'मिस यूनिवर्स' का इतिहास भी जान लेते हैं-

क्या है 'मिस वर्ल्ड' का इतिहास?

'मिस वर्ल्ड' प्रतियोगिता की शुरुआत 29 जुलाई 1951 को ब्रिटिश टीवी होस्ट एरिक मॉर्ले (Eric Morley) ने की थी. इसका हेड ऑफ़िस लंदन में  है. वर्तमान में इसकी प्रेसिडेंट Julia Morley हैं. सन 1951 में 'मिस वर्ल्ड' की पहली विजेता स्वीडन की Kerstin 'Kiki' Hakansson थीं. इसके बाद सन 1952 में भी स्वीडन की ही May-Louise Flodin विजेता बनी थीं. वर्तमान 'मिस वर्ल्ड' जमैका की Toni-Ann Singh हैं.

Miss World History
Source: redbookmag

कैसे हुई थी 'मिस वर्ल्ड' की शुरुआत? 

सन 1951 में ब्रिटिश टीवी होस्ट एरिक मॉर्ले (Eric Morley) ने 'Festival of Britain' के दौरान एक 'बिकनी कॉन्टेस्ट' का आयोजन किया था. असल में ये एक 'स्विमसूट प्रतियोगिता' थी, जिसे बिकनी के प्रचार के लिए आयोजित किया गया था. लेकिन एरिक का ये आयोजन बेहद सफल रहा और मीडिया ने इसे 'मिस वर्ल्ड' नाम दे दिया. बस यहीं से एरिक को 'मिस वर्ल्ड' के आयोजन का आइडिया आया. सन 1959 में बीबीसी ने पहली बार इस पेजेंट का प्रसारण शुरू किया था. इसके बाद 1960 और 1970 के दशक में 'मिस वर्ल्ड' ब्रिटिश टेलीविजन पर साल के सबसे अधिक देखे जाने वाले कार्यक्रमों में से एक बन गया.

History of Miss World
Source: ibtimes

विवादों से रहा है गहरा नाता  

सन 1951 की 'मिस वर्ल्ड' विजेता 'केर्स्टिन 'किकी' हकंसन' को बिकिनी में ताज पहनाये जाने की वजह से कई देशों ने इस प्रतियोगिता का बहिष्कार करन शुरू कर दिया. सन 1970 में लंदन में आयोजित 'मिस वर्ल्ड' प्रतियोगिता को महिला मुक्ति प्रदर्शनकारियों ने फ़्लोर बम, बदबूदार बम और स्याही से भरी वाटर पिस्तौल के ज़रिए बाधित करने का काम किया था. सन 1970 की प्रतियोगिता विवादास्पद रही थी, जब दक्षिण अफ़्रीका ने अपने दो प्रतियोगियों (एक श्वेत और एक अश्वेत) को भेज दिया था. इसके बाद रंगभेद को समाप्त करने तक दक्षिण अफ़्रीका को इस प्रतियोगिता से प्रतिबंधित कर दिया गया था.

History of Miss World
Source: ibtimes

बेनेजुएला बना सबसे अधिक बार विजेता

मिस वर्ल्ड के 70 सालों के इतिहास में बेनेजुएला सबसे अधिक बार ये ख़िताब जीतने में कामयाब रहा है. इसके बाद भारत का नंबर आता है. भारत की रीता फ़रिया (1966), ऐश्वर्या राय (1994), डायना हेडन (1997), युक्ता मुखी (1999), प्रियंका चोपड़ा (2000) और मानुषी छिल्लर (2017) ये ख़िताब जीत चुकी हैं. इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर स्वीडन का नाम आता है.

 Miss World Titles
Source: ibtimes

क्या है 'मिस यूनिवर्स' का इतिहास?

'मिस यूनिवर्स' प्रतियोगिता की शुरुआत 28 जून, 1952 को अमेरिका में हुई थी. इसका हेडक़्वार्टर न्यूयॉर्क में है. इसका संचालन 'मिस यूनिवर्स ऑर्गनाईजेशन' द्वारा किया जाता है. सन 1952 में फिनलैंड की Armi Kuusela दुनिया की पहली 'मिस यूनिवर्स' बनी थीं. वर्तमान 'मिस यूनिवर्स' भारत की 'हरनाज़ संधू' हैं.  

History of Miss Universe
Source: insider

'मिस यूनिवर्स' पेजेंट का मकसद 'मानवीय मुद्दों और दुनिया में सकारात्मक बदलाव के लिए आवाज़ बनना है. वर्तमान में 'मिस यूनिवर्स' की प्रेसिडेंट पौला शोगार्ट हैं. इससे पहले पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी इसके प्रेसिडेंट रह चुके हैं. ये दुनिया के 190 से अधिक देशों में 500 मिलियन से अधिक दर्शकों के साथ दुनिया में सबसे अधिक देखे जाने वाले 'ब्यूटी पेजेंट' में से एक है.

Miss Universe Titles
Source: insider

अमेरिका बना सबसे अधिक बार विजेता  

'मिस यूनिवर्स' के इतने सालों के इतिहास में अमेरिका सर्वाधिक ख़िताब के साथ सबसे आगे है. इसके बाद बेनेजुएला दूसरे स्थान पर, जबकि फ़िलीपींस तीसरे स्थान पर मौजूद है. भारत की 3 सुंदरियां सुष्मिता सेन (1994), लारा दत्ता (2000) और हरनाज़ संधू (2021) भी ये ख़िताब अपने नाम कर चुकी हैं.  

America win most Miss Universe Titles
Source: insider

बताइये भारत अब तक कुल कितने 'मिस वर्ल्ड' और 'मिस यूनिवर्स' टाइटल जीत चुका है? 

ये भी पढ़ें- 'मिस यूनिवर्स' हरनाज़ संधू जीती हैं बेहद लग्ज़री लाइफ़स्टाइल, करोड़ों में है उनकी नेट वर्थ